Jammu Kashmir DDC Election : जम्मू-कश्मीर में 43 सीटों के लिए पहले चरण में 51.76 प्रतिशत मतदान हुआ, रियासी जिला में सर्वाधिक 74.62 प्रतिशत मतदान दर्ज

मतदान की यह प्रक्रिया दोपहर 2 बजे तक चलेगी।

DDC चुनाव के मद्देनजर दक्षिण कश्मीर के दो जिलों में इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई। ये दो जिले पुलवामा और शोपियां हैं। प्रशासन ने एहतियात के तौर पर गत देर रात ही इन जिलों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी थी ताकि यहां चुनाव बेहतर ढंग से हो सकें।

Publish Date:Sat, 28 Nov 2020 09:00 AM (IST) Author: Rahul Sharma

जम्मू, जेएनएन ।  केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में पहली बार हो रहे जिला विकास परिषद के चुनावों का पहला चरण शांतिपूर्वक संपन्न हो गया।जम्मू संभाग के रियासी जिला में सर्वाधिक 74.62 प्रतिशत मतदान हुआ जबकि कश्मीर संभाग के पुलवामा में सबसे कम 6.70 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।कुल मिलाकर 43 सीटों के लिए 51.76 प्रतिशत मतदान हुआ है। सुबह मतदान शुरू होते ही मतदाताओं में प्रदेश में पहली बार होने वाले जिला विकास परिषद के चुनावों को लेकर काफी उत्साह दिखा।पहले चरण में शनिवार को 43 सीटों पर हुए मतदान में 193375 पुरुष मतदाताअों और 169391 महिला मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।राजौरी जिला में 70.52 प्रतिशत, सांबा जिला में 68.61 प्रतिशत, ऊधमपुर में 57.13 प्रतिशत मतदान हुआ है जबकि कश्मीर संभाग के आतंकवाद ग्रस्त बड़गाम में 56.94 प्रतिशत मतदान हुआ है। कुल मिलाकर प्रदेश में पहले चरण में मतदाताओं के जोश ने यह साबित कर दिया है कि वे प्रदेश में अमन और तरक्की चाहते हैं।

जम्मू व कश्मीर में 43 सीटों पर हुए मतदान में जम्मू संभाग के पहाड़ी इलाके हों या कश्मीर के बर्फीले इलाके हर तरफ मतदान डालने वालों की लंबी-लंबी कतारें देखने को मिली। जम्मू-कश्मीर चुनाव आयोग पहले चरण के हुए आज मतदान के आंकड़े शाम 5.30 बजे जारी करेगा। वहीं राजौरी जिले में आज 70.52 प्रतिशत मतदान हुआ है। इनमें 9875 पुरुष और 8556 महिलाओं सहित कुल 18431 मतदाताआें ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पुंछ जिले में पंचायत उपचुनाव के लिए भी वोटिंग हुई है। इसमें 74.1 प्रतिशत मतदान हुआ।

कश्मीर घाटी के आतंकवाद ग्रस्त इलाकों में ही नहीं नियंत्रण रेखा से सटे इलाके जहां आए दिन पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी होती रहती हैं, वहां भी लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए उत्साहित नजर आ रहे हैं। मतदान केंद्रों व आतंकवाद ग्रस्त इलाकों में लोगों की सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। सुबह 11 बजे तक जम्मू-कश्मीर में 22 प्रतिशत मतदान हो चुका था। अभी भी मतदान केंद्रों पर वोट डालने वालों की कतारें लगी हुई हैं।

43 सीटों में जम्मू की 18 और कश्मीर की 25 सीटें शामिल हैं। इसके साथ ही कुछ इलाकों में पंचायत उपचुनाव के लिए भी वोटिंग हो रही है। पहले चरण में करीब 296 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद के यह चुनाव आठ चरणों में हाेने हैं। आज 28 नवंबर को शुरू हुई यह चुनावी प्रक्रिया 19 दिसंबर तक चलेगी। 22 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी। चुनावी मैदान में करीब 1475 उम्मीदवार हैं, जिनके भाग्य का फैसला उसी दिन सुनाया जाएगा। कश्मीर संभाग के सभी मतदान केंद्रों के अलावा जम्मू संभाग के पहाड़ी इलाकों में बनाए गए मतदान केंद्रों में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं।

किस जिले में कितना मतदान प्रतिशत हुआ

कुपवाड़ा 50.74 प्रतिशत बांडीपोरा 43.57 प्रतिशत बारामूला 32.51 प्रतिशत गांदरबल 48.62 प्रतिशत श्रीनगर 33.76 प्रतिशत बड़गाम 56.94 प्रतिशत पुलवामा 6.70 प्रतिशत शौपियां 42.58 प्रतिशत कुलगाम 34.35 प्रतिशत अनंतनाग 43.32 प्रतिशत किश्तवाड़ 55.16 प्रतिशत डोडा 64.49 प्रतिशत रामबन 64.21 प्रतिशत रियासी 74.62 प्रतिशत ऊधमपुर 57.13 प्रतिशत कठुआ 62.82 प्रतिशत सांबा 68.61 प्रतिशत जम्मू 61.49 प्रतिशत राजौरी 70.52 प्रतिशत पुंछ 68.69 प्रतिशत

Jammu Kashmir DDC Elections Update: 

Jammu Kashmir: डीडीसी चुनाव 2020 के पहले चरण में दोपहर 01:00 बजे तक मतदान प्रतिशत 39.94 रहा। कश्मीर संभाग के जिला कुपवाड़ा में 34.1077%, बांदीपुरा में 34.18%, बारामूला में 25.58%, गांदरबल में 36.26%, श्रीनगर में 29.24%, बडगाम में 47.45%, पुलवामा में 6.08%, शोपियां 22.37%, कुलगाम 24.49% और अनंतनाग 26.65% मतदान दर्ज किया गया।

इसी तरह जम्मू संभाग के जिला किश्तवाड़ में 27.15%, डोडा में 50.63%, रामबन में 54.92%, रियासी में 56.17%, उधमपुर में 45.03%, कठुआ में 54.24%, सांबा में 59.29%, जम्मू में 48.96%, राजौरी में 57.73% मतदान हुआ था। मतदान प्रतिशत का पूरा आंकड़ा शाम 5 बजे जम्मू-कश्मीर चुनाव आयोग द्वारा जारी किए जाएंगे।

Kashmir: दोपहर एक बजे तक बांडीपोरा की तीन पंचायतों में 17 प्रतिशत मतदान हो चुका था। सुंबल ब्लॉक में 3022 मतदाताओं ने अपने वोट डाले हैं, तुलैल में 1938 और गुरेज़ ब्लॉक में 844 मतदाताओं ने अब तक वोट डाले हैं। वहीं गांदरबल में भी इस दौरान तक 45 प्रतिशत मतदान हो चुका था।

Akhnoor: अखनूर सीट पर एक बजे तक 51.22 प्रतिशत मतदान हो चुका था। हालांकि गांव सुनेहाल में पंच की एक सीट आरक्षित कर दिए जाने के विरोध में यहां के लोगों ने प्रशासन के खिलाफ रोष व्यक्त करते हुए चुनाव का बहिष्कार किया।

Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर सुबह 11 बजे तक कुल मतदान प्रतिशत 22.13 रहा।चुनाव आयोग से मिले आंकड़ो के अनुसार सुबह 11 बजे तक कश्मीर संभाग के जिला कुपवाड़ा में 13.49 प्रतिशत, बांडीपोरा में 17.87 प्रतिशत, बारामुला में 12.19 प्रतिशत, गांदरबल में 23.14 प्रतिशत, श्रीनगर में 10.65 प्रतिशत, बडगाम में 28.47 प्रतिशत, पुलवामा में 3.51 प्रतिशत, शोपियां में 29.34 प्रतिशत, कुलगाम में 14.91 प्रतिशत, अनंतनाग में 23.46 प्रतिशत, किश्तवाड़ में 14.43 प्रतिशत, डोडा में 25.18 प्रतिशत, रामबन में 33.39 प्रतिशत, रियासी में 30.34 प्रतिशत, ऊधमपुर में 22.43 प्रतिशत, कठुआ में 24.26 प्रतिशत, सांबा में 36.40 प्रतिशत, जम्मू में 29.16 प्रतिशत, राजौरी में 70.03 प्रतिशत जबकि जिला पुंछ में 32.11 प्रतिशत मतदान हो चुका है।

Kathua: सुबह 11 बजे तक जिला कठुआ के बनी में 22 प्रतिशत मतदान हो चुका है। यहां कुल 5777 मतदाता वोट डाल चुके हैं जिनमें 3318 पुरुष व 2459 महिला मतदाता शामिल हैं। वहीं लोहाई मल्हार में 26.21 प्रतिशत मतदान हुआ है। 5443 मतदाता वोट डाल चुके हैं। इनमें 2872 पुरुष व 2571 महिला मतदाता शामिल हैं।

Kashmir LoC: कश्मीर में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में भी मतदान को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। नियंत्रण रेखा से सटे कलारोस, क्रालपोरा और टंगडार में सुबह 10 बजे तक 9195 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे। इनमें 5932 पुरुष और 3243 महिलाएं शामिल हैं। इन 03 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाताओं की कुल संख्या 74683 है।

Kashmir: जिला विकास परिषद चुनाव के मद्देनजर दक्षिण कश्मीर के दो जिलों में इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई। ये दो जिले पुलवामा और शोपियां हैं। प्रशासन ने एहतियात के तौर पर गत देर रात ही इन जिलों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी थी ताकि यहां चुनाव बेहतर ढंग से हो सकें।

Akhnoor: अखनूर में पहले तीन घंटे में दस फीसद मतदान हुआ है।जम्मू जिले में अखनूर की दो सीटों के लिए आज मतदान हो रहा है। अखनूर के अंबारा व मेरां मांदरिया में यह चुनाव जारी है। इन दोनों क्षेत्रों में करीब 36 हजार मतदाता है जिनके लिए 149 मतदान केंद्र स्थापित किए गए है। क्षेत्र में जिला विकास परिषद के अलावा पंच व सरपंच के एक-एक पद के लिए उप-चुनाव भी हो रहा है।

Baramulla: जिला बारामुला में पिछले दो घंटों के दौरान 1.51 प्रतिशत मतदान हुआ है। सी वानीगाम में अभी तक 0.41 प्रतिशत, खाइपोरा में 0.90 प्रतिशत, टंगमर्ग में 2.17 प्रतिशत, वाइलू में 0.88 प्रतिशत मतदान हुआ है। इसके अलावा इसी जिले में पड़ने वाले केबी रफियाबाद में 5.84 प्रतिशत, रफियाबाद में 0.52 प्रतिशत मतदान हुआ है। मौसम में सुधार होने के बाद अब यहां भी मतदान केंद्रों पर लोगों की संख्या बढ़ने लगी है।

Shopian : कश्मीर के आतंकवाद ग्रस्त इलाके शोपियां के मतदान केंद्रों का नजारा देख आप भी दंग रह जाएंगे। यहां वोट डालने के लिए पुरुष हो या महिलाएं काफी संख्या में पहुंच हुई थी। आपको जानकारी हो कि विधानसभा चुनावों के दौरान भी यहां के लोगों ने आतंकवादियों व अलगावादियों की धमकियों के बावजूद अपने मताधिकार का प्रयाेग किया था परंतु मतदान प्रतिशत काफी कम था परंतु आज मतदान केंद्रों पर लगी लोगों की भीड़ से ये स्पष्ट हो रहा है कि अब इन लोगों को किसी का डर नहीं है।

Kathua: जिला कठुआ के बनी-1 में अब सुबह 10 बजे तक 11.91 प्रतिशत, लहोई मल्हार में 5.68 प्रतिशत मतदान हुआ है। नियंत्रण रेखा से सटे गांवों में भी मतदान केंद्रों में सुबह से लोगों की कतारें लगी हुई हैं। लोगों की जिला विकास परिषद के चुनावों में भागीदारी को देख यह कहा जा सकता है कि लोग भी अब विकास को ही तरजीह दे रहे हैं। जिला किश्तवाड़ में भी सुबह 10 बजे तक 7 प्रतिशत, जिला राजौरी में 12 प्रतिशत मतदान हो चुका है।

Kashmir: कश्मीर में धूप खिलने के साथ ही मतदान केंद्रों में लोगों की संख्या भी बढ़ती नजर आ रही है। खानसाहिब, बडगाम के रायथन गांव में लोग वोट डालने के लिए कतारों में खड़े नजर आ रहे हैं। मतदान डालने वालों में केवल पुरुष ही नहीं काफी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं। वोट डालने के लिए पहुंचे लोगों का कहना है कि अब न तो उन्हें गोलियों की परवाह है और न ही सर्दी की परेशानी। अब उन्हें कश्मीर को फिर से जन्नत बनता हुआ देखना है।

 

Reasi: जिला रियासी चसाना में सुबह 9 बजे तक 8.65 प्रतिशत, चसाना-ए में 9.92 प्रतिशत, हसोती-बी में 9.16 प्रतिशत, खानगा नम्ब में 3.54 प्रतिशत जबकि गली सोहब में अब तक 11.88 प्रतिशत मतदान हो चुका है।

Kashmir: प्रशासन का कहना है कि सभी 43 सीटों पर मतदान सुचारू रूप से चल रहा है। कश्मीर में कड़ाके की ठंड होने के बावजूद लोग मतदान केंद्रों में वोट डालने के लिए पहुंच रहे हैं। श्रीनगर के हरवान इलाके की शमीमा जो सुबह साढ़े आठ बजे ही मतदान केंद्र में वोट डालने के लिए पहुंच गई थी, का कहना था कि हम लोग आतंकवाद से तंग आ चुके हैं। बच्चों की जिंदगी बर्बाद हो रही है। केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद विकास तेज हुआ है। आतंकवादी घटनाएं कम हुई हैं। उन्हें बदलाव नजर आ रहा है। उन्हें उम्मीद है कि जिला विकास परिषद के गठन के बाद इसे और गति मिलेगी। इसी उम्मीद के साथ वह मतदान केंद्र में अपना वोट डालने के लिए आई हैं।

Udhampur: जिला ऊधमपुर में भी मतदान को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। डूडू बसंतगढ़ की 17 पंचायतों में सुबह 9 बजे तक 4.42 प्रतिशत मतदान हो चुका है। वहीं लाटी मोराथी की 15 पंचायतों में मतदान प्रतिशत 7.36 पहुंच गया है। यहां भी सर्दी काफी है परंतु मतदान डालने के लिए केंद्रों के बाहर लोगों की कतारें देखी जा रही हैं।

 

Udhampur: मतदान केंद्रों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी जरूरी दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है। कतारों में खड़े लोग जहां शारीरिक दूरी बनाए हुए हैं, वहीं केंद्रों के बाहर सुरक्षाकर्मी भी मतदाता को कक्ष में भेजने से पहले उसे सेनेटाइज कर रहे हैं। यही नहीं कई केंद्रों में तो मताधिकारी ने पीपीई कीट पहनी हुई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.