Jammu: कर्ज के नाम पर ठगी करने वालों पर केस दर्ज, दो फीसद ब्याज दर पर कर्ज देने का दिया प्रलोभन

क्राइम ब्रांच ने दोनों आरोपिताें पर केस दर्ज करके आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

New Delhi Loan Fraud Case पीड़ित को आश्वासन दिया गया कि 15 दिनों के भीतर उसके बैंक खाते में 40 लाख रुपये ट्रांसफर हो जाएंगे लेकिन ऐसा न होने की सूरत में पीड़ित को ठगी का एहसास हुआ।

Rahul SharmaThu, 06 May 2021 12:55 PM (IST)

जम्मू : क्राइम ब्रांच जम्मू ने कर्ज के नाम पर ठगी करने के आरोप में राजेश राय निवासी करोल बाग नई दिल्ली, विकास कुमार निवासी छत्तीसगढ़ व अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोपितों ने जम्मू के बठिंडी निवासी शमस-उद-दीन से फोन पर संपर्क किया और खुद को श्री राम फाइनेंस कंपनी जयपुर का कर्मचारी बताकर दो फीसद ब्याज दर पर कर्ज मुहैया करवाने की प्रलोभन दिया।

आरोपितों ने कहा कि वह जरूरतमंदों की ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करके कर्ज मुहैया करवाते है। पीड़ित को 40 लाख रुपये का कर्ज देने के नाम पर उन्होंने प्रोसेसिंग चार्ज के नाम पर मोटी रकम ट्रांसफर करवाई। पीड़ित को आश्वासन दिया गया कि 15 दिनों के भीतर उसके बैंक खाते में 40 लाख रुपये ट्रांसफर हो जाएंगे लेकिन ऐसा न होने की सूरत में पीड़ित को ठगी का एहसास हुआ।

वह स्वयं जयपुर गया और श्री राम फाइनेंस कंपनी में जाकर पता किया तो पता चला कि उक्त नाम का कोई कर्मचारी वहां काम नहीं करता। इस पर पीड़ित ने क्राइम ब्रांच में शिकायत दर्ज करवाई। प्रारंभिक जांच में आरोप साबित होने पर क्राइम ब्रांच ने दोनों आरोपिताें पर केस दर्ज करके आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

बिश्नाह में पूर्व ब्लाक डेवलपमेंट अधिकारी के घर एंटी करप्शन ब्यूरो का छापा: बिश्नाह वार्ड नंबर एक में रह रहे सेवानिवृत ब्लाक डेवलपमेंट अधिकारी राजेंद्र भगत के घर में एंटी क्रप्शन ब्यूरो की टीम ने बुधवार को दबिश दी। यह छापेमारी राजेंद्र भगत के कार्यकाल में पाई गई कुछ अनियमितताओं के चलते की गई है जबकि उनके निवास से ब्यूरो की टीम कुछ दस्तावेज भी जब्त कर अपने साथ ले गई। यह कार्रवाई ब्यूरो के अधिकारी डीएसपी शिव कुमार के नेतृत्व में की गई और टीम के साथ मजिस्ट्रेट भी मौजूद थे जिनके समक्ष टीम ने राजेंद्र भगत के घर से दस्तावेज व अन्य सबूत जुटाकर अपने कब्जे में लिए। इस दौरान पुलिस का भी सहयोग लिया गया और कार्रवाई के दौरान न तो परिवार के सदस्य को बाहर और न ही किसी को बाहर से अंदर जाने की इजाजत दी गई। सूत्रों के राजेंद्र भगत के पास से ब्यूरो की टीम को बेनामी संपत्ति के दस्तावेज भी मिले हैं जिन्हें जब्त कर लिया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.