रंधावा ने स्टोर क्रशर्स ओनर्स के साथ जियोलॉजी एंड माइनिंग विभाग के बाहर किया प्रदर्शन

अब जब तक यह खनन बहाल नहीं होता, उनका संघर्ष जारी रहेगा।

Illegal Mining in Jammu विक्रम रंधावा अपने घोषित शेड्यूल के अनुसार सोमवार सुबह करीब 11 बजे विभाग के कार्यालय के बाहर पहुंचे और वहां पर जिला खनन अधिकारी अंकुर सचदेवा के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। पूरे सबूत है कि तवी नदी से अवैध खनन हुआ है।

Rahul SharmaMon, 10 May 2021 03:07 PM (IST)

जम्मू, जागरण संवाददाता: जियोलॉजी एंड माइनिंग विभाग पर तवी नदी से अवैध खनन करवाने का आरोप लगाते हुए भाजपा के प्रदेश सचिव व पूर्व एमएलसी विक्रम रंधावा ने जम्मू के अन्य स्टोन क्रशर्स ओनर्स के साथ मिलकर सोमवार को विभाग के बनतालाब स्थित कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।

रंधावा ने पिछले सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन में विभाग पर गंभीर आरोप लगाए थे और आज के दिन विभाग के बाहर आत्मदाह करने की धमकी भी दी थी लेकिन आज उन्होंने सयम बरतते हुए विभाग के खिलाफ नारेबाजी करके अपनी नाराजगी प्रकट की। रंधावा ने कहा कि जब तक सरकार इस पूरे गौरखधंधे की सीबीआई जांच नहीं करवाती, उनका यह संघर्ष जारी रहेगा।

विक्रम रंधावा अपने घोषित शेड्यूल के अनुसार सोमवार सुबह करीब 11 बजे विभाग के कार्यालय के बाहर पहुंचे और वहां पर जिला खनन अधिकारी अंकुर सचदेवा के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। इस दौरान तवी नदी से 2017 के बाद हुए खनन की सीबीआई जांच करवाने की मांग दोहराते हुए विक्रम रंधावा ने कहा कि उनके पास इस बात के पूरे सबूत है कि तवी नदी से अवैध खनन हुआ है।

रंधावा ने कहा कि पिछले ढाई साल में रिंग रोड, जम्मू-अखनूर सड़क निर्माण व फ्लाईओवर में जितना भी रॉ-मैटेरियल इस्तेमाल हुआ, उसका खनन तवी नदी से किया गया लेकिन सरकारी खजाने में राजस्व के नाम पर कुछ भी नहीं गया। रंधावा ने कहा कि यह 300 से 400 करोड़ रुपये का घोटाला है जिसकी सच्चाई जनता के सामने आनी ही चाहिए।

रंधावा ने तवी नदी से खनन पर लगी रोक को हटाने के लिए हाईकोर्ट में मजबूती से पक्ष रखने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि इस प्रतिबंध से हजारों लोगों की रोजी-रोटी छिन गई है और अब जब तक यह खनन बहाल नहीं होता, उनका संघर्ष जारी रहेगा। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.