Jammu Kashmir: प्रभारी नहीं, फिर भी गुलाम नबी आजाद का है जम्मू कश्मीर कांग्रेस पर है अधिक प्रभाव

प्रदेश कांग्रेस कमेटी जम्मू कश्मीर के मुख्य प्रवक्ता रविंद्र शर्मा का कहना है कि वह भी आज रविवार को आजाद से मुलाकात करेंगे। वह प्रभारी नहीं मगर पार्टी के तो वरिष्ठ नेता तो है। पूर्व उपमुख्यमंत्री ताराचंद आजाद के दौरे के दौरान अधिक सक्रिय दिखाई देते है।

Rahul SharmaSun, 01 Aug 2021 08:29 AM (IST)
आजाद ने जम्मू कश्मीर को लेकर पार्टी का रुख प्रधानमंत्री के समक्ष रखा था।

जम्मू, राज्य ब्यूरो: भले ही गुलाम नबी आजाद पार्टी के जम्मू कश्मीर मामलों के प्रभारी नहीं है लेकिन उनका पार्टी पर ही नहीं बल्कि जम्मू कश्मीर की राजनीति पर भी उनका अच्छा खासा प्रभाव है। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद आज जब जम्मू के तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचे तो उनके समर्थक पार्टी के नेता, कार्यकर्ता जो कांग्रेस की प्रभारी रजनी पाटिल की बैठकों में भाग नहीं लेते रहे है, वे उनसे मिलने के लिए सबसे पहले पहुंच गए थे।

आजाद खेमा काफी सक्रिय दिखाई दिया। इतना ही नहीं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अन्य नेता जो रजनी पाटिल की बैठक में सक्रिय रहते है, वे भी आजाद से मिलने के लिए तैयार हैं। कुछ आज भी पहुंचे। पार्टी के वरिष्ठ नेता याेगेश साहनी और अशोक शर्मा तो हवाई अड्डे पर पहुंचे। वहीं पूर्व उपमुख्यमंत्री ताराचंद, पूर्व मंत्री जीए सरूरी, जुगल किशोर, कश्मीर से नेता अमीन भट्ट व अन्य नेताओं ने आजाद से मुलाकात की।

कांग्रेस कमेटी के अन्य नेता आज रविवार को उनसे मिलेंगे। आजाद गांधी नगर स्थित अपने निवास पर हैं। हालांकि आजाद का यह निजी दौरा है और इसमें प्रदेश कांग्रेस कमेटी की भूमिका नहीं है लेकिन फिर भी कमेटी के नेता, कार्यकर्ता उनसे मिल रहे हैं। गुलाम नबी आजाद ने जम्मू पहु्ंचते ही स्पष्ट रूप से कहा कि वह पार्टी के नेताओं से मिलेंगे और समाज के विभिन्न वर्गों के प्रतिनिधिमंडलों से मिल कर उनकी समस्याओं को सुनेंगे।

पूर्व पीडीपी-कांग्रेस गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री रहे आजाद के जम्मू कश्मीर की अन्य राजनीतिक पार्टियों से भी अच्छे संबंध है। जम्मू कश्मीर को लेकर उनके प्रभाव का पता प्रधानमंत्री की जम्मू कश्मीर को लेकर पिछले दिनों हुई सर्वदलीय बैठक से चलता है। उस बैठक में भले ही कांग्रेस के प्रदेश प्रधान जीए मीर मौजूद थे लेकिन आजाद ने जम्मू कश्मीर को लेकर पार्टी का रुख प्रधानमंत्री के समक्ष रखा था।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी जम्मू कश्मीर के मुख्य प्रवक्ता रविंद्र शर्मा का कहना है कि वह भी आज रविवार को आजाद से मुलाकात करेंगे। वह प्रभारी नहीं मगर पार्टी के तो वरिष्ठ नेता तो है। पूर्व उपमुख्यमंत्री ताराचंद आजाद के दौरे के दौरान अधिक सक्रिय दिखाई देते है। आम तौर पर वह रजनी पाटिल की बैठक या पार्टी के विरोध प्रदर्शनों में बहुत कम नजर आते है। वह आज काफी उत्साहित नजर आए। आजाद खेमा के सक्रिय होने से यह भी साफ है कि पार्टी की गुटबाजी बढ़ती जा रही है।

आजाद के दौरे को लेकर कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह: गुलाम नबी आजाद का स्वागत करने के लिए कार्यकर्ता जम्मू हवाई अड्डे पर पहुंचे। बैनर, झंडे ,फूल मालाएं लेकर कार्यकर्ता उत्साह के साथ हवाई अड्डे पहुंचे थे। आजाद के समर्थन में कार्यकर्ताओं ने नारे लगाए। इस दौरान कार्यकर्ताओं को संभालने के लिए सुरक्षा कर्मियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। अक्सर जब पार्टी की प्रभारी रजनी पाटिल जब जम्मू आती है तो इस तरह से कार्यकर्ताओं का उत्साह नजर नहीं आता। कार्यकर्ताओं ने आजाद को फूल मालाएं भेंट की।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.