बर्फबारी व बारिश के बाद घाटी का शेष दुनिया से जमीनी व हवाई संपर्क भी कटा

श्रीनगर/जम्मू, राज्य ब्यूरो। उच्चपर्वतीय इलाकों में हिमपात और निचले इलाकों में बारिश से सोमवार पूरी रियासत में ठंड का प्रकोप तेज हो गया है। हिमपात और भूस्खलन के चलते श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग के बंद होने और श्रीनगर एयरपोर्ट पर बर्फ के जमा होने से सभी उड़ानें बंद होने से घाटी के शेष दुनिया से जमीनी व हवाई संपर्क भी कट गया है। मौसम विभाग के अनुसार, अगले चौबीस घंटाें के दौरान राज्य के अधिकांश इलाकों में हिमपात और बारिश की संभावना लगातार बनी हुई है।

मौसम विभाग के मुताबिक, राज्य के वायुमंडल में पश्चिमी विक्षोभ पूरी तरह सक्रिय है। यह मंगलवार की देर शाम गए के बाद ही कुछ कमजोर पड़ेगा और बुधवार को पूरी तरह शांत होगा।। गाैरतलब है कि राज्य में में बीते तीन दिनों से मौसम के मिजाज लगातार बिगड़े हुए हैं। गत रोज भी वादी में हिमपात और जम्मू संभाग के उच्चपर्वतीय इलाकों बर्फ गिरने के अलावा नीचले इलाकों में रुक रुक कर बारिश होती रही। 

आज तड़के भी वादी में हिमपात और बारिश हुर्इ। गुलमर्ग, युसमर्ग,जोजिला,साधना टॉप, जवाहर सुरंग,पवित्र गुफा, शेषनाग,पंचतरनी में बीत शाम से आज सुबह आठ बजे तक छह इंच से लेकर दो फुट तक ताजा हिमपात रिकार्ड किया गया है। श्रीनगर में हालांकि आज तड़के से ही बारिश हो रही है,लेकिन शोपियां, बारामुला, कुपवाड़ा, बडगाम, त्राल, कुलगाम व कंगन के ऊपरी हिस्सों में बारिश के बीच बर्फ भी गिर रही है। जम्मू संभाग के किश्तवाड़ा, रामबन के गूल-गुलाबगढ़, बनिहाल, पीरपंचाल के दायीं तरफ राजौरी व पुंछ के उच्चपर्वतीय इलाकों में भी हिमपात हुआ है जबकि जम्मू, कठुआ, सांबा, उधमपुर, राजौरी व पुंछ के नीचले इलाकों में बीती रात से ही बारिश हो रही है।

लगातार हिमपात और बारिश के चलते कश्मीर घाटी का आज सुबह जम्मू समेत देश के अन्य भागों से जमीनी और हवाई संपर्क भी कट गया। श्रीनगर एयरपोर्ट पर बारिश और हिमपात के चलते गो एयर, एयर एशिया समेत अन्य कई उड़ानें रदद हो गई हैं। संबधित अधिकारियों ने बताया कि दोपहर बाद मौसम के साफ होने और दृष्टयत: में सुधार के बाद ही वादी का हवाई संपर्क बहाल हो पाएगा। इसी दौरान श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमाग्र पर जवाहर सुरंग के दोनों तरफ भारी हिमपात होने और रामबन-बनिहाल सेक्शन पर भूस्खलन के चलते सड़क वाहनों के आवागमन योगय नहीं रही है। हाईवे की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने श्रीनगर- जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग को अगले आदेश तक लोगों की सुरक्षा के मददेनजर वाहनों के आवागमन के लिए बंद कर दिया है।

मौसम के बिगड़े तेवरों के चलते ठंड का प्रकोप बड़ने से लोगों की दिनचर्या भी प्रभावित हो रही है। श्रीनगर समेत वादी के कइ्र नीचले इलाकों मे जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है। कई इलाकों में बिजली के तार गिरने से बिजली आपूर्ति भी प्रभावित हुई है। मंडलायुक्त कश्मीर बसीर अहमद खान ने कहा कि हिमपात से प्रभावित सेवाओं को बहाल करने का कार्य युद्धस्तर पर जारी है। उन्होंने बताया कि उच्चपर्वतीय इलाकों और पहाड़ी ढलानों के साथ सटी बस्तियों मे हिमस्खलन की अाशंका को देखते हुए एलर्ट जारी करने के अलावा संबधित प्रशासन को भी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार रहने को कहा गया है।

श्रीनगर स्थित मौसम विभाग के अनुसार, गत रोज से बारिश और हिमपात का असर सोमवार की तड़के न्यूनतम तापमान पर भी नजर आया।द्ध श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे -0.3 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है जबकि पहलगाम में यह -0.2 और गुलमर्ग में -4.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। उन्होंने बताया करगिल में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे -14 डिग्री सेल्सियस,लेह में -5.6 डिग्री सेल्सियस रहा है। अलबत्ता जम्मू संभाग में जम्मू में 11.9, कटरा में 10.0, बटोत में 2.1, बनिहाल में 1.1 और भद्रवाह में 1.9 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान रिकार्ड किया गया है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.