पंचायत भवन दूसरे विभाग को देने का पंचों-सरपंचों ने किया विरोध

कार्यालय चलाने के लिए पंचायत भवन को स्टेट प्रक्योरमेंट सप्लाई एजेंसी (एसपीएसए) को हस्तांतरित करने के विरोध में आल जम्मू कश्मीर पंचायत कांफ्रेंस ने पंचायत भवन परिसर में प्रदर्शन किया।

JagranTue, 03 Aug 2021 06:09 AM (IST)
पंचायत भवन दूसरे विभाग को देने का पंचों-सरपंचों ने किया विरोध

जागरण संवाददाता, जम्मू : कार्यालय चलाने के लिए पंचायत भवन को स्टेट प्रक्योरमेंट सप्लाई एजेंसी (एसपीएसए) को हस्तांतरित करने के विरोध में आल जम्मू कश्मीर पंचायत कांफ्रेंस ने पंचायत भवन परिसर में प्रदर्शन किया। इन कार्यकर्ताओं ने कहा कि पंचायत भवन, जो ग्रामीण विकास विभाग के पास है, उसे अकारण ही दूसरे विभाग को कार्यालय बनाने के लिए दिया गया। यह हमें मंजूर नहीं होगा। कार्यकर्ताओं ने जम्मू कश्मीर प्रशासन के खिलाफ जमकर नारे लगाए और कहा कि सरकारी आदेश वापस लिया जाए। पंचों-सरपंचों ने ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव के फैसले के खिलाफ अपना एतराज जताया।

कांफ्रेंस के चेयरमैन अनिल शर्मा ने कहा कि जम्मू कश्मीर सरकार ने पंचायतों को सुविधाएं देने के लिए इस भवन का निर्याण किया था। एक भवन जम्मू में बना और एक कश्मीरी में। जम्मू के भवन को दूसरे विभाग को हस्तांतरित किया जाना गलत है। यह संपत्ति विभाग की नहीं है, बल्कि पंचायतों की है। इसलिए सरकार ने जो आदेश दिया है उसको वापस लिया जाना चाहिए। प्रदर्शन के दौरान देशराज भगत, जितेंद्र सिंह, रामदयाल, पवन सिंह, बीडीसी चेयरमैन जीवन शर्मा, जगदीश राज, ओमप्रकाश, कैलाश दत्त आदि उपस्थित थे। जिला खनन अधिकारी के खिलाफ टिप्पर एसोसिएशन ने किया प्रदर्शन

संवाद सहयोगी, सांबा : टिप्पर एसोसिएशन ने सोमवार को सांबा के जिला मुख्यालय में जिला खनन अधिकारी के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने माइनिग का काम लिया हुआ है, वह अपनी मर्जी से रेत बजरी के रेट लगाते है। अगर कोई भी इनसे बहस करे या रेट के बारे में पूछे तो उस गाड़ी वाले को माइनिग की पर्ची नहीं देते हैं, जिससे हम लोग काफी परेशान हैं।

टिप्पर एसोसिएशन के प्रधान विवेक शर्मा ने कहा कि खनन ठेकेदार उन्हें जो पर्ची देते हैं, उस पर रेट नहीं लिखा होता है। इसके बारे में भी उन्होंने कई बार विभाग को बताया, लेकिन कोई भी कदम नहीं उठाया गया। उन्होंने ज्वाइंट डायरेक्टर माइनिग विभाग एचएल लंगेह से बात की लेकिन उनके पास भी कोई जवाब नहीं था। अंत में उन्होंने जिला उपायुक्त सांबा अनुराधा गुप्ता से गुहार लगाई, जिन्होंने जिला खनन अधिकारी शफीक अहमद चौधरी को कड़ी फटकार लगाते हुए आदेश दिया कि इस मसले को जल्द से जल्द हल किया जाए। एसोसिएशन ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर उनका मसला हल नहीं होता तो वे लोग आने वाले दिनों में इससे भी उग्र प्रदर्शन करेंगे। इस अवसर पर नरिदर चौधरी, सुखविदर सिंह नवीन, विशाल, मुकेश, रमन, रोहित शर्मा सहित एसोसिएशन के कई सदस्य मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.