दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Jammu: जीएमसी जम्मू प्रशासन ने केंद्र से आई टीम के सामने रखी प्रशिक्षित स्वास्थ्य कर्मियों की कमी की बात

टीम ने जम्मू में यूके वेरिएंट और बी 1.617 (इंडियन डबल म्यूटेशन) के लगातार बढ़ रहे मामलों पर पूछा।

टीम ने इसके बाद वार्ड नंबर चार का भी दौरा किया। इस वार्ड को कोविड वार्ड बनाया जा रहा है। उन्होंने वार्ड में उपलब्ध सुविधाओं के बारे में पूछा। आज टीम स्वास्थ्य निदेशक जम्मू के साथ भी बैठक करेगी। टीम जम्मू में बने प्रमुख हाटस्पाट वाले केंद्रों में जाएगी।

Rahul SharmaMon, 17 May 2021 08:22 AM (IST)

जम्मू, राज्य ब्यूरो: जम्मू-कश्मीर में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों का जायजा लेने के लिए रविवार को केंद्र सरकार की तीन सदस्यीय टीम जम्मू-कश्मीर के दो दिवसीय इौरे पर पहुंची। टीम ने राजकीय मेडहकल कालेज जम्मू में हो रही मौतों के अलावा लगातार बढ़ रहे संक्रमण के मामलों पर जीएमसी की प्रिंसिपल व विभिन्न विभागों के एचओडी से मंथन किया। उन्होंने जम्मू में बी 1.617 (इंडियन डबल म्यूटेशन) के लगातार बए़ रहे मामलों पर चिंता व्यक्त की और इसके कारणों के बारे में भी जानकारी ली।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की टीम में ज्वाइंट डायरेक्टर एपीडेमालोजी डा. प्रणय वर्मा, डा. महेश वाघमरे और पीजीआई चंडीगढ़ से डा. नवनीत शर्मा शामिल हैं। टीम दोपहर दो बजे राजकीय मेडिकल कालेज अस्पताल में पहुंची और इसके कुछ देर बाद उन्होंने जीएमसी के कमेटी रूम में जीएमसी की प्रिंसिपल डा. शशि सूदन, सीडी अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा. राजेश्वर शर्मा सहित कुछ विभागाें के एचओडी के साथ बैठक की।

उन्होंने डाक्टरों से पेश आ रही समस्याओं के बारे में जानकारी ली। जीएमसाी प्रशासन ने केंद्र से आई टीम को प्रशिक्षित स्वास्थ्य कर्मियों की कमी के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि स्टाफ की कमी के कारण मरीजों की देखभाल प्रभावित होती है और लोगों मौजूदा स्टाफ पर अतिरिक्त दबाव बढ़ता है। उन्होंने टीम को जीएमसी में उपलब्ध ढांचे के बारे में भी विस्तार से बताया।

टीम ने मरीजों को दिए जा रहे इलाज के बारे में जानकारी मांगी। इस पर उन्हें बताया गया कि यहां पर त्रिस्तरीय व्यवस्था बनाई गई है। इसमें मरीज को पहले सीडी और गांधीनगर अस्पताल में जांच करवाने के लिए आना पड़ता है और उसी में यह तय किया जाता है कि मरीज को किस स्तर के अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत है। वहीं टीम ने जम्मू में यूके वेरिएंट और बी 1.617 (इंडियन डबल म्यूटेशन) के लगातार बढ़ रहे मामलों पर पूछा।

इस पर उन्हें बताया गया कि यहां के बहुत से लोग पंजाब होकर आए हैं। यही नहीं अन्य प्रदेशों से भी कई लोग आए। कुल साढ़े चार सौ सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। उसमें से करीब 150 में बी 1.617 (इंडियन डबल म्यूटेशन) की पुष्टि हुई है।

टीम ने इसके बाद वार्ड नंबर चार का भी दौरा किया। इस वार्ड को कोविड वार्ड बनाया जा रहा है। उन्होंने वार्ड में उपलब्ध सुविधाओं के बारे में पूछा। आज सोमवार को टीम स्वास्थ्य निदेशक जम्मू के साथ भी बैठक करेगी। टीम जम्मू में बने प्रमुख हाटस्पाट वाले केंद्रों में जाएगी। इन जगहों पर कोरोना संक्रमण के कारणों का पता लगाएगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.