कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पिछले वर्ष से अधिक घातक, फिर से कोविड अस्पताल बनाने की तैयारी

पिछले वर्ष कई अस्पतालों को कोविड अस्पताल बना दिया गया था।

अस्पतालों में आक्सीजन की सप्लाई वाले बिस्तरों की व्यवस्था करने को कहा है। स्वास्थ्य विभाग के एक उच्चाधिकारी ने बताया कि इस बार कोरोना संक्रमण के मामले तेजी के साथ बढ़ रहे हैं। स्थिति पिछले साल सितंबर महीने की तरह हो गई है।

Mon, 12 Apr 2021 06:59 AM (IST)

जम्मू, रोहित जंडियाल: कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पिछले वर्ष से अधिक घातक नजर आ रही है। इस बार कोरोना के मामले चार गुना अधिक तेजी से बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की यह सबसे बड़ी चिंता है। इससे निपटने के लिए विभाग एक बार फिर से कई अस्पतालों को कोविड अस्पताल बनाने की तैयारी कर ली है।

जम्मू कश्मीर में पिछले साल नौ मार्च को संक्रमण का पहला मामला आया था। पहली बार 27 मई को सौ मामले आए थे। यानी एक से सौ मामले पहुंचने में 78 दिन लगे थे। इसके बाद सौ से एक हजार पहुंचने में सौ दिन लगे। दो सितंबर, 2020 को पहली बार एक हजार से अधिक मामले आए थे।

वहीं, इस वर्ष इस बार 17 मार्च को प्रदेश में पहली बार सौ से अधिक मामले आए। इन सौ से एक हजार पहुंचने में मात्र 25 दिन ही लगे। शनिवार को प्रदेश में एक हजार से अधिक मामले आए थे। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार विभाग के वित्तीय आयुक्त अटल ढुल्लू ने सभी अधिकारियों को कोरोना की बढ़ रही रफ्तार को देखते हुए अस्पतालों में पिछले वर्ष सितंबर महीने जैसे प्रबंध करने को कहा है। पहले की तरह ही कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर बनाने को कहा गया है।

यही नहीं, इन अस्पतालों में आक्सीजन की सप्लाई वाले बिस्तरों की व्यवस्था करने को कहा है। स्वास्थ्य विभाग के एक उच्चाधिकारी ने बताया कि इस बार कोरोना संक्रमण के मामले तेजी के साथ बढ़ रहे हैं।  स्थिति पिछले साल सितंबर महीने की तरह हो गई है। तैयारियां उसी तरह करनी होंगी। पिछले वर्ष कई अस्पतालों को कोविड अस्पताल बना दिया गया था।

मरीजों की संख्या कम होने पर इस वर्ष जनवरी के पहले सप्ताह में श्री महाराजा गुलाब सिंह अस्पताल जम्मू, जिला अस्पताल ऊधमपुर, रियासी व रामबन, कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर सुरनकोट, चिनैनी, उपजिला अस्पताल कटड़ा, घगवाल सांबा तथा कश्मीर में स्किम्स मेडिकल कालेज और अस्पताल बेमिना, सुपर स्पेशलिटी अस्पताल श्रीनगर, जवहार लाल नेहरू अस्पताल, कश्मीर नर्सिंग होम, जिला अस्पताल पुलवामा, गांदरबल, कुलगाम, बड़गाम और शोपियां, कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर कुपवाड़ा, टिबिया कालेज शिवनाथ, बांडीपोरा को कोविड अस्पताल से सामान्य अस्पताल का दर्जा दे दिया गया था। कुछ सप्ताह पूर्व गांधीनगर अस्पताल को भी कोविड अस्पताल से सामान्य अस्पताल बना दिया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.