Jammu Kashmir: फारूक बोले- दिग्विजय ने कश्मीरियों की भावनाओं को समझा

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के अनुच्छेद 370 को लेकर दिए गए बयान पर नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री डा. फारूक अब्दुल्ला ने उनका आभार जताया।डा. फारूक ने कहा कि दिग्विजय सिंह ने कश्मीरियों की भावनाओं को समझकर ही यह बयान दिया है।

Vikas AbrolSun, 13 Jun 2021 08:18 AM (IST)
नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री डा. फारूक अब्दुल्ला

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के अनुच्छेद 370 को लेकर दिए गए बयान पर नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री डा. फारूक अब्दुल्ला ने उनका आभार जताया।

डा. फारूक ने कहा कि दिग्विजय सिंह ने कश्मीरियों की भावनाओं को समझकर ही यह बयान दिया है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर का जब भारत में विलय हुआ तो कुछ शर्ताें पर हुआ था और उनमें 370 भी एक थी। केंद्र सरकार को भी इस पर विचार करना चाहिए। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कश्मीर मसले पर इंसानियत और जम्हूरियत का वादा किया था, लेकिन 2019 में जो हुआ वह जम्हूरियत नहीं थी।

हम पाकिस्तानी नहीं हैं, हम भारतीय नागरिक हैं

डा. अब्दुल्ला ने कहा कि हम पाकिस्तानी नहीं हैं। हम भारतीय नागरिक हैं। हम भारत में एक पार्टी हैं और जब हम अपनी बात करते हैं तो हम पर पाकिस्तानी एजेंट होने का लेबल लगा दिया जाता है। खुदा का वास्ता है हम पर पाकिस्तान का लेबल मत लगाइए। अगर कश्मीरियों का दिल जीतना है तो उन्हेंं वह सब कुछ लौटाना होगा जो पांच अगसत 2019 को कश्मीरियों से छीना गया है।

पाकिस्तान की भाषा बोल रहे दिग्विजय : कविंद्र गुप्ता

भाजपा नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व उपमुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता ने दिग्विजय सिंह के बयान की निंदा की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता अब खुलकर पाकिस्तान की बोली बोलने लगे हैं। दिग्विजय सिंह का बयान अत्यंत शर्मनाक है। पाकिस्तान चाहता है कि यहां अनुच्छेद 370 बहाल हो और दिग्विजय सिंह भी यही भाषा बोल रहे हैं। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.