Jammu Kashmir: एनएचआईडीसीएल जम्मू-कश्मीर में दस हजार करोड़ रुपयों के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा

शुद्धमहादेव में आगामी शुद्धमहादेव सुरंग के पश्चिमी पोर्टल और आगामी सिंथनपास सुरंग के पूर्वी पोर्टल का निरीक्षण किया। उन्होंने बटोत से सिंथन टाप और जम्मू-अखनूर रोड तक का भी निरीक्षण किया। प्रबंध निदेशक ने बताया कि एनएचआईडीसीएल जम्मू-कश्मीर में दस हजार करोड़ रुपयों के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है।

Rahul SharmaSun, 01 Aug 2021 07:51 AM (IST)
कश्मीर संभाग में जेड-मोड़ सुरंग, जोजिला सुरंग, बारामूला-गुलमर्ग रोड की वर्तमान स्थिति पर भी चर्चा हुई।

जम्मू, राज्य ब्यूरो: नेशनल हाईवे और इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कारोपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक केशव कुमार पाठक ने अपने जम्मू के चार दिवसीय दौरे के दौरान राजमार्ग पर चल रहे कई प्रोजेक्टों की समीक्षा की।उन्होंने जम्मू, उधमपुर, डोडा और किश्तवाड़ जिलों में एनएचआईडीसीएल की विभिन्न परियोजनाओं का निरीक्षण किया।

शुद्धमहादेव में आगामी शुद्धमहादेव सुरंग के पश्चिमी पोर्टल और आगामी सिंथनपास सुरंग के पूर्वी पोर्टल का निरीक्षण किया। उन्होंने बटोत से सिंथन टाप और जम्मू-अखनूर रोड तक का भी निरीक्षण किया। प्रबंध निदेशक ने बताया कि एनएचआईडीसीएल जम्मू-कश्मीर में दस हजार करोड़ रुपयों के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है।

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल की अध्यक्षता में एनएचआईडीसीएल के कार्यों की समीक्षा के दौरान भी प्रबंध निदेशक को बुलाया गया था। बैठक के दौरान उपराज्यपाल को जम्मू-अखनूर रोड को फोर लेन करने, चिनैनी-शुद्धमहादेव रोड सहित विभिन्न परियोजनाओं की स्थिति के बारे में जानकारी दी गई। जम्मू संभाग में गोहा सुरंग के अलावा कश्मीर संभाग में जेड-मोड़ सुरंग, जोजिला सुरंग, बारामूला-गुलमर्ग रोड की वर्तमान स्थिति पर भी चर्चा हुई।

उपराज्यपाल ने 9514 प्रोजेक्ट की सचित्र ई पत्रिका को जारी किया: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने साल 2020-2021 के दौरान 3900 करोड़ रुपये की लागत से पूरे किए गए 9514 प्रोजेक्ट की सचित्र ई पत्रिका को जारी किया। ये प्रोजेक्ट केंद्र शासित प्रदेश स्तर की योजनाओं के तहत बनाए गए है। लोगों के लिए ई पत्रिका वित्त विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध है। पत्रिका में हर प्रोजेक्ट बारे विस्तार से जानकारी दी गई है। उपराज्यपाल ने कहा कि वित्त विभाग की तरफ से किए गए सुधार जमीनी सतह पर नजर आ रहे हैं। कुल प्रोजेक्ट में से साल में 6167 प्रोजेक्ट पूरे किए गए है। यह पारदर्शिता व प्रभावी तरीके से काम करने का उदाहरण है।

ई पत्रिका काम करने वाली एजेंसियों के लिए प्रेरणास्रोत होगी। हम इसे लोगों के बीच इसलिए ले जा रहे हैं ताकि जवाबदेही व पारदर्शिता को बढ़ावा दिया जाए। उपराज्यपाल ने कहा कि सरकार और सुधार ला रही है। विकास प्रोजेक्ट की दस्तावेजों के साथ तस्वीर के सबूत का मकसद पारदर्शिता को बढ़ावा देना है। सिन्हा ने कहा कि वित्तीय सुधारों के तहत आन लाइन धनराशि जारी कर निगरानी का सिस्टम विकसित किया गया है। वित्तीय सुधारों में ई पेमेंट, आनलाइन बिलिंग, ई स्टैपिंग, बैक टू विलेज, मेरा शहर मेरा गौरव, प्रोजेक्टों की फिजिकल जांच व अन्य सुधार शामिल है। जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव अरुण कुमार मेहता ने कहा कि साल 2018-19 के तहत 6090 प्रोजेक्ट पूरे किए गए हैं। साल 2019-20 के दौरान 6933 प्रोजेक्ट पूरे किए गए। साल 2020-21 के दौरान प्रोजेक्ट की संख्या 9514 पहुंच गई।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.