top menutop menutop menu

डा. जितेंद्र सिंह ने कहा- जम्मू-कश्मीर में 30 साल से पोषित आतंकवाद अब अंतिम चरण में है

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। केंद्रीय मंत्री डा. जितेंद्र सिंह ने दावा किया कि कश्मीर में आतंकियों में भगदड़ मची हुई है। सुरक्षा बल निरंतर उनके पीछे हैं और इस कारण काफी दबाव में हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार आतंकवाद के प्रति जीरो टोलेरेंस की नीति के प्रति दृढ़ है और इसके परिणाम भी सामने आने लगे हैं।

कश्मीर में भाजपा नेता की नृशंस हत्या पर क्षोभ जताते हुए उन्होंने कहा कि यह डर से भाग रहे आतंकियों की करतूत है और अब वह ऐसे साफ्ट टारगेट खोज रहे हैं। यह जम्मू कश्मीर में 30 साल से पोषित आतंकवाद अब अंतिम चरण में है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भीषण आतंक से ग्रस्त रहे डोडा और किश्तवाड़ जैसे जिले अब आतंक से मुक्त हो चुके हैं।

जम्मू-कश्मीर के ऊधमपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद डा. जितेंद्र सिंह ने कहा कि यह शुभ संकेत है कि अब अलगाववादियों और कथित मुख्यधारा के दलों ने भी अब आतंकियों से किनारा करना आरंभ कर लिया है। उन्होंने कहा कि अपनी दोहरी चाल के कारण अब कश्मीरी नेताओं की पोल खुल चुकी है और युवा पीढ़ी अपना भविष्य दाव पर लगाने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण के बावजूद जम्मू-कश्मीर में विकास कार्य निरंतर जारी हैं। इसी तरह डोडा में मेडिकल कालेज और भद्रवाह में हाई एल्टीट्यूड दवाओं पर राष्ट्रीय संस्थान का निर्माण जारी है।

कश्मीर में भाजपा नेताओं को आतंकी धमकी, भाजपा का जवाब- डरे हुए हैं ऐसे लोग

अनुच्छेद 370 हटने के बाद कश्मीर में अमन बहाली से आतंकी संगठन बौखला गए हैं। आतंकी संगठन तहरीक उल मुजाहिदीन ने शनिवार को कश्मीर में भाजपा से जुड़े नेताओं को संगठन छोड़ने की धमकी दी है। बांडीपोरा में पोस्टरों के जरिए न मानने वालों को वसीम जैसे अंजाम के लिए तैयार रहने को कहा है।

पुलिस ने पोस्टर जब्त कर इन्हें जारी करने वाले तत्वों को दबोचने का अभियान चलाया है। इसी बीच बांडीपोर में भाजपा नेताओं की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उधर भाजपा ने इस पर पलटकर जवाब देते हुए कहा कि ऐसे लोग डर और बौखलाहट में ऐसी हरकते कर रहे हैं।जानकारी के अनुसार, शनिवार सुबह बांडीपोरा में कई जगहों पर तहरीक उल मुजाहिदीन के मस्जिदों की दीवारों और बिजली के खंभों पर भी धमकी भरे पोस्टर चिपकाए गए हैं। सूत्रों ने बताया कि पोस्टरों में तहरीक उल मुजाहिदीन ने लोगों को भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस से दूर रहने को कहा है।

आतंकी संगठन ने धमकी दी है कि वे भाजपा से जुड़े से नेता और कार्यकर्ता अपनी गतिविधियां बंद करें। उनका वही अंजाम होगा जो वसीम बारी, उनके पिता और भाई का हुआ था। गौरतलब है कि गत बुधवार रात को आतंकियों ने भाजपा नेता वसीम बारी, उनके पिता और भाई की हत्या कर दी थी। पुलिस के मुताबिक, इस हत्याकांड को लश्कर ए तैयबा के आतंकियों ने अंजाम दिया। पुलिस ने बांडीपोर में मिले धमकी भरे पोस्टरों के बारे में कुछ भी बताने से इन्कार किया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.