top menutop menutop menu

जैश-ए-मोहम्मद के चार ओवरग्राउंड वर्कर गिरफ्तार, शोपियां में आतंकी ठिकाना ध्वस्त

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के ओवरग्राउंड नेटवर्क के खिलाफ अपने अभियान को जारी रखते हुए शुक्रवार को बडगाम और शोपियां से जैश-ए-मोहम्मद के चार और वर्कर गिरफ्तार किए गए। उनके कब्जे से हथियार व कुछ अन्य साजो सामान भी मिला है। फिलहाल, उनसे पूछताछ जारी है। वर्ष 2020 के दौरान कश्मीर में सुरक्षाबलों ने लगभग 42 आेवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि बडगाम जिले के खानसाहब इलाके में आज एक विशेष सूचना पर नाका लगाया। सुरक्षाबलों ने वहां से गुजरने वाले सभी संदिग्ध तत्वों की निगरानी शुरू कर दी। इसी दौरान उन्होंने एक युवक को पकड़ लिया। उसकी पहचान साकिब अहमद लोन के रुप में हुई है। वह खानसाहब के वगर गांव का रहने वाला है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि साकिब जैश-ए-मोहम्मद के नामी ओवरग्राउंड वर्करों में एक है। उसके पास से हथियार व अन्य आपत्तिजनक सामान भी मिला है। वह बडगाम और श्रीनगर में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकानों, हथियारों, पैसों का बंदोबस्त करने के अलावा उन्हें एक जगह से दूसरी जगह सुरक्षित पहुंचाने का भी काम करता था। फिलहाल, उससे पूछताछ जारी है।

इसके अलावा विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर शोपियां में चलाए गए अभियान के दौरान सुरक्षाबलों ने तीन ओवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार किया है। ये तीनों वर्कर शोपियां के हफ इलाके से पकड़े गए। इन तीनों की पहचान शाहिद अहमद बट, जहूर अहमद पाडर और बिलाल अहमद के तौर पर हुई है। उनसे एक पिस्तौल, गोलियां व अन्य हथियार बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि आज सुबह सुरक्षाबलों को तलाशी अभियान के दौरान आतंकी ठिकाने का पता चला। फक इलाके में स्थिति इस आतंकी ठिकाने से किसी आतंकी की गिरफ्तारी तो नहीं हुई परंतु भारी मात्रा में हथियार व गोलाबारूद बरामद हुआ था। उसी जांच करते हुए सुरक्षाबलों को इलाके में मौजूद इन ओवरग्राउंड वर्करों के बारे में पता चला। फिलहाल तीनों से पूछताछ जारी है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.