Jammu Kashmir: शिव सेना की सार्वजनिक स्थलों पर फिरन-बुर्का पर प्रतिबंध लगाने की मांग

शिव सेना ठाकरे ने सार्वजनिक स्थलों पर फिरन और बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है।

जम्मू और कश्मीर की शिव सेना ठाकरे इकाई ने सार्वजनिक स्थलों पर फिरन और बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। इस मांग को बुलंद करने के लिए कार्यकर्ताओं ने बुधवार को प्रदर्शन किया और जमकर नारे लगाए।

Vikas AbrolWed, 03 Mar 2021 05:07 PM (IST)

जम्मू, जागरण संवाददाता । जम्मू और कश्मीर की शिव सेना ठाकरे इकाई ने सार्वजनिक स्थलों पर फिरन और बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। इस मांग को बुलंद करने के लिए कार्यकर्ताओं ने बुधवार को प्रदर्शन किया और जमकर नारे लगाए।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि बुर्का एवं फिरन का आंतकवादी गतिविधियों में भी इस्तेमाल हो रहा है । बुर्का को पहचान छिपाने व हथियार छुपा कर ले जाने व लाने में हो रहा है। गत दिवस श्रीनगर में हुए आतंकवादी हमले को अंजाम देने वाले आंतकवादी ने फिरन की आड़ में ही हथियारों को छुपाकर लेे जाते हुए सीसीटीवी की पकड़ में आए। विदेशों में भी आतंकवादी फिरन व बुर्का पहनकर कई घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। प्रदेश अध्यक्ष मनीश साहनी ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा को देखते हुए देश को अब सख्त कदम उठाने होंगे । बुर्का व फिरन को सार्वजनिक स्थलों पर प्रतिबंधित किया जाना चाहिए।

वहीं शिव सेना ने पाकिस्तान के साथ सीमा पर संघर्ष विराम संबंधी समझौतों पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर कब तक हम धोखा खाते रहेंगे। पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज आने वाला नहीं। प्रधानमंत्री से अपील है कि पाकिस्तान को उसके घर में घुसकर सबक सिखाया जाए। संघर्ष विराम की आड़ में पाकिस्तान ने हमेशा भारत की पीठ पर वार किया है ।‌ इस मौके पर मीनाक्षी, चेयरमैन राकेश गुप्ता, महासचिव विकास बख्शी एवं जीआइ सिंह, उपाध्यक्ष संजीव कोहली, विकास दिवान, सचिव बलवंत सिंह, प्रवीण गुप्ता, बोधराज, महिला सचिव गीता लखोत्रा, नुसरत बेगम, बिन्नी महाजन, भूरी सिंह, बलवीर सिंह, मुनीश कुमार, प्रवीण कुमार, राकेश हांडा, राकेश चौधरी, शुभम कुमार आदि उपस्थित थे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.