Jammu and Kashmir Metro Train: श्रीनगर में दौड़ेगी मेट्रो, डीपीआर तैयार कर केंद्र सरकार को सौंपी

धरती का स्वर्ग कहलाए जाने वाले कश्मीर में जल्द ही मेट्रो रेल दौड़ती हुई नजर आएगी। इतना ही नहीं जम्मू में भी मेट्रो पर परियोजना संबंधी डीपीआर तैयार कर ली गई है। केंद्र सरकार की ओर से स्वीकृति मिलते ही इस महत्वाकांक्षी परियोजनाओं पर काम शुरू हो जाएगा।

Vikas AbrolWed, 16 Jun 2021 03:51 PM (IST)
राइटस लिमिटेड द्वारा विस्तारपूर्वक परियोजना रिपोर्ट डीपीआर अनुमोदन के लिए केंद्र सरकार का भेज दी गई है।

जम्मू, जेएनएन। धरती का स्वर्ग कहलाए जाने वाले कश्मीर में जल्द ही मेट्रो रेल दौड़ती हुई नजर आएगी। इतना ही नहीं जम्मू में भी मेट्रो परियोजना संबंधी डीपीआर तैयार कर ली गई है। केंद्र सरकार की ओर से स्वीकृति मिलते ही केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की इस महत्वाकांक्षी परियोजनाओं पर काम शुरू हो जाएगा।

जम्मू और कश्मीर के लिए मेट्रो रेल परियोजनाओं पर करीब 10,560 करोड़ रुपये की लागत आएगी

जानकारी के अनुसार, जम्मू और श्रीनगर में मेट्रो रेल परियोजनाओं के लिए राइटस लिमिटेड द्वारा विस्तारपूर्वक परियोजना रिपोर्ट डीपीआर अनुमोदन के लिए केंद्र सरकार का भेज दी गई है। अनुमान के मुताबिक जम्मू और कश्मीर के लिए मेट्रो रेल परियोजनाओं पर करीब 10,560 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इन दोनों परियोजनाओं को वर्ष 2024 के अंत तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। तैयार की गई डीपीआर के अनुसार, जम्मू और श्रीनगर में हल्के मेट्रो ट्रांजिट सिस्टम मेट्रो लाइट होंगे।

मेट्रो लाइट सिस्टम के कोच आधुनिक, हल्के एवं वातानुकूलित सिस्टम से लैस होंगे

जम्मू में लाइट मेट्रो रोजाना 17 घंटे काम करने की क्षमता रखेगी जबकि श्रीनगर लाइट मेट्रो गर्मियों के दौरान प्रतिदिन 17 घंटे और सर्दियों में प्रतिदिन 14 घंटे संचालित हो सकेगी। इस परियोजना से जुड़े राइटस कंपनी के अधिकारियों के अनुसार, मेट्रो रेल लाइनों में एलिवेटेड कॉरिडोर होंगे। मेट्रो लाइट सिस्टम के कोच आधुनिक, हल्के एवं वातानुकूलित सिस्टम से लैस होंगे। इसकी विशेष खासियत यह होगी कि इनमें स्टेनलेस स्टील और एल्यूमीनियम धातुओं के प्रयोग से बनाया जाएगा।

जम्मू लाइट रेल सिस्टम का ट्रैक 23 किलोमीटर लंबा होगा। इसमें बनतालाब और बड़ी ब्राह्मणा के बीच कुल 22 स्टेशन स्थापित किए जाएंगे। अगर बात श्रीनगर लाइट रेल सिस्टम की करें तो इसके ट्रैक की लंबाई कुल 25 किलोमीटर लंबी होगी। इसमें इंदिरा नगर से एचएमटी जंक्शन तक 12.5 किलोमीटर की लंबाई शामिल है जबकि 12.5 किलोमीटर क दूसरे जंक्शन की शुरूआत हजूरी बाग से शुरू होकर उस्मानाबाद तक होगी। इसमें कुल 24 स्टेशन स्थापित किए जाएंगे। इन दोनों मेट्रो परियोजनाओं के शुरू हो जाने के उपरांत प्रदेश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी अपितु जीवन की गुणवत्ता पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.