Jammu Kashmir New Education Policy : आवश्यकताओं को ध्यान में रख तैयार की गई नई शिक्षा नीति

प्रो. सुनील उप्पल ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर कहा कि इस नीति के तहत विद्यार्थी कहीं पर भी शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। हिंदी विभाग के प्रो. बलवान सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति निर्माण में समाज के प्रत्येक वर्ग की आवश्यकताओं को ध्यान में रखा गया है।

Sat, 04 Dec 2021 07:58 AM (IST)
शिक्षा प्राप्त करने के नए मार्ग निकल कर सामने आएंगे।

संवाद सहयोगी, आरएसपुरा : सरकारी डिग्री कालेज आरएसपुरा में आजादी के अमृत महोत्सव श्रृंखला के तहत शुक्रवार को डिग्री कालेज के हिंदी विभाग की ओर से राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर चर्चा करने के उद्देश्य से कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें बताया कि नई नीति को आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है। इसमें जम्मू विश्वविद्यालय के डा जसपाल सिंह मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद रहे।

कार्यशाला कालेज के प्रधानाचार्य प्रोफेसर सुनील उप्पल की अध्यक्षता में हुई। कार्यशाला में मुख्य वक्ता डा. जसपाल ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को प्रभावशाली नीति बताते हुए कहा कि इसके तहत शिक्षा के क्षेत्र में काफी परिवर्तन आएगा। उन्होंने कहा कि इस नीति के तहत देश के प्रत्येक राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव देखने को मिलेगा तथा शिक्षा प्राप्त करने के नए मार्ग निकल कर सामने आएंगे।

प्रादेशिक भाषाओं के संरक्षण को बल मिलेगा। कार्यक्रम के अध्यक्ष प्रो. सुनील उप्पल ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर विचार प्रकट करते हुए कहा कि इस नीति के तहत विद्यार्थी कहीं पर भी शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। हिंदी विभाग के प्रो. बलवान सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति निर्माण में समाज के प्रत्येक वर्ग की आवश्यकताओं को ध्यान में रखा गया है।

इसे वर्तमान परिदृश्य में आवश्यकताओं को देखते हुए तैयार किया गया है। इस मौके पर डा. जसपाल ¨सह ने अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम में प्रो. नीलू गुप्ता, डा. नीना गुप्ता, डा. बल¨वदर कौर, प्रो. विशाल शर्मा, डा. राजेश शर्मा, प्रो. इंदु कुमारी, प्रो. द¨वदर सिंह तथा स्वाति सहित अन्य लोग भी मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.