Jammu Kashmir: राजौरी को फिर आतंकी हिंसा में झोंकने की साजिश, जिले में एक माह में तीन मुठभेड़, छह आतंकी ढेर

आतंकी संगठनों द्वारा जम्मू संभाग के राजौरी और पुंछ जिलों में फिर आतंकी गतिविधियां बढ़ाने की आशंका सही साबित हो रही है। पिछले एक महीने में राजौरी जिले में ही तीन मुठभेड़ हो चुकी हैं जिसमें छह आतंकी मारे जा चुके हैं।

Vikas AbrolSun, 08 Aug 2021 08:16 AM (IST)
आतंकी संगठन दोनों जिलों में नापाक गतिविधियां बढ़ाने के लिए साजिश रच रहे हैं।

राजौरी, गगन कोहली : आतंकी संगठनों द्वारा जम्मू संभाग के राजौरी और पुंछ जिलों में फिर आतंकी गतिविधियां बढ़ाने की आशंका सही साबित हो रही है। पिछले एक महीने में राजौरी जिले में ही तीन मुठभेड़ हो चुकी हैं, जिसमें छह आतंकी मारे जा चुके हैं।

खुफिया एजेंसियों ने हाल ही में राजौरी और पुंछ जिले के लिए अलर्ट जारी करते हुए आगाह किया था कि आतंकी संगठन दोनों जिलों में नापाक गतिविधियां बढ़ाने के लिए साजिश रच रहे हैं। सुरक्षा एजेंसियों ने यह भी कहा था कि कुछ आतंकी घुसपैठ भी कर सकते हैं। इसको लेकर सतर्कता बढ़ा दी गई थीं।

राजौरी जिले में पहली मुठभेड़ आठ जून को सुंदरबनी के दादल इलाके में हुई थी, जहां दो आतंकी मारे गए थे, जबकि गोलीबारी में घायल हुए सेना के दो जवान शहीद हो गए थे। उसी दिन एक और मुठभेड़ नौशहरा के कलाल इलाके में हुई थी, जिसमें एक आतंकी मारा गया था, जबकि सेना के दो जवान घायल हो गए थे। तीसरी मुठभेड़ गत शुक्रवार को थन्ना मंडी के भंगाई क्षेत्र में हुई, जिसमें दो आतंकी मारे गए।

आतंकियों का गढ़ रहा है थन्ना मंडी का भंगाई क्षेत्र :

किसी समय थन्ना मंडी तहसील का भंगाई क्षेत्र आतंकियों का गढ़ रहा है। वर्ष 2004 में इस क्षेत्र में आतंकियों द्वारा घात लगाकर किए गए हमले में पुलिस के डीएसपी विरेंद्र सिंह जयपुरिया शहीद हो गए थे। इसके अलावा इस क्षेत्र में कई आतंकी मारे गए हैं और कई बार आतंकियों ने सुरक्षा बल पर हमले किए हैं। वर्ष 2009 में इसी के साथ वाले क्षेत्र अप्पर शाहदरा शरीफ में एक घर में आए आतंकी को स्थानीय महिला रुकसान कौसर ने कुल्हाड़ी के साथ काट कर मार दिया था। कुछ वर्ष पहले सुरक्षा बलों ने क्षेत्र को आतंकी मुक्त कर दिया था।

एक माह में 30 से अधिक सर्च आपरेशन :

संबंधित अधिकारियों ने नाम न छापने पर कहा कि आतंकी संगठन राजौरी और पुंछ में फिर से आतंकवाद को जिंदा करने का नाकाम प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक माह में जिले में 30 से अधिक सर्च आपरेशन चलाए गए हैं। आतंकियों की हलचल को देखते हुए सेना व पुलिस पूरी तरह से सतर्क है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.