Jammu Kashmir: डोगरा सहायता केंद्र की मांग, पंचायत स्तर पर कोविड केयर सेंटर मजबूत किए जाएं

डोगरा सहायता केंद्र ने जिला कठुआ के दूरदराज इलाकों में पंचायत स्तर पर कोविड केयर सेंटर मजबूत करने की मांग की है। कठुआ के खौड सहायता केंद्र के पदाधिकारियों से ऑलाइन बैठक में चाढ़क ने क्षेत्र की स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा करते हुए क्षेत्र में जागरूकता अभियान शुरू किया।

Vikas AbrolWed, 16 Jun 2021 09:09 PM (IST)
चाढ़क ने कहा कि जिला कठुआ के दूरदराज क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर काम करने की जरूरत है।

जम्मू, जागरण संवाददाता । डोगरा सहायता केंद्र ने जिला कठुआ के दूरदराज इलाकों में पंचायत स्तर पर कोविड केयर सेंटर मजबूत करने की मांग की है। कठुआ के खौड सहायता केंद्र के पदाधिकारियों से ऑलाइन बैठक में चाढ़क ने क्षेत्र की स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा करते हुए क्षेत्र में जागरूकता अभियान शुरू किया।

चाढ़क ने कहा कि जिला कठुआ के दूरदराज क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर युद्ध स्तर पर काम करने की जरूरत है।जम्मू और कठुआ जिलों के दूरदराज और सीमांत क्षेत्रों के कोविड केयर केंद्रों में सभी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई जानी चाहिए। पूर्व मंत्री गुलचैन सिंह चाढ़क ने कहा कि बेशक जिला कठुआ में स्थिति नियंत्रण में रही लेकिन कोरोना काल में जो हालत हुई है। उससे सबक लेते हुए, चाहिए कि पंचायत स्तर पर ऐसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएं कि लोगों को अपने क्षेत्र में ही स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकें।

समन्वय समिति के संयोजक सेवानिवृत्त सीनियर केएएस अधिकारी अजय खजूरिया ने दूरस्थ सीमा की आबादी की पीड़ा को कम करने के लिए खौड में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और सीमा पट्टी में कनेक्टिविटी सहित स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता पर जोर दिया। आपात स्थिति से निपटने के लिए प्रत्येक केंद्र में ऑक्सीजन और दूसरे उपकरणों को संभालने के लिए प्रशिक्षित चिकित्सा कर्मचारियों को तैनात किया जाना चाहिए। बिजली की विफलता के दौरान आवश्यक उपकरणों के निरंतर कामकाज को सुनिश्चित करने के लिए उचित पावर बैकअप व्यवस्था भी करने की आवश्यकता है।

चाढ़क ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों की रिपोर्टों के अनुसार बेहद खराब इंटरनेट कनेक्टिविटी के कारण दूरदराज क्षेत्र के लोग 18-44 टीकाकरण कार्यक्रम के लिए खुद को ऑनलाइन पंजीकृत कराने में असमर्थ हैं।उन्होंने आगे खुलासा किया कि डोगरा सहायता केंद्र भी मास्क, हैंड सैनिटाइज़िंग आइटम और सूचना पैम्फलेट युक्त किट वितरित करना जारी रखेगा।चाढ़क ने स्वास्थ्य अधिकारियों, पंचायती राज संस्थाओं और जनता के सदस्यों के बीच सक्रिय संपर्क बनाए रखने में यूनिट के सदस्यों की भूमिका को भी रेखांकित किया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि पंचायत स्तर पर प्रशासन द्वारा जो सुविधाएं दी जा रही हैं, वह लोगों तक पहुंच रही हैं कि नहीं। इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि वहां आने वाले सभी मरीजों की तरीके से जांच हो और उसकी पूरी मदद हो।

ऑनलाइन बैठक में भाग लेने वालों में सेवानिवृत्त कर्नल करण सिंह जम्वाल, सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर डा. पुरुषोत्तम सधोत्रा, एमएस जम्वाल, समर देव सिंह, एसके रेखी, गंभीर देव सिंह, दिनेश चौहान, अनिल पाधा, रघुबीर सिंह, सतपाल, निर्मल सिंह, सुखदेव सिंह, सुरेश शर्मा आदि शामिल थे।- 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.