top menutop menutop menu

जम्मू कश्मीर के कई जिलों में फिर से लॉकडाउन

राज्य ब्यूरो, जम्मू: कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों ने जम्मू कश्मीर को फिर लॉकडाउन की ओर धकेल दिया है। अनंतनाग और श्रीनगर जिलों में प्रशासन ने लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। बारामुला, कुपवाड़ा और हंदवाड़ा में भी लॉकडाउन जैसी पाबंदियां हैं। पर्यटक स्थल पहलगाम को खाली करा लिया गया है। राजौरी जिले में पहले से लॉकडाउन है। पूरा कश्मीर समेत जम्मू संभाग भी इसी राह पर है। सरकार ने पाबंदियों का पालन न करने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

महज दस दिनों में ही प्रदेश में कोरोना से 70 मरीजों की मौत हो गई है। अब तक 179 की मौत हो चुकी है। दस हजार से अधिक संक्रमित हो चुके हैं। इससे पूरे प्रदेश में लॉकडाउन की स्थिति बनती जा रही है। कश्मीर के छह जिलों श्रीनगर, बारामुला, कुलगाम, शोपियां, अनतंनाग और कुपवाड़ा में ही कुल मामलों के 62 प्रतिशत मरीज हैं। इन जिलों में ही करीब 100 मरीजों की मौत हुई है। कश्मीर के डॉक्टरों ने भी उपराज्यपाल को पत्र लिखकर फिर से लॉकडाउन की मांग की है। श्रीनगर जिले में 88 क्षेत्र कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। इनमें अहमद नगर, लाल बाजार, सौरा, आलमगिरी बाजार, हरवां, खनयार, नेहरू पार्क, हब्बाकदल प्रमुख हैं। यह वह क्षेत्र हैं, जहां समूह में कोरोना संक्रमित मिले हैं। श्रीनगर के डिप्टी कमिश्नर डॉ. शाहिद इकबाल चौधरी ने कहा कि इन क्षेत्रों के लिए अलग से एसओपी जारी की गई है। पूरे जिले में लॉकडाउन लगाया गया है। लाल चौक समेत 67 इलाके सील

श्रीनगर जिले में कई क्षेत्रों को सील कर दिया गया है। लाल चौक सहित 67 क्षेत्रों को सील किया गया है। श्रीनगर प्रशासन ने लाल चौक स्थित घंटाघर को भी सील कर दिया है। इसके अलावा मायसूमा, नाटीपोरा, ईदगाह को भी सील कर दिया गया है। अनंतनाग में लाउडस्पीकर से घोषणा

अनंतनाग जिले में भी लॉकडाउन लगा दिया गया है। अनंतनाग के एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट ने सभी दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद रखने का आदेश दिया है। पर्यटक स्थल पहलगाम खाली करा दिया गया है। सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट पहलगाम फहीम के अनुसार सभी पर्यटकों को लाउड स्पीकर के माध्यम से पहलगाम खाली करने को कहा गया है। अगले आदेश तक कोई भी पर्यटक यहां नहीं जा सकेगा। बारामुला में 39 हॉटस्पाट

बारामुला के डिप्टी कमिश्नर डॉ. जीएन इट्टू ने एसओपी जारी की है। महिलाओं को इसका पालने कराने के लिए महिला स्क्वायड बनाए गए हैं। कोरोना संक्रमण की निगेटिव रिपोर्ट दिखाने पर ही कोई दुकानदार अपनी दुकान खोल सकेगा। बाजार को प्रशासन सैनिटाइज कराएगा। जिले में 39 हॉटस्पाट चिन्हित किए गए हैं। इन क्षेत्रों में व्यापक स्तर पर लोगों की जांच की जाएगी। एसडीएम और तहसीलदारों को एसओपी लागू करवाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इस बीच नियम तोड़ने पर 45 दुकानें सील की गई। जम्मू संभाग में अभी फैसला नहीं

जम्मू के डिवीजनल कमिश्नर संजीव वर्मा का कहना है कि जम्मू संभाग में लॉकडाउन पर कोई फैसला नहीं किया गया हे। यह सिर्फ अफवाह है। हालांकि, राजौरी जिले में लाकडाउन पहले से ही घोषित किया जा चुका है। अन्य जिलों में अभी लाकडाउन तो घोषित नहीं हुआ है, लेकिन हालात बंद की ओर ही बढ़ रहे हैं। 11 दिन की बच्ची समेत नौ और मरीजों की मौत

राज्य ब्यूरो, जम्मू: प्रदेश में रविवार को नौ और मरीजों की कोरोना से मौत हो गई। इनमें 11 दिन की एक बच्ची भी शामिल है। इसके साथ ही मौतों का कुल आंकड़ा 180 पहुंच गया है। इसके अलावा संक्रमण के 357 नए मामले मिले हैं। संक्रमित होने वालों की संख्या 10,513 हो गई है। अच्छी बात यह है कि 84 और मरीज स्वस्थ होकर घरों को चले गए। कुल 5925 लोग स्वस्थ हुए हैं। लद्दाख में भी नौ नए मामले दर्ज हुए हैं। इन्हें मिलाकर यहां अब तक 1086 मामले हो गए हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार नए मामलों में श्रीनगर जिले में सबसे अधिक 97, बारामुला में 31, कुलगाम और शोपियां में 13-13, अनतंनाग में सात, कुपवाड़ा में 25, पुलवामा में 11, बड़गाम में 29, बांडीपोरा में 29, गांदरबल में 40, जम्मू में 15, ऊधमपुर में एक, कठुआ में आठ, रामबन में सात, राजौरी में छह, सांबा में बीस, डोडा में चार और किश्तवाड़ में एक मामला दर्ज हुआ। जम्मू के 15 मामलों में एक गोल गुजराल, एक बरनेई, दो श्रमिक, दो छन्नी हिम्मत, दो सीआरपीएफ के जवान, तीन आइआरपी, एक जानीपुर पुलिस थाने का सब इंस्पेक्टर, सेना का एक जवान, बीएसएफ का एक जवान, और एक पीएचडी स्कालर शामिल है। इसने जम्मू से टेस्ट करवाया था और इस समय हिमाचल में हे। वहीं जानीपुर थाने का मामला आने के बाद पुलिस थाने को सैनिटाइज करने के लिए सील कर दिया गया था। कृषि निदेशालय पहले से ही एक मामला आने के बाद सील है।

नौ कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत भी हो गई। इनमें यारीपोरा कुलगाम का 11 दिन का बच्चा, कुलगाम की 80 साल की महिला, कुलगाम की ही 47 साल की महिला, कंगन गांदरबल की 55 साल की महिला, श्रीनगर का साछ साल का व्यक्ति, बडगाम का 55 साल का मरीज, बारामुला से 65 वर्षीय मरीज, हब्बाकदल श्रीनगर से 49 वर्षीय मरीज और कुपवाड़ा का अस्सी वर्षीय मरीज शामिल है। इन्हें मिलाकर अब तक 180 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं 84 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी हुई है। इनमें 25 श्रीनगर, 31 बारामुला, तीन कुलगाम, पांच अनतंनाग, 13 बड़गाम, दो गांदरबल, एक कठुआ, दो पुंछ के हैं। अब तक 5979 मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सख्त कदम उठाएं : डॉ. जितेंद्र

राज्य ब्यूरो, जम्मू : कश्मीर में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रदेश सरकार हर संभव कदम उठाए।

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने रविवार को कश्मीर में कोरोना से निपटने के प्रबंधों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी सभी दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करवाएं। डॉ. सिंह ने प्रशासन और स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा अभी तक किए गए कार्यो की सराहना करते हुए डॉक्टरों से अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए कहा। इसके साथ ही कश्मीर संभाग के प्रशासन को स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ चर्चा कर नए दिशानिर्देश बनाने के लिए कहा। डॉ. सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से डिप्टी कमिश्नर बारामुला, अनंतनाग, शोपियां व कुलगाम से भी हालात पर चर्चा की। वित्त आयुक्त स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा अटल ढुल्लू ने कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति और इससे निपटने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी दी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.