Jammu And Kashmir: खाद्य पदार्थ लेकर 21 दिन बाद जम्मू पहुंची मालगाड़ी, सड़क मार्ग के जरिए 3 राज्यों से लाया जा रहा तेल

पंजाब में जारी किसान आंदोलन के चलते रेलवे ट्रैक से पैदा हुआ था तेल संकट
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 09:50 AM (IST) Author: Preeti jha

जम्मू, जागरण संवाददाता। पंजाब में जारी किसान आंदोलन के चलते 21 दिनों बाद खाद्य पदार्थ लेकर मालगाड़ी जम्मू रेलवे स्टेशन में पहुंची। हालांकि तेल लेकर जम्मू आने वाली मालगाड़ी को फिलहाल जालंधर में ही रोक कर रखा गया हैं। रेल प्रबंधन दरअसल तेल लेकर जम्मू आने वाली मालगाड़ी को चलने में जल्दबाजी करने के मूड में नहीं दिख रही।

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि लुधियाना में बीते कई दिनों से फूड कारपोरेशन आफ इंडिया का राशन लेकर जम्मू आई मालगाड़ी किसानों के प्रदर्शन के चलते रुकी हुई थी। बीते बुधवार को रेलवे ट्रैक के खुलने के साथ सबसे पहले इस मालगाड़ी को चला गया, जो वीरवार सुबह तड़के जम्मू पहुंची। मालगाड़ी को सीधे गुर्ड्स गोदाम में ले जा कर खाली किया गया। मालगाड़ी से खाद्य पदार्थ उतारने के लिए ठेकेदार को रेलवे प्रबंधन ने पहले ही तैयार रहने को कहा गया था। तेल लेकर जम्मू आने वाली मालगाड़ियों को तेल कंपनियां बे-सर्बी से इंतजार कर रही हैं।

सड़क मार्ग के जरिए तीन राज्यों से आ रही तेल की सप्लाई: मालमाड़ियों की आवाजाही बंद होने से तेल कंपनियों को मौजूदा समय में राजस्थान, हिमाचल प्रदेश के ऊना, पंजाब के भठिंडा, संगरुर और जालंधर से तेल टैंकरों में भर कर सड़क मार्ग से सप्लाई जम्मू कश्मीर में लानी पड़ रही हैं। कंपनियों ने सबसे पहले लद्दाख में तेल की आपूर्ति को सुनिश्चित किया हैं। चूंकि आने वाले दिनों में सर्दी शुरू होने वाली हैं, ऐसे में छह माह तक लद्दाख सड़क मार्ग से शेष देश से कट जाता हैं। छह माह तक वहां प्रयोग होने वाले पैट्रोल, डीजल और केरोसिन तेल की सप्लाई को डंप करना पड़ता हैं।

इसके अलावा कश्मीर संभाग में भी सर्दियों से पूर्व तेल की पर्याप्त सप्लाई को सुनिश्चित करना जरूरी हैं, ताकि बर्फबारी के दौरान वहां तेल का संकट उत्पन्न ना हो जाए।पंजाब में जारी किसान आंदोलन के चलते जम्मू कश्मीर में पेट्रोलियम पदार्थो का संकट वीरवार को समाप्त होने की पूरी उम्मीदें हैं। रेलवे ने पंजाब से जम्मू ट्रैक पर मालगाड़ियों की आवाजाही को सुनिश्चित कर दिया है, लेकिन यात्री ट्रेनों के चलने पर अभी असमंजस बरकरार है।

आपको जानकारी हो कि एक अक्टूबर से पंजाब से जम्मू कोई भी मालगाड़ी नहीं पहुंची है, जिससे प्रदेश में तेल का संकट खड़ा हो गया था। हालांकि तेल कंपनियों ने सड़क मार्ग से टैंकरों के जरिए पेट्रोल पंपों तक तेल की आपूर्ति की है, लेकिन दूरदराज क्षेत्रों में अभी तेल की किल्लत बनी हुई है। जम्मू रेलवे स्टेशन के स्टेशन डायरेक्टर सुधीर ने बताया कि फिरोजपुर डिवीजन ने सूचित किया है। बुधवार से रेलवे ट्रैक खाली हो गया हैं।

हालांकि, ट्रैक की मरम्मत और जांच के लिए कुछ समय लगेगा। रेलवे इंजीनियर ट्रैक की जांच करने के बाद उस पर रेल यातायात को चलाने की हरी झंडी देंगे। बुधवार रात या वीरवार सुबह से मालगाड़ियां चलना शुरू हो जाएंगी। जम्मू रेलवे स्टेशन में मालगाड़ियों से सामान उतारने की तैयारियां पूरी कर ली हैं। 21 दिन से एक मालगाड़ी जालंधर स्टेशन पर हीं रुकी हुई हैं। उसके वीरवार को जम्मू में पहुंचने की उम्मीद है। इसके अलावा मालगाड़ियों से सीमेंट, खाद्य पदार्थ देश के विभिन्न हिस्सों से जम्मू रेलवे स्टेशन में पहुंचते हैं।

आज भी रद रहेंगी कई रेलगाड़ियां

मालगाड़ियों के लिए रेलवे ट्रैक को खोल दिया है, लेकिन यात्री रेलगाड़ियों फिलहाल नहीं चलाई जा रही। रेलवे प्रबंधन ने वीरवार को जम्मू से दिल्ली के बीच चलने वाली विशेष राजधानी एक्सप्रेस को रद रखने की घोषणा की हैं। जम्मू अजमेर विशेष रेलगाड़ी में इस दिन रद रहेगी। कटड़ा से दिल्ली के बीच चलने वाली विशेष रेलगाड़ी श्री शक्ति एक्सप्रेस को रद रखा गया हैं। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.