Jammu : मंदिरों के शहर से भागेगा अंधेरा, बिजली गुल होने पर भी रोशन रहेगी हर गली

मुहल्लों बाजारों और वहां की गलियों-सड़कों को रोशन करने के प्रोजेक्ट के दूसरे चरण में नगर निगम की तरफ से अपना बिजली ढांचा स्थापित किया जाएगा। इसमें करीब 90 करोड़ रुपये की लागत आएगी। यह काम शुरू हो गया है। कुछ माह में ही यह काम पूरा हो जाएगा।

Rahul SharmaSat, 18 Sep 2021 07:33 AM (IST)
शहर के विभिन्न मुहल्लों में लगी सभी स्ट्रीट को वहां स्थापित नगर निगम के ट्रांसफार्मर से जोड़ा जाएगा।

जम्मू, अचंल सिंह: अब तक शहर के विभिन्न मुहल्लों की गलियों में लगी स्ट्रीट लाइट बिजली विभाग की लाइन से लिया गया है। इसके लिए खंभे पर स्विच लगाए गए हैं, जिसे बिजली कर्मचारी या स्थानीय लोग ही आन-आफ करते हैं। बिजली विभाग की लाइन से स्ट्रीट लाइन का कनेक्शन होने से जब मुहल्ले की बिजली सप्लाई बंद होती थी, तो नगर निगम की तरफ से लगाई गई स्ट्रीट लाइट भी बंद हो जाती थी। इससे गलियों में अंधेरा छा जाता था।

अब नगर निगम इस व्यवस्था में आमूलचूल बदलाव करने जा रहा है। अब रात में अगर मुहल्ले की बिजली आपूर्ति बंद होगी, तब भी उसकी हर गली रोशन रहेगी। इसके लिए नगर निगम अपना बिजली ढांचा स्थापित करने जा रहा है, जो एक कंट्रोल रूप से जुड़ा रहेगा। इसी कंट्रोल रूम से शहर की हर गली की स्ट्रीट लाइट जुड़ी होगी, जिससे उसकी बिजली आपूर्ति को स्वतंत्र रूप से नियंत्रित किया जा सकेगा।

नगर निगम की इस योजना के पहले चरण में शहर भर में स्ट्रीट लाइट लगा दी गई हैं। अब विभिन्न मुहल्लों की गलियों व सड़कों, बाजारों, व सार्वजनिक स्थलों को रात में जगमग करने के लिए दूसरे चरण में नगर निगम अपने 100 ट्रांसफार्मर लगाने जा रहा है। शहर के विभिन्न मुहल्लों में लगी सभी स्ट्रीट को वहां स्थापित नगर निगम के ट्रांसफार्मर से जोड़ा जाएगा।

नगर निगम ने इस योजना के तहत शहर में न्यू प्लाट-जानीपुर मार्ग पर अपने बिजली के खंभे लगाने शुरू कर दिए हैं। इसी तरह शहर के विभिन्न मुहल्लों में बिजली के खंभे लगाए जाएंगे। निगम की तरफ से इसका काम दिल्ली की कंपनी एनर्जी एफिसिएंसी सर्विस लिमिटेड (ईईएसएल) को दिया गया है। इसी कंपनी ने पूरे शहर में एलईडी लाइट लगाने का काम किया था। जल्द ही यह कंपनी नगर निगम के लिए पूरे शहर में बिजली का अलग से ढांचा तैयार करने का काम तेज करेगी।

पहले सभी इलाकों में बिजली के खंभे लगाए जाएंगे, उसके बाद तार डालकर उसे ट्रांसफार्मर से जोड़ा जाएगा। इसके बाद नगर निगम भले ही बिजली विद्युत निगम से लेगा, लेकिन वितरण के लिए उसका अपना ढांचा होगा। ऐसे में बिजली विभाग की तरफ से की जाने वाली कटौती का असर नगर निगम के इस ढांचे पर नहीं होगा।

प्रोजेक्ट पूरा होने में आएगी 90 करोड़ की लागत: मुहल्लों, बाजारों और वहां की गलियों-सड़कों को रोशन करने के प्रोजेक्ट के दूसरे चरण में नगर निगम की तरफ से अपना बिजली ढांचा स्थापित किया जाएगा। इसमें करीब 90 करोड़ रुपये की लागत आएगी। यह काम शुरू हो गया है। कुछ माह में ही यह काम पूरा हो जाएगा। इसके बाद बिजली जाने पर भी शहर की हर गली और बाजार की सड़कें रोशन रहेंगी। अंबफला-जानीपुर, बीसी रोड से एयरपोर्ट रोड, सतवारी से कुंजवानी, कैनाल-तालाब तिल्लो मार्ग समेत विभिन्न मार्ग इसमें शामिल किए गए हैं। धीरे-धीरे सभी मार्गों पर स्ट्रीट लाइटों को नगर निगम के नए ढांचे से जोड़ दिया जाएगा।

कंट्रोल रूम से होगी निगरानी : जम्मू नगर निगम ने अगस्त 2019 में केंद्र की कंपनी एनर्जी एफिसिएंसी सर्विस लिमिटेड (ईईएसएल) के साथ समझौता किया था। कंपनी शहर के हर बिजली के खंभे की निशानदेही करते हुए रजिस्ट्रेशन करेगी। कंप्यूटरीकरण के साथ हर खंभे का डाटा कंपनी के पास उपलब्ध रहेगा। डिजिटल इंडिया के तहत हर वार्ड के हर गली में बिजली वितरण की जानकारी कंपनी के कंट्रोल रूम के पास रहेगी। कंपनी शहर में अभी तक करीब 70 हजार स्ट्रीट लाइट लगा चुकी है। अब मुख्य मार्गों पर भी यह लाइट लगाने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। शहर के सभी 75 वार्डों में एक लाख के करीब स्ट्रीट लाइट लगाई जाएंगी।

एक करोड़ रुपये की लागत से सोलर लाइट प्रोजेक्ट पर भी हो रहा काम

जम्मू नगर निगम ने शहर में विभिन्न स्थानों पर सोलर लाइट लगाने के लिए एक प्रस्ताव तैयार कर सरकार को मंजूरी के लिए भेजा है। एक करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत वाले इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलने पर शहर के सभी 75 वार्डों में सार्वजनिक स्थलों पर सोलर लाइट लगाई जाएगी। सरकार की मंजूरी मिलने के बाद इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो सकेगा।

पूरे शहर में स्ट्रीट लाइट लगाने के बाद अब नगर निगम बिजली का अपना ढांचा स्थापित करने जा रहा है। इसके लिए खंभे लगाने का काम शुरू हो गया है। शहर में 100 बिजली के ट्रांसफार्मर लगाकर नगर निगम अपनी स्ट्रीट लाइट के लिए अपनी बिजली वितरण व्यवस्था बनाने जा रहा है। ऐसे में मुहल्ले की लाइट बंद होने पर भी गलियां रोशन रहेंगी। कंट्रोम रूम में कोई भी स्ट्रीट लाइट खराब होने पर फौरन पता चल जाएगा, जिसे जल्द ठीक कर दिया जाएगा।  -लक्ष्मण सिंह जम्वाल, एग्जीक्यूटिव इंजीनियर, नगर निगम  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.