Gulmarg Khelo India Winter Games: पीएम मोदी ने गुलमर्ग खेलो इंडिया विंटर गेम्स का किया शुभारंभ, कहा-देश के हर जिले में होगा खेलो इंडिया सेंटर

जम्मू-कश्मीर के युवाओं को अंतरराष्ट्रीय स्तर की कोचिंग, खेलों का बुनियादी ढांचा व अन्य सुविधाएं दी जाएंगी।

Gulmarg Khelo India Winter Games मोदी ने कहा कि इन खेलों में भाग लेने का अनुभव खिलाड़ियों को विंटर ओलंपिक्स में भाग लेने में भी मदद करेगा। मोदी ने कहा कि खेलो इंडिया अभियान से ओलंपिक पोडियम ले जाने की मंशा से ही यह अभियान शुरू किया गया है।

Rahul SharmaFri, 26 Feb 2021 08:44 AM (IST)

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कश्मीर के गुलमर्ग में खेलो इंडिया विंटर गेम्स का वर्चुअल मोड से उद्घाटन किया। इसमें देश भर के विभिन्न राज्यों से 1200 से अधिक खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। प्रधानमंत्री ने उद्घाटन के बाद खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि खेलों इंडिया के तहत हर जिले में एक सेंटर विकसित किया जाएगा। यही नहीं खेलों में उच्च शिक्षा के संस्थान और खेल विश्वविद्यालय की स्थापना भी की जाएगी। उन्होंने इन खेलों में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों को आत्मनिर्भर भारत का ब्रांड अम्बेस्डर करार दिया।

गुलमर्ग में आयोजित दूसरे खेलो इंडिया नेशनल विंटर गेम्स का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह जम्मू-कश्मीर को विंटर गेम्स में भारत का एक प्रमुख केंद्र स्थापित करने में अहम भूमिका निभाएगा। उन्होंने देश भर से आए खिलाड़ियों को अपनी शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि इस बार अधिकांश राज्यों से इस प्रतिस्पर्धा में भाग लेने वाले खिलाड़ियों की संख्या लगभग दो गुना हो गई है। यह साफ दर्शाता है कि किस कदर विंटर गेम्स के प्रति खिलाड़ियों का रूझान बढ़ रहा है।

उन्होंने यह भी कहा कि इन खेलों में भाग लेने का अनुभव खिलाड़ियों को विंटर ओलंपिक्स में भाग लेने में भी मदद करेगा। मोदी ने कहा कि खेलो इंडिया अभियान से ओलंपिक पोडियम ले जाने की मंशा से ही यह अभियान शुरू किया गया है। जम्मू और कश्मीर में खेलों इंडिया के तहत दो सेंटर आॅफ एक्सिलेंस स्थापित हैं। ऐसे सेंटर देशभर में हर जिले में खोले जा रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर के खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाते हुए मोदी ने कहा कि पिछले साल विंटर गेम्स में जम्मू-कश्मीर की टीम ने पहले की अपेक्षा बेहतर प्रदर्शन किया। अब देश भर के कई राज्य विंटर गेम्स की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। विंटर गेम्स का अनुभव भारत के गौरव को बढ़ाने के काम आएगा। गुलमर्ग में हो रहे ये खेल दिखाते हैं कि जम्मू-कश्मीर शांति और खुशहाल के लिए कितना तत्पर है। यह गेम्स जम्मू-कश्मीर में खेल गतिविधियों को और बढ़ावा देगा। 

इन खेलों से जम्मू-कश्मीर में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। कोरोना के कारण जो दिक्कतें आई थी अब वे भी धीरे-धीरे कम हो रही है। मोदी ने कहा कि खेल हर किसी व्यक्ति की जीवनशैली को घटाता है। विश्व में कोई देश सिर्फ आर्थिक और सामरिक शक्ति से ही आगे नहीं बढ़ता है बल्कि कई ऐेसे क्षेत्र हैं जिनका अहम महत्व है। इनमें एक खेल भी है। खेल आज देश की शक्ति का परिचायक है। खेलों में भाग लेकर खिलाड़ी विश्व भर में अपनी पहचान बनाते हैं इसलिए इसे मात्र प्रतिस्पर्धा और मेडल लेने तक ही नहीं कहा जा सकता। इसका एक वैश्विक रूप है।

बीते वर्षाें में देश में खेलों इंडिया से लेकर ओलंपिक तक हम एक नई दिशा के साथ आगे बढ़ रहे हैं। सरकार स्पोर्टस प्रोफेशनल की भी सेवाएं भी ले रही है। खिलाड़ियों के चयन को लेकर पारदर्शिता बरती जा रही है। इन खिलाड़ियों ने देश का सम्मान बढ़ाया है। उनका भी सम्मान किया जा रहा है। नई शिक्षा नीति में भी खेलों को भी काफी महत्व दिया गया है। अब खेल पाठ्यक्रम का अहम हिस्सा है।

विद्यार्थियों के लिए यह एक बड़ी क्रांति है। देश में अब स्पोर्टस विश्व विद्यालय खोले जा रहे हैं। स्पोर्टस साइंस और स्पोर्टस मैनेजमेंट को स्कूलों तक कैसे ले जाना है इस पर भी विचार किया जा रहा है। जब आप खेलों इंडिया प्रतिस्पर्धा में अपने प्रतिभा दिखाएंगे तो यह सोचें कि यह मात्र खेल नहीं है बल्कि यह आत्मनिर्भरता की ओर एक प्रमुख कदम है। जब भी आप मैदान में उतरें भूमि को अपने मन और आत्मा में हमेशा रखें। इससे आपका खेल ही नहीं व्यक्तित्व भी निखर जाएगा।

जब आप मैदान में उतरते हैं तो आप अकेले नहीं सवा सो लोग आपके साथ होते हैं। उन्होंने खेलों इंडिया में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों, उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय खेल मंत्री समेत सभी आयोजकों का आभार जताया। 

इसी कार्यक्रम में केंद्रीय खेल एवं युवा मामले केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू भी मौजूद थे। खेलो इंडिया-विंटर गेम्स लगातार दूसरे साल गुलमर्ग में हो रहे हैं। बीते साल यह मार्च में हुए थे। खेलो इंडिया-विंटर गेम्स को केंद्र सरकार ने गुलमर्ग में होने वाली गतिविधियों के वार्षिक कैलेंडर में स्थायी रूप से शामिल किया है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका ई उद्घाटन करेंगे। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि गुलमर्ग समेत वादी के विभिन्न हिस्सों में विंटर गेम्स लायक पूरा माहौल है। हम कश्मीर को विशेषकर गुलमर्ग को दुनिया के मानचित्र पर शीतकालीन खेलों के लिए, विंटर गेम्स के लिए एक आदर्श स्थान के रूप में विकसित करने का प्रयास कर रहे हैं।

खेलो इंडिया से जम्मू-कश्मीर को दुनिया के विंटर स्पो‌र्ट्स मानचित्र पर स्थापित करने में मदद मिलेगी। इससे जम्मू-कश्मीर में पर्यटन क्षेत्र को भी बढ़ावा मिलेगा। खेल प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। हम यहा के युवाओं को उनकी खेल प्रतिभा के विकास में पूरी मदद करना चाहते हैं। इससे पूर्व खेलो इंडिया-विंटर गेम्स में भाग लेन आए खिलाड़ियों के स्वागत में गुलमर्म मे रंगारंग सास्कृतिक संध्या का आयाजन किया। इस दौरान आतिशबाजी भी हुई। सबसे ज्यादा रोमाच रात के अंधेरे में गुलमर्ग की चोटियों पर हाथों में मशाल लिए स्कीईंग खिलाड़ियों को स्कीईंग करते देखने में आया। कश्मीर की रग्बी खिलाड़ियों ने प्रदर्शनी के तौर स्नो रग्बी मैच भी खेला।

विद्यार्थियों के लिए यह एक बड़ी क्रांति है। देश में अब स्पोर्टस विश्व विद्यालय खोले जा रहे हैं। स्पोर्टस साइंस और स्पोर्टस मैनेजमेंट को स्कूलों तक कैसे ले जाना है इस पर भी विचार किया जा रहा है। जब आप खेलों इंडिया प्रतिस्पर्धा में अपने प्रतिभा दिखाएंगे तो यह सोचें कि यह मात्र खेल नहीं है बल्कि यह आत्मनिर्भरता की ओर एक प्रमुख कदम है। जब भी आप मैदान में उतरें भूमि को अपने मन और आत्मा में हमेशा रखें। इससे आपका खेल ही नहीं व्यक्तित्व भी निखर जाएगा।

जब आप मैदान में उतरते हैं तो आप अकेले नहीं सवा सो लोग आपके साथ होते हैं। उन्होंने खेलों इंडिया में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों, उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय खेल मंत्री समेत सभी आयोजकों का आभार जताया।

यहां आकर प्रसन्न हूं : केंद्रीय खेल राज्यमंत्री किरेन रिजिजू ने कहा कि मै यहा आकर प्रसन्न हूं। यहा खिलाड़ी अत्यंत उत्साह से भरे हुए हैं। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उम्मीदों के अनुरुप जम्मू कश्मीर में शाति व सुरक्षा का माहौल बहाल करने में तेजी से ठोस कदम उठाए हैं, वह सराहनीय हैं। उनका असर यहा जमीन पर भी नजर आता है। 

ये भी पढ़ें:-

- इन गर्मियों में डल झील में होंगी वाटर स्पोर्ट्स, कश्मीर के युवाओं को भी कर रहे ओलंपिक के लिए तैयार

- राज्यसभा से सेवानिवृत्त होने के बाद पहली बार जम्मू पहुंचे गुलाम नबी आजाद का फूलों से हुआ स्वागत

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.