Jammu Farmers : आया सब्जियां लगाने का मौसम, किसान खेतों में व्यस्त

वह अगेती फसल तैयार कर मुनाफा कमान चाहता है। जबकि अरनिया के आलू उत्पादक किसान खेत तैयारी में जुटे हैं। पिछले सीजन में आलू के अच्छे दाम किसानों को मिले और इससे किसान आलू की खेती में दिलचस्पी दिखा रहा है।

Rahul SharmaMon, 20 Sep 2021 01:38 PM (IST)
बसंत सिंह सैनी स्वयं 80 कनाल भूमि में आलू की खेती करते हैं।

जम्मू, जागरण संवाददाता : मौसम में बदलाव आते ही जम्मू के किसान सब्जियों की तैयारी में जुट गए हैं। कुछ किसानों ने अगेती में पालक, मूली, टमाटर लगा दिया है और गांठ गोभी लगाया जा रहा है।

वहीं सरसों, गोभी लगाने की तैयारी चल रही हैं। जबकि स्ट्राबेरी, आलू व प्याज लगाने के लिए किसान खेत तैयार कर रहा है। मौसम में बदलाव आते ही सीजन की सब्जियां लगाने का काम जोर पकड़ने लगता है। क्योंकि इस सीजन में सब्जियों की अच्छी पैदावार मिल जाती है जोकि किसानों को मोटा मुनाफा कराती है।

खासकर मढ़, गजनसू, अरनिया व अखनूर क्षेत्र जोकि सब्जी उत्पादन की बेल्ट है, में किसान इन दिनों काम में व्यस्त है। अनेकों किसान ऐसे हैं जोकि अगेती सब्जी तैयार कर मार्केट में अच्छे पैसे बटोरना चाहते हैं। बडुई के किसान शाम सिंह के खेत में इस समय गांठ गोभी लग चुका है।

वह अगेती फसल तैयार कर मुनाफा कमान चाहता है। जबकि अरनिया के आलू उत्पादक किसान खेत तैयारी में जुटे हैं। पिछले सीजन में आलू के अच्छे दाम किसानों को मिले और इससे किसान आलू की खेती में दिलचस्पी दिखा रहा है। बसंत सिंह सैनी स्वयं 80 कनाल भूमि में आलू की खेती करते हैं।

अखनूर के डगेर गांव के किसान राम लाल अब प्याज की पनीरी लगाने की तैयारी में हैं। यह प्याज उनको अच्छी कमाई करा जाता है। महीने भर में प्याज की पनीरी तैयार हो जाएगी तो वे सुदंरबनी जाकर यह पनीरी बेचते हैं। दस पौधे की गुच्छी 25 रुपये में बिक जाती है।

वह कहते हैं कि प्याज की पनीरी तो बेची ही जाती है, वहीं अपने खेतों में भी प्याज की खेती करते हैं। लेकिन हर सब्जी में फायदा नही होती। अनेकों बार किसानों को मौसम की मार भी पड़ जाती हे। ऐसे में किसानों की मांग है कि सब्जी उत्पादक किसानों को भी सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य दे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.