Kashmir: आखिर पकड़ी गई नरभक्षी मादा तेंदुआ, बड़गाम में चार वर्षीय बच्ची अदा को तेंदुए ने मार डाला था

चीफ वार्डन वाइल्ड लाइफ कश्मीर रशीद नक्काश ने पकड़े गए तेंदुए को लेकर उठाए जा रहे सवालों पर कहा कि हमने इसके डीएनए के नमूने भी लिए हैं। इन नमूनों की तुलना बची को उठाकर ले जाने वाले तेंदुए के डीएनए के उपलब्ध नमूनों से की जाएगी।

Rahul SharmaWed, 16 Jun 2021 09:54 AM (IST)
मादा तेंदुआ का वजन करीब 80 किलो है।

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : बड़गाम में आतंक का पर्याय बनी नरभक्षी मादा तेंदुआ आखिर पिंजरे में आ ही गई। इसे जिला उपायुक्त बड़गाम के कार्यालय परिसर के साथ सटी नर्सरी में पकड़ा गया। इस बीच, स्थानीय लोगों ने वन्य जीव विभाग के दावे पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह कैसे कह सकते हैं कि यह वही नरभक्षी तेंदुआ है, जिसने क्षेत्र में आतंक मचा रखा है।

इसी माह तीन जून को बड़गाम के ओमपोरा इलाके में अपने घर के आंगन में खेल रही चार वर्षीय बच्ची अदा को नरभक्षी मादा तेंदुआ उठाकर ले गई थी। बाद में अदा का क्षतविक्षत शव मिला था। इस घटना का नोटिस लेते हुए प्रशासन ने नरभक्षी मादा तेंदुए को पकड़ने और पकड़ में न आने पर उसे मार गिराने का आदेश जारी करते हुए संबंधित वन्य रेंज अधिकारी को उसकी लापरवाही के लिए भी निंलबित कर दिया था।

वन्य जीव विभाग ने नरभक्षी हो चुके मादा तेंदुए को पकड़ने के लिए उसके पैरों के निशान के आधार पर आसपास के इलाके में एक अभियान चलाया, लेकिन सफलता नहीं मिल रही थी। इस दौरान बड़गाम जिला उपायुक्त कार्यालय परिसर के पास नर्सरी में उसे दो-तीन बार देखा भी गया।

चीफ वार्डन वाइल्ड लाइफ कश्मीर रशीद नक्काश ने बताया कि नरभक्षी मादा तेंदुआ पकड़ी गई है। अब वह पिंजरे में कैद हो चुकी है। उन्होंने कहा कि हम इसके पंजे के निशानों के आधार पर लगातार इसका पीछा कर रहे थे। इसका वजन करीब 80 किलो है।

अलबत्ता, अदा के परिजनों और ओमपोरा के निवासियों ने वन्य जीव विभाग के दावे पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि जब अदा को मारने वाले तेंदुए के पंजे के निशान किसी फारेंसिक टीम ने लिए ही नहीं तो फिर वन्य जीव विभाग ने कैसे मान लिया कि यह वही नरभक्षी तेंदुआ है। अदा के पिता मुदस्सिर ने कहा कि मैं नहीं चाहता कि हमारे इलाके का कोई दूसरा बच्चा तेंदुए का शिकार बने। इसलिए मेरी सरकार से गुजारिश है कि वह इस बात को यकीनी बनाए कि हमारे इलाके में कोई जंगली जानवर न हो। मुदस्सिर और उसके एक पड़ोसी एजाज ने कहा कि मार्च के दौरान इलाके में एक सीसीटीवी कैमरे में पांच तेंदुओं की तस्वीर कैद हुई थी। यह हम सभी के लिए डर और चिंता का कारण है।

तेंदुए के डीएनए के नमूनों से की जाएगी : चीफ वार्डन वाइल्ड लाइफ कश्मीर रशीद नक्काश ने पकड़े गए तेंदुए को लेकर उठाए जा रहे सवालों पर कहा कि हमने इसके डीएनए के नमूने भी लिए हैं। इन नमूनों की तुलना ब'ची को उठाकर ले जाने वाले तेंदुए के डीएनए के उपलब्ध नमूनों से की जाएगी। फिलहाल, हम पंजों के निशान और जिस इलाके में यह घूम रहा था, उसके आधार पर ही दावा करते हैं कि यह वही नरभक्षी मादा तेंदुआ है। पकड़ी गई मादा तेंदुए को फिलहाल डाचीगाम नेशनल पार्क में पशु चिकित्सकों की कड़ी निगरानी में रखा जाएगा। वह निर्धारित प्रोटोकाल के तहत इसके कुछ टेस्ट करेंगे। इसे पकडऩे के लिए करीब 100 वन्य जीव विभाग के कॢमयों और पुलिस के कर्मी लगे हुए थे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.