लेह के 111 गांवों में मिलेगी जम्मू कश्मीर बैंक की सुविधा

जम्मू, राज्य ब्यूरो। जम्मू कश्मीर बैंक के चेयरमैन परवेज अहमद ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात कर बैंक की सेवाओं का विस्तार करने और बुनियादी ढांचा मजबूत करने के लिए उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी।

श्रीनगर राजभवन में परवेज अहमद ने सोमवार को राज्यपाल से भेंट की। उन्होंने बैंक के कामकाज की जानकारी देते हुए बताया कि डिजीटल सिस्टम को बढ़ावा दिया जा रहा है। लेह जिला के सभी 111 गांवों में लोगों को बैंक की बुनियादी सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए 34 अल्ट्रा छोटी शाखाएं खोलने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। इनमें लोगों को पैसे जमा करने, पैसे निकालने, खाते की जानकारी देने, धनराशि को ट्रांसफर करने, ऋण वापस करने व अन्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

राज्यपाल ने चेयरमैन से कहा कि राज्य की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए बुनकरों, दस्तकारों, बागवानी से जुड़े उद्यमियों विशेषकर महिला सेल्फ हेल्प ग्रुपों को वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई जाए। उन्होंने बैंक के चेयरमैन से कहा कि हर क्षेत्र में बैंक के कामकाज में सुधार लाने और ऋण वसूली के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं। चेयरमैन ने राज्यपाल को 11 करोड़ रुपये का चेक केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए केरल के मुख्यमंत्री के राहत कोष में दान किया। राज्य के मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम व राज्यपाल के प्रमुख सचिव उमंग नरूला भी उपस्थित थे।

जम्मू-कश्मीर बैंक के उपाध्यक्ष विनय कुमार साहनी 32 साल सेवाएं देने के बाद सेवानिवृत्त हो गए। उन्हें बैंक प्रबंधन ने भावभीनी विदाई दी। विदाई कार्यक्रम में चेयरमैन एवं सीईओ परवेज अहमद ने उन्हें स्मृति चिन्ह भेंट करते हुए उनकी सेवाओं की सराहना की। उन्होंने कहा कि अपनी 32 साल की नौकरी के दौरान साहनी विभिन्न पदों पर रहे और हमेशा अपने काम के लिए जाने जाते रहे।

उनकी निष्ठा और सेवाओं के चलते जेके बैंक ने ऊंचाइयों को छुआ। उन्होंने बैंक की बढ़ोतरी और उत्थान के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने अपने सेवाकाल में ईमानदारी से कार्य किया। चेयरमैन ने उनके उज्ज्वल व सुखमय भविष्य की कामना की। वहीं साहनी ने सभी का आभार जताते हुए कहा कि सभी के सहयोग और स्नेह के चलते वह जिंदगी का काफी अच्छा सफर पूरा कर पाए। उन्हें बैंक स्टाफ से हमेशा ही सहयोग मिला, जिसके लिए वह उनके आभारी रहेंगे।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.