Srinagar Encounter: नौगाम मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने JeM का एक आतंकी मार गिराया, सर्च ऑपरेशन जारी

मारे गए आतंकी की पहचान उजैर अशरफ के तौर पर हुई है। वह आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सदस्य था। और शोपियां जिले का रहने वाला था। उजैर अशरफ इसी साल जनवरी में आतंकी बना था। वहीं सुरक्षाबलों ने अन्य आतंकियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया हुआ है।

Rahul SharmaWed, 16 Jun 2021 07:47 AM (IST)
आइजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया कि आतंकियों की संख्या दो से तीन हो सकती है।

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो: ग्रीष्मकालीन राजधानी के बाहरी क्षेत्र वागूरा, नौगाम में मंगलवार की देर रात गए शुरु हुई मुठभेड़ बुधवार की सुबह एक आतंकी की मौत के साथ समाप्त हो गई। फिलहाल, मारे गए आतंकी के अन्य साथियों की धरपकड़ के लिए सुरक्षाबलों ने वागूरा और उसके साथ सटे इलाकों में तलाशी अभियान चला रखा है। मारा गया आतंकी स्थानीय ही है और उसे आवश्यक कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद उत्तरी कश्मीर में पुलिस ने कोविड-19 प्रोटोकाल के तहत दफनाया है। पुलिस के मुताबिक,मारा गया आतंकी जैश ए मोहम्मद से जुड़ा हुआ था जबकि पीपुल्स एंटी फासिस्ट फ्रंट नामक आतंकी संगठन ने उसे अपना सदस्य बताया है।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार की शाम को पुलिस को सूचना मिली थी कि दो से तीन आतंकी किसी सनसनीखेज टार्गेट किलिंग को अंजाम देने के लिए ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में दाखिल होने की फिराक में है। पुलिस ने उसी समय अपना खुफिया तंत्र और सक्रिय किया तो पता चला कि आतंकियों का एक दल लालचौक से करीब 12 किलोमीटर दूर वागूरा के पास किसी एक मकान में छिपा हुआ है। उसी समय पुलिस ने सेना और सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर रात 11 बजे के करी वागूरा में तलाशी अभियान चलाया। तलाशी लेते हुए जवान जब एक बाग के साथ सटे मकान की तरफ बड़ रहे तो आतंकियों ने उन पर फायरिंग शुरु कर दी। जवानों ने खुद काे बचाते हुए जवाबी फायर किया और उसके बाद वहां मुठभेड़ शुरु हो गई।

आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया कि आतंकियों को सरेंडर का पूरा मौका दिया गया। इसलिए मुठभेड़ समाप्त होने में देरी हुई है। एक आतंकी मारा गया है। उसके पास से एक पिस्तौल, छह कारतूस और दो हथगाेले भी मिले हैं। उसकी पहचान उजैर अशरफ डार के रुप में हुई है और वह जिला शोपियां में वंडिना, मलूरा वाची का रहने वाला था। वह दो जनवरी 2021 को आतंकी बना था।

स्थानीय सूत्राें ने बताया कि उजैर के साथ दो से तीन आतंकी और थे,लेकिन वह रात के अंधेरे में घेराबंदी तोड़ भागने मं कामयाब रहे। स्थानीय सूत्रों के अनुसार,सुरक्षाबलों ने उजैर के बच निकले साथियों काे पकड़ने के लिए वागूरा और उसके साथ सटे इलाकाें मे तलाशी अभियान चला रखा है।

इस बीच, बडगाम से मिली सूचनाओ में बताया गया है कि गोरीपोरा में एसओजी और सीआरपीएफ की 129वीं वाहिनी के जवानों के संयुकत कार्यदल ने आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया है। देर शाम गए इस खबर के लिखे जाने तक गाेरीपाेरा में तलाशी अभियान जारी था। अन्य विवरण प्रतीक्षारत हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.