Jammu: जिन्हें तिहाड़ जेल में होना चाहिए, उनसे जम्मू-कश्मीर के भविष्य पर चर्चा करना सरासर गलत

अशोक गुप्ता ने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और इस पर किसी अन्य देश से कोई बातचीत नहीं हो सकती। गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ऐसे राष्ट्र विरोधी लोगों को बातचीत के लिए बुलाने की बजाय जेल में डालना चाहिए।

Fri, 25 Jun 2021 07:00 AM (IST)
केंद्र सरकार नहीं चाहती कि अन्य दल सरकार की विफलताओं और दावों के खोखलेपन को उजागर करें।

जागरण संवाददाता, जम्मू : पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के पाकिस्तान से बातचीत करने को लेकर दिए गए बयान के विरोध में डोगरा फ्रंट शिवसेना ने वीरवार को जम्मू शहर के रानी पार्क में प्रदर्शन किया। फ्रंट के कार्यकर्ताओं का कहना था कि जब से महबूबा मुफ्ती ने यह बयान दिया है, उसके बाद से घाटी में आतंकी घटनाएं बढ़ गई हैं। पिछले 48 घंटे में कश्मीर में कई आतंकवादी घटनाएं हो चुकी हैं।

प्रदर्शनकारियों का आरोप था कि महबूबा मुफ्ती कश्मीर को फिर से ¨हसा की ओर धकेलना चाहती हैं। ऐसे लोगों की जगह तिहाड़ जेल है, न किउनके साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बैठक करनी चाहिए। ऐसे लोगों के साथ जम्मू कश्मीर के भविष्य पर चर्चा करना सरासर गलत है। प्रदर्शन का नेतृत्व डोगरा फ्रंट शिवसेना के प्रधान अशोक गुप्ता ने किया। प्रदर्शन कर रहे फ्रंट के कार्यकर्ताओं ने एक बड़ा सा पोस्टर बनाया था, जिसमें महबूबा को सलाखों के पीछे दर्शाया गया था।

अशोक गुप्ता ने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और इस पर किसी अन्य देश से कोई बातचीत नहीं हो सकती। गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ऐसे राष्ट्र विरोधी लोगों को बातचीत के लिए बुलाने की बजाय जेल में डालना चाहिए। प्रदर्शन में फ्रंट की युवा इकाई के अध्यक्ष अभिषेक गुप्ता, बीरबल, सुशील, लवली, आशीष, कालू, प्रेम, विनय आदि मौजूद रहे। सर्वदलीय बैठक में बसपा को नहीं बुलाने पर जताया रोष संवाद सहयोगी, मीरां साहिब : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से वीरवार को दिल्ली में बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में बसपा को नहीं बुलाने पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने रोष जताया है। कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक में बसपा के सीनियर नेता सरदार राजा ¨सह ने कहा कि जम्मू कश्मीर में बसपा के विधायक भी रह चुके हैं, इसके बावजूद सर्वदलीय बैठक में पार्टी को नहीं बुलाया गया।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार नहीं चाहती कि अन्य दल सरकार की विफलताओं और दावों के खोखलेपन को उजागर करें। अपनी आलोचना से बचने के लिए ही बसपा समेत कई दलों को सर्वदलीय बैठक में नहीं बुलाया गया। बसपा नेता ने कहा केंद्र सरकार को जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा देना चाहिए। इसके साथ ही राजा सिंह ने केंद्र सरकार की ओर से अमरनाथ यात्रा को रद करने की भी आलोचना की। बैठक में तिलकराज, मनदीप ¨सह, हरबंस ¨सह, राकेश कुमार, अशोक कुमार शर्मा, गजेंद्र ¨सह, मोहनलाल, रमेश कुमार, अमरजीत ¨सह आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.