Jammu Kashmir All Party Meet: जम्मू की आवाज बनकर देश विरोधी एजेंडे का जवाब देने को भाजपा तैयार

भारत श्रेष्ठ भारत के साथ जम्मू कश्मीर में शांति विकास के लिए सबका एकजुट होना जरूरी है। पीडीपी प्रधान महबूबा मुफ्ती के पाकिस्तान से बातचीत की पैरवी करने पर रैना ने स्पष्ट किया कि आतंकवाद व बातचीत साथ साथ नहीं चल सकते हैं।

Rahul SharmaWed, 23 Jun 2021 08:32 AM (IST)
बातचीत के लिए पाकिस्तान को आतंकवाद व आतंकी शिविर बंद करने होंगे नहीं तो उसे उसकी भाषा में समझाया जाएगा।

जम्मू, राज्य ब्यूरो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 24 जून को दिल्ली में जम्मू कश्मीर के सभी दलों की बैठक में प्रदेश भाजपा जम्मू समेत पूरे प्रदेश के राष्ट्रवादी लोगों की आवाज उठाएगी। साथ ही प्रदेश भाजपा ने अनुच्छेद 370 की बहाली और पाकिस्तान से बातचीत का राग अलापने वाले दलों को जवाब देने की रणनीति भी बनाई है। आतंकवाद से सख्ती से निपटने का मुद्दा उठाने के साथ ही इस पर भी जोर दिया जाएगा कि पाकिस्तान से बातचीत तभी की जाए जब वह आतंकवादी कैंप बंद कर ङ्क्षहसा को शह देना बंद कर दे।

नई दिल्ली में बैठक में जाने से पहले प्रदेश भाजपा ने मंगलवार को जम्मू स्थित पार्टी मुख्यालय में प्रदेश स्तर के नेताओं के साथ बैठक की। प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में वरिष्ठ नेताओं ने दिल्ली में उठाए जाने वाले संभावित मुद्दों पर अपनी बात रखने की रूपरेखा बनाई है। इसमें तय हुआ कि कश्मीर केंद्रित दलों, पीपुल्स अलायंस फार गुपकार डिक्लेरेशन (पीएजीडी) द्वारा पाकिस्तान, अलगाववादियों या हुर्रियत से बातचीत की मांग उठाई गई तो इसका विरोध किया जाएगा।

नई दिल्ली में बैठक में प्रदेश भाजपा का प्रतिनिधित्व करने रविंद्र रैना, पूर्व उपमुख्यमंत्री डा. निर्मल सिंह व कविंद्र गुप्ता जाएंगे। वह जम्मू कश्मीर में परिसीमन कराकर विधानसभा चुनाव जल्द कराने की मांग भी उठाएंगे। जम्मू में हुई बैठक में कश्मीर के राजनीतिक हालात व जम्मू की जरूरतों जैसे मुद्दे भी चर्चा हुई है। बैठक में सांसद जुगल किशोर शर्मा, कविंद्र गुप्ता, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शमशेर सिंह मन्हास, सत शर्मा, अशोक कौल, सुनील सेठी, आरएस पठानिया, ठाकुर नारायण ङ्क्षसह, प्रिया सेठी व अभिनव शर्मा ने हिस्सा लिया।

बैठक के लिए पीएजीडी की हामी का स्वागत किया: बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में रविंद्र रैना ने कहा कि जम्मू कश्मीर की बेहतरी के लिए मोदी द्वारा सर्वदलीय बैठक बुलाना एक सराहनीय कदम है। उन्होंने इस बैठक में पीएजीडी के हिस्सा लेने के लिए राजी होने का स्वागत भी किया। उन्होंने कहा कि एक भारत श्रेष्ठ भारत के साथ जम्मू कश्मीर में शांति, विकास के लिए सबका एकजुट होना जरूरी है। पीडीपी प्रधान महबूबा मुफ्ती के पाकिस्तान से बातचीत की पैरवी करने पर रैना ने स्पष्ट किया कि आतंकवाद व बातचीत साथ साथ नहीं चल सकते हैं। बातचीत के लिए पाकिस्तान को आतंकवाद व आतंकी शिविर बंद करने होंगे नहीं तो उसे उसकी भाषा में ही समझाया जाएगा।

370 का ख्वाब देखना बंद करें कश्मीर के नेता: प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अनुच्छेद 370 इतिहास बन चुका है। कश्मीर के नेताओं को इसका ख्वाब देखना बंद कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि मोदी के साथ बैठक में देश के खिलाफ बोलने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जम्मू कश्मीर देश का अटूट अंग है। पाकिस्तान से कोई विवाद है तो वह उसके कब्जे वाले जम्मू कश्मीर के हिस्से को वापस लेना है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.