पसांग लवांग बोले- लद्दाख को राज्य का दर्जा देने की मांग का समर्थन नहीं करती जंस्कार बुद्धिस्ट एसोसिएशन

लवांग ने कहा कि लेह अपेक्स बाडी और लेह अलायंस ने हमें हमेशा ही नजरअंदाज किया और मुद्दों पर चर्चा करने की प्रक्रिया में विश्वास में लेना मुनासिब नहीं समझा। हम लद्दाख की अलग राज्य की मांग का विरोध करते हैं। हम लद्दाख के भागीदार है।

Vikas AbrolPublish:Sun, 28 Nov 2021 10:23 AM (IST) Updated:Sun, 28 Nov 2021 10:23 AM (IST)
पसांग लवांग बोले- लद्दाख को राज्य का दर्जा देने की मांग का समर्थन नहीं करती जंस्कार बुद्धिस्ट एसोसिएशन
पसांग लवांग बोले- लद्दाख को राज्य का दर्जा देने की मांग का समर्थन नहीं करती जंस्कार बुद्धिस्ट एसोसिएशन

जम्मू, राज्य ब्यूरो। जंस्कार बुद्धिस्ट एसोसिएशन ने लेह अपेक्स कमेटी और कारगिल डेमोक्रेटिक अलायंस से अपने आप को अलग कर लिया है। जंस्कार बुद्धिस्ट एसोसिएशन के प्रधान पसांग लवांग की अध्यक्षता में हुई बैठक में लद्दाख में राजनीतिक घटनाक्रम पर विचार विमर्श किया गया।

बैठक में सर्वसम्मति से फैसला किया गया कि लद्दाख को राज्य का दर्जा देने की मांग से हम अपने आप को अलग करते हैं। उन्होंने कारगिल डेमोक्रेटिक अलायंस के भेदभाव पूर्ण रवैये की आलोचना की। लवांग ने कहा कि लेह अपेक्स बाडी और लेह अलायंस ने हमें हमेशा ही नजरअंदाज किया और मुद्दों पर चर्चा करने की प्रक्रिया में विश्वास में लेना मुनासिब नहीं समझा। हम लद्दाख की अलग राज्य की मांग का विरोध करते हैं। हम लद्दाख के भागीदार है और दोनों संगठनों की तरफ से उठाई जा रही मांग के पक्ष में नहीं हैं। यह दोनों संगठन लद्दाख का प्रतिनिधित्व नहीं करते हैं। हम अपनी किस्मत का फैसला स्वयं करेंगे।

अपेक्स बाडी या कारगिल अलायंस को हमारी तरफ से बोलने का कोई अधिकार नहीं है। कारगिल के बुद्धिस्ट समुदाय को हमेशा ही नजरअंदाज किया जाता रहा है। यह भी है कि कारगिल में अल्पसंख्यक बुद्धिस्ट समुदाय को तो पूजा करने के लिए जगह नहीं दी गई। इसलिए हमारा फैसला है कि हम इन संगठनों से अपने आपको अलग करते हैं।