जर्जर इमारत पड़ोसी की छत पर गिरी, दंपती घायल

जागरण संवाददाता, जम्मू : शहर के तालाब तिल्लो इलाके की कबीर कॉलोनी में एक जर्जर इमारत टूट कर पड़ोसियों के घर पर जा गिरी। टूटी इमारत का मलबा पड़ोसियों के घर गिरने से वहां रह रहे दंपती गंभीर घायल हो गए। जिस घर में इमारत का मलबा गिरा, वहां चार परिवार रहते है। गनीमत रही कि मलबा पूरे घर पर नहीं गिरा, नहीं तो जानी नुकसान हो सकता था। मलबे की चपेट में घर के आंगन में खड़ी तीन मोटरसाइकिल भी आ गई। फायर एंड इमरजेंसी सेवा के कर्मियों को मौके पर बुला कर बचाव कार्य को अंजाम दिया गया। नवाबाद पुलिस थाने ने मामला दर्ज कर कारणों की जांच शुरू कर दी।

हादसा बुधवार रात आठ बजे के करीब नगर निगम के वार्ड नंबर चालीस कबीर कॉलोनी में हुआ। कॉलोनी की एक इमारत में पहले अखरोट की फैक्टरी थी, जो कई वर्ष से बंद थी थी। हाल में ही में ज्यूल चौक में प्लाइवुड के व्यापारी ने जर्जर हुई इमारत को खरीदा था। इमारत में अभी निर्माण होना था कि इससे पूर्व ही वह गिर पड़ी। इमारत का मलबा पड़ोस में रहने वाले सुरेंद्र बसन के घर पर गिरा। घर के कमरे की छत पर जर्जर इमारत का मलबा गिरा। छत टूट गई। कमरे में सुरेंद्र बसन और उनकी पत्नी प्रियंका बसन मौजूद थे। कमरे से बाहर बैठी सुरेंद्र की माता को भी हल्की चोटें आ गई। छत गिरने की आवाज सुनकर स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और बचाव कार्य को अंजाम देने लगे। मलबे में से दंपती को निकाल कर जीएमसी ले जाया गया। प्रियंका को गंभीर चोट आने के चलते उन्हें पंजाब के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। उनकी दोनों टांगों पर गंभीर चोटें आ गई। घायल महिला को गर्भवती बताया जा रहा है। पुलिस ने पड़ोसियों के घर से मलबा हटाने के लिए फायर एंड इमरजेंसी सेवा विभाग को बुलाया। पड़ोसी के घर पर मलबा गिरने से उक्त घर को काफी नुकसान पहुंचा।

-----------

धूल से भर गया पूरा इलाका

स्थानीय निवासी पंकज कुमार घटना स्थल पर सबसे पहले पहुंचे। उन्होंने बताया कि जैसे ही जर्जर इमारत का मलबा सुरेंद्र के घर पर गिरा तो वहां से मानो धूल का बादल निकलने लगा। कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। वह दौड़ कर किसी तरह घर के अंदर आए। आंगन की हालत देख कर उनके होश उड़ गए। वहां पार्क तीन मोटरसाइकिल मलबे के नीचे दबी थीं। घर के अंदर से चीख पुकार सुनाई दे रही थी। चूंकि पूरा इलाका घनी आबादी वाला है, इसलिए भारी संख्या में लोग मौके पर पहुंच गए और वहां बचाव कार्य को अंजाम देने लगे। हादसे की सूचना मिलते ही नवाबाद पुलिस भी वहां आ गई। हादसे के बाद करीब दो घंटे तक पूरी कॉलोनी धुएं की चादर में लिपटी हुई थी। स्थानीय लोगों ने पानी फेंक कर धुएं पर काबू पाया।

----

परिवार को देंगे हर संभव सहयोग

नगर निगम की स्थानीय कॉरपोरेटर नीलम नरगोत्रा ने बताया कि निगम ने शहर में जर्जर इमारतों की पहचान कर उनके मालिकों को ऐसी इमारतों की मरम्मत करवाने के लिए नोटिस जारी किया है। इस इमारत के बारे में भी वह जानकारी जुटाएंगी। नीलम ने बताया कि इमारत का मलबा सुरेंद्र के घर में गिरने से उनका घर भी खतरे में आ गया है। घर में हुए नुकसान का मुहैया दिलवाने के लिए वह निगम के वरिष्ठ अधिकारियों से बात करेंगी। उन्होंने इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि इस हादसे में कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है।

-----------

किन परिस्थितियों में गिरी इमारत जांच की जाएगी

एसएचओ नवाबाद दीपक जसरोटिया ने बताया कि अभी यह जांच का विषय है कि किन परिस्थितियों में इमारत गिरी है। पुलिस की पहली प्राथमिकता घायलों को उपचार मुहैया करवाना है। मामले को दर्ज कर लिया गया है, यदि इमारत के मालिक की लापरवाही जांच में पाई गई तो उसके विरुद्ध कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.