Jammu Kashmir Weather: कश्मीर घाटी में रिकार्ड तोड़ रही ठंड, 26 साल में सबसे सर्द रात दर्ज, तापमान -7.8 डिग्री रहा

14 जनवरी 2012 में भी इतना ही तापमान रिकार्ड किया गया था।

Jammu Kashmir Weather मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि श्रीनगर में जनवरी के महीने में दर्ज किया गया सबसे कम तापमान 31 जनवरी 1993 को दर्ज किया गया था। उस दौरान यह तापमान -14.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था।

Rahul SharmaWed, 13 Jan 2021 11:31 AM (IST)

श्रीनगर, जेएनएन। कश्मीर घाटी में इस साल पड़ रही ठंड ने पिछले कई सालों के रिकार्ड तोड़ दिए हैं। कई-कई गर्म कपड़े पहने के बाद भी ठंड का प्रकोप कम नहीं हो रहा है। लोग अपने घरों में दुबककर हीटर, आग की गरमाहट लेने को मजबूर हैं। रोजमर्रा के कामकाज पर भी प्रभाव पड़ रहा है। आज बुधवार सुबह से ही कश्मीर घाटी शीत लहर की गिरफ्त में नजर आई। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार घाटी के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान -5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं रात की बात करें तो एक बार फिर सर्दी ने रिकार्ड तोड़ दिया है। श्रीनगर में रात का तापमान -7.8 डिग्री सेल्सियस रहा। यह तापमान वर्ष 1995 से भी कम दर्ज किया गया है। 02 जनवरी 1995 में इसी तरह श्रीनगर शहर में ठंड बढ़ गई। उस दौरान यहां न्यूनतम तापमान -8.3 डिग्री सेल्सियस तक चला गया था। मौसम विभाग के अनुसार 26 साल बाद श्रीनगर ने इस तरह का सबसे कम तापमान दर्ज किया गया। हालांकि 14 जनवरी 2012 में भी इतना ही तापमान रिकार्ड किया गया था।

लोगों का कहना है कि ठंड बढ़ने के कारण उनकी दिक्कतें बढ़ गई हैं। उनके लिए घरों से निकलना मुश्किल हो गया है। बच्चे भी कमरे में बैठ-बैठ उकता से गए हैं। श्रीनगर और उसके साथ लगते पहाड़ी इलाकों में पानी के नल, झीलें, तालाब और अन्य जल स्रोत जम गए हैं। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि श्रीनगर में जनवरी के महीने में दर्ज किया गया सबसे कम तापमान 31 जनवरी 1993 को दर्ज किया गया था। उस दौरान यह तापमान -14.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था।

वहीं बाबा अमरनाथ यात्रा के आधार शिविर पहलगाम की बात करें तो वहां रात का -11.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यहां गत सोमवार को रात में तापमान -5.3 डिग्री सेल्सियस था। यानी यहां भी एक ही रात में तापमान छह डिग्री नीचे चला गया। इसी तरह गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान -10.0, कुपवाड़ा में -1.8 डिग्री सेल्सियस, काजीगुंड में -9.3 डिग्री सेल्सियस, कोकेरनाग में 9.9 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा।

इसी तरह लद्दाख के जिला लेह में तापमान -14.1 डिग्री सेल्सियस, कारगिल में -19.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। केंद्र शासित प्रदेश में भी हर दिन ठंड का प्रकोप बढ़ रहा है। तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। वहीं मौसम विभाग का कहना है कि कश्मीर घाटी में अभी शीतलहर का प्रकोप बना रहेगा। शुक्रवार से मौसम में सुधार होने की संभावना है।

अगले चार दिनों तक जारी रहेगा कोहरे, शीतलहर का प्रकोप

कोहरे और शीतलहर के प्रकोप ने लोगों को घरों में धुबक कर रहने को मजबूर कर दिया है।मौसम विज्ञान केंद्र, श्रीनगर से मिली जानकारी अनुसार अभी अगले चार दिनों तक मौसम का यह प्रकोप बना रहेगा। चार दिनों तक शीतलहर से राहत मिलने की कोइZ उम्मीद नहीं है। हालांकि बर्फबारी और बारिश नहीं होगी। माैसम विशेषज्ञ महेंद्र सिंह अनुसार शुष्क उत्तरी, उत्तर पूर्वी हवाओं के चलते न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे रहेगा। चार दिनों तक घना कोहरा भी रहेगा। खासकर सुबह और रात को यह कोहरा ज्यादा घना रहेगा।मौसम विज्ञान केंद्रग श्रीनगर अनुसार जम्मू का अधिकतम तापमान 13.7 जबकि न्यूनतम तापमान 6.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।माता वैष्णो देवी के आधार शिवर कटड़ा का न्यूनतम तापमान 4.4 डिग्री सेल्सियस रहा। कबेत का न्यूनतम तामपान 4.9, बनिहाल 4.0 जबकि भद्रवाह का न्यूनतम तापमान -0.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.