Kashmir : गृह राज्यमंत्री ने शोपियां निवासियों को दिलाया यकीन, कहा-आतंकवाद और पिछड़ेपन से मिलेगी आजादी

MoS Ajay Kumar Mishra Shopian Visit केेंद्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित 2 15.65 किलोमीटर लंबी शीरमाल विशरु सड़क का भी उद्घटन कियाप् यह सड़क 14 गांवों को आपस में जोड़ते हुए 75 हजार की आबादी को लाभ पहुंचाती है।

Rahul SharmaFri, 24 Sep 2021 10:36 AM (IST)
शोपियां को दक्षिण कश्मीर में आतंकियों का किला भी कहा जाता रहा है।

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। केंद्रीय गृहराज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा ने कहा कि शोपियां अब आतंकवाद और पिछड़ेपन की निशानी नहीं रहेगी। यह सिर्फ कश्मीर में ही नहीं बल्कि पूरे देश में विकास और खुशहाली का एक नया केेंद्र होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार और जम्मू कश्मीर प्रदेश प्रशासन शोपियां समेत सभी पहाड़ी जिलों के समग्र विकास के लिए कई प्रभावकारी योजनाओं को कार्यान्वित कर रही है।

स्थानीय युवाओं के लिए विभिन्न क्षेत्रों मेें रोजगार के अवसर पैदा किए जा रहे हैं, लोगों की उम्मीदोे और समस्याओें का संज्ञान ले, उनका यथासंभव समाधान किया जा रहा है। वह आज शोपियां मेंस्थानीय किसानों ,युवा क्लबों के सदस्यों और पंचायत राज संस्थानों व सीविल सोसोईटी के विभिन्न वर्गाें के प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे।

आपको जानकारी हो कि केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर के विकास योजनाओं की मौके पर समीक्षा और जनाकांक्षाओं का पता लगाने के लिए जनपहुंच कार्यक्रम शुरु किया गया है। इस कार्यक्रम के तहत विभिन्न केंद्रीय मंत्री जम्मू कश्मीर के अलग अलग हिस्सों का दौरा कर रहे हैं। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार शुक्ला भी जन पहुंच कार्यक्रम के तहत बीते बुधवार से शोपियां में हैं। शोपियां को दक्षिण कश्मीर में आतंकियों का किला भी कहा जाता रहा है। 

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार शुक्ला ने आज अगल शोपियां में स्थित दक्षिण कश्मीर की सबसे बड़ी फल-सब्जी मंडी का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने फ्रूट ग्रौअर्ज ऐसोसिएशन के प्रतिनिधियों, प्रगतिशील किसानों और बागवानों से मुलाकात की। फ्रूट ग्रौअर्ज एसोसिएशन ने उन्हें एक ज्ञापन भी भेंट किया और मंडी को बाढ़ से बचाने के लिए निकटवर्ती दरिया के किनारों पर तटबंदी मजबूत बनाने, बाढ़ बचाव दीवार का निर्माण करने, फल मंडी को जोड़ने वाली सड़क को राष्ट्रीय राजमार्ग का दर्जा देने की मांग की। उन्होेंने बताया कि 300 कनाल में फैली यह मंडी करीब 10 हजार नौजवानोके को रोजगार दे रही है। इसलिए इसे और विकसित किए जाने की जरुरत है। 

केंंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि उनकी मांगों का संज्ञान लिया गया है।उन्हें यथाशीघ्र हल करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होेंने कहा कि हम यहां आप लोगों की समस्याओं को जानने व उन्हें हल करने के लिए ही आए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमें इसलिए भेजा है।

उन्होंने शोपियां के समग्र विकास का यकीन दिलाते हुए कहा कि मैं यहां आकर बहुत प्रसन्न हूं। आतंकियों ने यहां की संस्कृति और सभ्यता को बहुत नुक्सान पहुंचाया है,लेकिन स्थानीय लोगों ने अपनी कश्मीरियत की पंरपरा को, सूफी संतों के आदर्शाेे को आज भी जिंदा रखा है और इसका अंदाजा मुझे आप लोगों के बीच रहकर हुआ है। कश्मीर धरती का स्वर्ग है और इसे खुशहाल बनाना, समृद्ध बनाना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का मकसद है।

उन्होेंने कहा कि शोपियां में पर्वतीय पर्यटन, इको टूरिज्म और उद्यानिकी पर्यटन को प्राथमिकता के आधार पर विकसित किया जाएगा। केेंद्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित 2 15.65 किलोमीटर लंबी शीरमाल विशरु सड़क का भी उद्घटन किया। यह सड़क 14 गांवों को आपस में जोड़ते हुए 75 हजार की आबादी को लाभ पहुंचाती है। इस पर करीब 18.52 करोड़ की लागत आई है।

उन्होेंने इस अवसर पर मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए पीएमजीएसवाई एक अहम योजना है। कभी वह भी समय था जब गांव के लिए सड़क बिछाने के बारे में कोई नहीं सोचता था, लेकिन आज गांवों मेें अच्छी गुणवत्ता की सड़कों को नेटवर्क तेजी से विकसित हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेेन्द्र मोदी देश के हर गांव को, हर पहाड़ी क्षेत्र को सड़क नेटवक्र के साथ जोड़ना चाहते है, क्योंकि किसी भी क्षेत्र के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए सड़क नेटवर्क बहुत जरुरी है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.