top menutop menutop menu

एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड योजना ने कश्मीर में बढ़ाए अपने कदम; उत्तर प्रदेश के कई लोगों ने बारामुला में उठाया लाभ

जम्मू, सतनाम सिंह। अगर आप बीपीएल राशन कार्ड धारक हैं और दूसरे राज्य के निवासी हैं तो जम्मू कश्मीर में कहीं से भी सरकारी दुकान से राशन ले सकते हैं। इसके लिए भटकने की जरूरत नहीं है। एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना जम्मू कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में क्रियान्वित हो चुकी है। यहां तक कि आतंक के गढ़ कहे जाने वाले दक्षिण कश्मीर में भी। वहां पर उत्तर प्रदेश से आए लोग अपने प्रदेश के राशन कार्ड पर ही सरकारी राशन ले रहे हैं। यह योजना अब सफलता की तरफ बढ़ रही है।

दक्षिण कश्मीर के शोपियां, कुलगाम और अनंतनाग में उत्तर प्रदेश के कई लोगों ने सरकारी राशन विक्रेताओं से राशन लिया है। अनंतनाग, कुपवाड़ा, कुलगाम, बांडीपोरा, शोपियां, श्रीनगर, सांबा, जम्मू ग्रामीण, ऊधमपुर और कठुआ में एक राष्ट्र एक राशन कार्ड के ट्रायल सफल रहे हैं। डोडा को भी इसमें शामिल कर लिया गया है। कुपवाड़ा जिला एक पहाड़ी इलाका है और नियंत्रण रेखा से जुड़ा है। दूसरे राज्यों के लोगों को राशन देने के लिए खाद्य आपूर्ति विभाग ने चरणबद्ध तरीके से इसकी शुरुआत की गई है। केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद जम्मू कश्मीर में सभी केंद्रीय योजनाओं को चरणबद्ध तरीके से प्रभावी बनाया जा रहा है।

आधार से जुड़ी पूरी कार्यप्रणााली: प्रत्येक राशन डीलर को एक मशीन दी जा रही है। मशीन में जब राशन डीलर राशन कार्ड धारक का राशन कार्ड नंबर या आधार नंबर डालेंगे तो सारा डाटा उपलब्ध हो जाएगा। कुल 6733 मशीनें बांटी जानी है। इनमें से 6500 मशीनें राशन डीलरों को दी जा चुकी है।

प्रदेश के लोग दूसरे राज्यों में भी ले सकेंगे राशन: जम्मू कश्मीर के राशन कार्ड धारक भी दूसरे राज्यों में योजना का लाभ ले सकेंगे। यहां के 72 लाख लोगों को इसका फायदा होगा। दूसरे राज्यों से आने वाले करीब डेढ़ लाख श्रमिक जम्मू कश्मीर में योजना का लाभ किसी भी समय ले सकते हैं। योजना बीपीएल राशन कार्ड धारकों के लिए है। इसके तहत देश में बीस करोड़ राशन कार्ड के जरिए अस्सी करोड़ लोगों को फायदा दिया जाना है। अनुमान के अनुसार पांच से सात करोड़ लोग कामकाज के लिए एक राज्य से दूसरे राज्य में जाते रहते हैं।

नवंबर तक पूरे राज्य में लागू होगी: केंद्र सरकार ने अप्रैल 2021 तक योजना को पूरी तरह से अमल में लाने का लक्ष्य है। जम्मू कश्मीर में इस साल नवंबर तक यह योजना पूरी तरह से लागू हो जाएगी। चरणबद्ध तरीके से योजना में जुलाई के मध्य तक 800 राशन डीलरों, जुलाई के अंत तक एक हजार और अगस्त के मध्य तक अन्य 1500, अगस्त के अंत तक 1500 अन्य, सितंबर के मध्य तक 1000 और शेष बचे राशन डीलरों तक सितंबर तक शामिल कर लिया जाएगा। इसे 23 जून को बख्शी नगर जम्मू में लांच किया गया था।

केंद्र की एक राष्ट्र एक राशन कार्ड की योजना को अमल में लाया जा रहा है। इसे चरणबद्ध तरीके से लागू किया जा रहा है। जम्मू कश्मीर के लोग देश में कहीं भी और दूसरे राज्यों के निवासी जम्मू कश्मीर में राशन ले सकते हैं। हमारी अपील है कि जम्मू कश्मीर के सभी लोग अपने राशन कार्ड को आधार से लिंक करवाएं ताकि उन्हें इस योजना का फायदा मिल सके। - सिमरनदीप सिंह, सचिव, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.