उपराज्यपाल ने देश विरोधी तत्वों पर कठोर कार्रवाई की चेतावनी दी

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू कश्मीर में पुलिस के कंधों पर आतंक को खत्म करने के साथ जनता का भरोसा हासिल करने की बड़ी जिम्मेदारी है। यहां की पुलिस और सुरक्षाबलों ने एक के बाद हर दूसरे संकट पर विजय हासिल की है। जम्मू कश्मीर समेत देश का हर नागरिक शांतिपूर्ण जिंदगी जीना चाहता है। यहां सुरक्षाबलों के जवानों ने बलिदान दिया है उनके परिवारों ने अपने बच्चों को खोया है।

JagranFri, 17 Sep 2021 05:10 AM (IST)
उपराज्यपाल ने देश विरोधी तत्वों पर कठोर कार्रवाई की चेतावनी दी

जागरण संवाददाता, ऊधमपुर: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू कश्मीर में पुलिस के कंधों पर आतंक को खत्म करने के साथ जनता का भरोसा हासिल करने की बड़ी जिम्मेदारी है। यहां की पुलिस और सुरक्षाबलों ने एक के बाद हर दूसरे संकट पर विजय हासिल की है। जम्मू कश्मीर समेत देश का हर नागरिक शांतिपूर्ण जिंदगी जीना चाहता है। यहां सुरक्षाबलों के जवानों ने बलिदान दिया है, उनके परिवारों ने अपने बच्चों को खोया है। मानव जीवन और मानवाधिकारों के खिलाफ इससे बड़ा कोई दूसरा अपराध नहीं है। उन्होंने कहा कि देश विरोधी तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा, उनके साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी। जो भी ऐसे तत्वों को बढ़ावा देने में लिप्त हैं, उन पर भी कठोर कार्रवाई होगी। ऊधमपुर में शेर-ए-कश्मीर पुलिस अकादमी अग्नि एवं आपातकालीन विभाग के पासिग आउट परेड में उपराज्यपाल ने वीरवार को अग्नि एवं आपातकालीन सेवाओं में विस्तार पर जोर दिया है। इस पासिंग आउट परेड के साथ ही विभाग को 669 नए फायर मैन व चालक मिल गए हैं। इन्हें संबोधित करते हुए उपराज्यपाल ने कहा कि वर्तमान में गांव और कसबों का जिस तरह से विकास हो रहा है, उससे इन सेवाओं की जरूरत और मांग लगातार बढ़ रही है। इनका विस्तार समय की मांग है। उन्होंने कहा कि फायर स्टेशन खोलने के रोजाना सैकड़ों आवेदन आते हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में अग्नि एवं आपातकालीन विभाग में पर्याप्त आधुनिक सुविधाएं हैं। अपग्रेडेशन व आधुनिक फायर टेंडर व उपकरणों की व्यवस्था हो रही है। दूसरों को बचाने के लिए खुद कूद जाते हैं आग में

उपराज्यपाल ने कहा कि आग लगने पर जब हर कोई इमारत छोड़ कर भाग रहा होता है। उस समय फायर फाइटर जानमाल की रक्षा के लिए आग में कूदने का काम करते हैं। लोगों की जिदगी बचाने से बड़ी कोई सेवा कोई नहीं हो सकती है। यह पहला बड़ा बैच है, जिसकी नियुक्ति उनके आने के तीन माह बाद हुई है। इंटरनेट मीडिया पर शरारती तत्वों पर नजर जरूरी

उपराज्यपाल ने कहा कि कुछ शरारती तत्व इंटरनेट मीडिया का हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे राष्ट्रीय ही नहीं, अंतरराष्ट्रीय समूह आपस में जुड़कर राज्य की शांति भंग करने का प्रयास कर रहे हैं। पुलिस और सुरक्षा बलों को इस पर पैनी रखने की जरूरत है और वह ऐसा कर भी रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.