दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Corona Vaccine In Jammu Kashmir: सौ फीसद लक्ष्य के लिए सक्रिय हुआ स्वास्थ्य विभाग, कश्मीर में वैक्सीन की कमी आ सकती है आड़े

कश्मीर में वैक्सीन की कमी आड़े आ रही है।

Corona Vaccine in Jammu Kashmir वैक्सीन आती रही तो लक्ष्य हासिल कर लिया जाएगा। जिले में पचास से अधिक स्थानों पर टीकाकरण किया जा रहा है। वहीं किश्तवाड़ जिले में गांव-गांव में कैंप लगाकर लक्ष्य को हासिल किया जा रहा है।

Rahul SharmaMon, 17 May 2021 08:30 AM (IST)

जम्मू, रोहित जंडियाल: उपराज्यपाल के निर्देशों के बाद जम्मू-कश्मीर में 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों का सौ फीसद टीकाकरण करने का लक्ष्य हासिल करने को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अलावा जिला प्रशासन भी सक्रिय हो गए हैं।

दस दिनों में 38 फीसद लोगों के टीकाकरण के लिए रामबन जिले ने घर-घर जाकर लोगों का टीकाकरण करना शुरू किया तो अधिकांश ने विशेष कैंप आयोजित कर ही लक्ष्य हासिल करने को प्राथमिकता दी। हालांकि इस सबके बीच में वैक्सीन की कमी भी चिंता का विषय बनी हुई है। विशेषज्ञों का कहना है कि दस दिनों तक वैक्सीन की कोई भी कमी नहीं होनी चाहिए।

जम्मू-कश्मीर में 45 साल से अधिक अायु वर्ग में 33 लाख के करीब लोगों का टीकाकरण करने का लख्य निर्धारित किया गया है। लेकिन अभी 21,83,685 लोगों ने ही टीकाकरण करवाया है। कुल 61.52 फीसद लोगों का टीकाकरण हुआ है। अभी 38 फीसद लोगों का टीकाकरण नहीं हो पाया है।

जम्मू संभाग में 85.66 फीसद और कश्मीर में 61.15 फीसद का टीकाकरण हुआ है। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने अब दस दिनों के भीतर लक्ष्य हासिल करने को कहा है। इसके बाद रविवार से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग सक्रिय हो गया है। लेकिन कश्मीर में वैक्सीन की कमी आड़े आ रही है।

जम्मू जिले में जहां विशेष कैंप आयोजित किए गए। वहीं रामबन जिले में स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने घर-घर जाकर उन लोगों का टीकाकरण किया जो कि 45 साल से अधिक उम्र के हैं और उन्होंने अभी पहली डोज भी नहीं ली है। बटोत में इसकी अगुवाई बीएमओ डा. रजनीश ने की।

वहीं ऊधमपुर और डोडा जिलों में विशेष कैंप आयोजित कर लोगों का टीकाकरण करने की योजना बनाई गई है। इसके लिए वार्ड काउंसलरों, पंचायत प्रतिनिधियों, तहसीलदार, बीडीओ और पुलिस वालों की भी सहायता ली जा रही है। विशेष कैंपों मेंं आने के लिए काउंसलर और अधिकारी लोगों को जागरूक कर रहे हैं। डोडा के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी डा. याकूब का कहना है कि उन्होंने पहले से बनाए हुए टीकाकरण केंद्रों के अलावा विशेष कैंप आयोजित करने का फैसला किया है। अधिकारी लोगों को जागरूक कर रहे हैं।

वैक्सीन आती रही तो लक्ष्य हासिल कर लिया जाएगा। जिले में पचास से अधिक स्थानों पर टीकाकरण किया जा रहा है। वहीं किश्तवाड़ जिले में गांव-गांव में कैंप लगाकर लक्ष्य को हासिल किया जा रहा है। इसका मकसद मौके पर ही लोगों की जांच करके उनका टीकाकरण करना भी है। इससे 45 साल से अधिक उम्र के किसी भी व्यक्ति को टीकाकरण से वंचित नहीं होने दिया जाएगा। किश्तवाड़ के सीएमओ डा. आरएस मन्हास का कहना है कि अभियान शुरू कर दिया गया है। वहीं रियासी, सांबा जिलों में भी विशेष कैंपों के अलावा लोगों के घरों में जाकर भी टीकाकरण की योजना बनाई जा रही है। लोगों को एसएमएस भेजकर भी टीकाकरण करवाने के लिए कहा जा रहा है।

जम्मू में विशेष कैंप, कश्मीर में फिर नहीं हुआ टीकाकरण

स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को लक्ष्य हासिल करने के लिए 108 केंद्रों पर टीकाकरण किया। कुछ जगहों पर विशेष कैंप आयोजित किए गए थे। इनमें 3157 लोगों ने टीकाकरण करवाया। इनमें बीस स्वास्थ्य कर्मी और 44 फ्रंटलाइन वर्कर शामिल थे। लेकिन कश्मीर में वैक्सीन की कमी के कारण टीकाकरण ही नहीं हो पाया। कश्मीर के सभी दस जिलों में से एक में भी टीकाकरण नहीं हो पाया। ऐसे में इन सभी जिलों में दस दिनों के भीतर टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करना आसान नहीं है। जम्मू संभाग में 9144 लोगों ने टीकाकरण करवाया। इसे मिलाकर अभी तक जम्मू-कश्मीर में 28,14,272 लोगों ने टीकाकरण करवा लिया है। 45 साल से अधिक आयु वर्ग में अभी तक 61.52 फीसद लोगों का टीकाकरण हुआ है।

अभी तक जम्मू-कश्मीर में टीकाकरण की स्थिति

जिला टीकाकरण फीसद में

जम्मू: 99.34 ऊधमपुर: 62.22 राजौरी: 53.03 कठुआ: 67.37 पुंछ: 52.05 रामबन: 61.70 डोडा: 46.43 किश्तवाड़: 61.76 रियासी: 51.52 सांबा: 93.37 अनंतनाग: 51.03 कुलगाम: 58. 88 शोपियां: 97.47 पुलवामा: 49.76 श्रीनगर: 35.52 बडगाम: 65.40 बारामुला: 62.83 कुपवाड़ा: 27.57 बांडीपोरा: 67.60 गांदरबल: 96.25

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.