Jammu Kashmir : यह मायानगरी है, यहां स्ट्रगल से कभी डरना नहीं, मंजिल जरूर मिलती है

धनेश का कहना है कि जिंदगी में जो हासिल करना चाहते हैं वह जरूर मिलता है। रास्ता देखकर थकना नहीं है। हो सकता है अगले मोड़ पर ही सफलता आपके इंतजार में खड़ी हो। जम्मू से मुंबई तक का सफर करने में मुझे भी कई कठिनाइयाें का सामना करना पड़ा।

Lokesh Chandra MishraThu, 23 Sep 2021 05:44 PM (IST)
मुंबई मायानगरी है। यह खूबसूरत तो है, लेकिन यहां पर स्ट्रगल कभी खत्म नहीं होती।

जम्मू, सुरेंद्र सिंह : मुंबई मायानगरी है। यह खूबसूरत तो है, लेकिन यहां पर स्ट्रगल कभी खत्म नहीं होती। यहां तो रोज कुंआ खोदना पड़ता है, तब जाके आप अपनी एक दिन की प्यास को बुझा सकते हैं। लेकिन यकीन मानिए, अगर आप यहां स्ट्रगल से डरे बिना चलते रहे तो मंजिल आपको जरूर मिलेगी। यह कहना है कई टीवी सीरियल्स, फिल्मों व एड फिल्मों में काम कर चुके धनेश डोगरा जो मुंबई में अब अपनी पहचान बना चुके हैं।

समूह थियेटर जम्मू के साथ वर्ष 1995 से अभिनय का सफर शुरू करने वाले धनेश डोगरा जम्मू कश्मीर कला, संस्कृति एवं भाषा अकादमी के नाट्योत्सवों में पांच बार बेस्ट एक्टर अवार्ड भी जीत चुके हैं। धनेश ने डा. सुधीर महाजन के निर्देशन में गुड बाय स्वामी, अंधा युग जैसे नाटकों में काम किया और अपनी अलग पहचान बना ली थी। जम्मू में रहते हुए धनेश ने डोगरी फिल्म गीटियां में भी काम किया लेकिन उसके बाद उन्होंने मुंबई का रुख कर लिया। धनेश का कहना है कि मायानगरी मुंबई समुद्र की तरह है। यहां बहुत सारा खजाना छिपा है, लेकिन यह आप पर निर्भर करता है कि आप इसमें से कितना निकाल पाते हैं। मुंबई की जिंदगी बहुत तेज है। इसके साथ रफ्तार पकड़ना मुश्किल जरूर है और अगर आपने एक बार रफ्तार पकड़ ली तो बहुत मजा आएगा।

मुंबई में अपनी पहचान बना चुके धनेश अब अपने उन साथियों की मदद भी कर रहे हैं जो इस मायानगरी में अपनी पहचान बनाने का सपना देख रहे हैं। धनेश का कहना है कि यहां एक सीरियल में काम मिलने का यह कतई मतलब नहीं है कि अब आपको दोबारा संघर्ष नहीं करना पड़ेगा। एक के बाद दूसरे सीरियल में काम पाने के लिए फिर से वैसा ही संघर्ष करना पड़ता है जैसा आपने शुरूआत में किया था। हां इतना जरूर है कि एक बार काम मिलने के बाद लोग आपको पहचानने लगते हैं। वह पहचान आपके संघर्ष को कुछ कम जरूर कर देती है।

दर्जनों सीरियल्स में निभाए हैं अलग अलग किरदार : धनेश डोगरा अब तक दर्जनों टीवी सीरियल्स में किरदार निभा चुके हैं। वह क्राइम पेट्रोल के कई एपीसोड कर चुके हैं। इसके अलावा क्राइम अलर्ट, सूर्यपुत्र करण, यह हैं मोहब्बतें, लाल इश्क में भी वे नजर आ चुके हैं। सीरियल्स के अलावा धनेश वेब सीरीज लिटिल थिंग में भी काम कर चुके हैं। जॉन अब्राहम की फिल्म परमाणु में भी उन्होंने किरदार निभाया है। अब वह अभिषेक बच्चन के साथ फिल्म द बिग बुल में भी नजर आएंगे जो जल्द ही रिलीज होने वाली है। इसके अलावा धनेश पेटीएम व ईनो के विज्ञापन भी कर चुके हैं। वह उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग का विज्ञापन गीता सार्थ भी कर चुके हैं।

थकना नहीं है, मंजिल जरूर मिलती है : धनेश का कहना है कि जिंदगी में आप जो हासिल करना चाहते हैं, वह जरूर मिलता है। रास्ता देखकर थकना नहीं है। हो सकता है अगले मोड़ पर ही सफलता आपके इंतजार में खड़ी हो। जम्मू से मुंबई तक का सफर करने में मुझे भी कई कठिनाइयाें का सामना करना पड़ा, लेकिन उनका डट कर मुकाबला किया। यहां हर काम के बाद दूसरा काम हासिल करने के लिए फिर से लाइन में खड़ा होना पड़ता है। जो लाइन देखकर भाग गया समझो मुंबई उसके लिए नहीं है। यहां काम की कदर है। बस हिम्मत नहीं छोड़नी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.