Jammu Kashmir : हत्याओं का सिलसिला थमते ही जम्मू कश्मीर फिर बन जाएगा राज्य : कौल

कश्मीर में एक सप्ताह से डेरा डाले बैठे संगठन महामंत्री अशोक कौल ने सोमवार को बांडीपोरा में जिला कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी का आधार बढ़ाने के लिए की जाने वाली कार्यवाही पर चर्चा की। इससे पहले उन्होंने कई जिलों में आगे की रणनीति तय की।

Lokesh Chandra MishraPublish:Mon, 29 Nov 2021 08:15 PM (IST) Updated:Tue, 30 Nov 2021 07:55 AM (IST)
Jammu Kashmir : हत्याओं का सिलसिला थमते ही जम्मू कश्मीर फिर बन जाएगा राज्य : कौल
Jammu Kashmir : हत्याओं का सिलसिला थमते ही जम्मू कश्मीर फिर बन जाएगा राज्य : कौल

जम्मू, राज्य ब्यूरो : भाजपा के संगठन महामंत्री अशोक कौल का कहना है कि टारगेट किलिंग का सिलसिला थमते ही जम्मू कश्मीर का राज्य दर्जा फिर से बहाल कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कश्मीर में भाजपा विरोधी दल इस समय प्रदेश का राज्य का दर्जा बहाल करने के मुद्दे पर राजनीति कर रहे हैं।

उत्तरी कश्मीर के बांडीपोरा में प्रदेश भाजपा की जिला कार्यकारिणी की बैठक में सोमवार को कौल ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी ने 50 पार का लक्ष्य रखा है। उन्होंने स्पष्ट किया कि जब जम्मू कश्मीर में लोगों को चुन-चुनकर मारने का सिलसिला थम जाएगा। लोग बिना किसी भय के आ-जा सकेंगे, उस समय केंद्र शासित प्रदेश का राज्य दर्जा बहाल हो जाएगा। भाजपा नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह संसद में कह चुके हैं कि जम्मू कश्मीर के राज्य का दर्जा बहाल कर दिया जाएगा। भाजपा भी इस मांग का पूरा समर्थन करती है।

कौल ने कहा कि कश्मीर में उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को आतंकी निशाना बना रहे हैं। इसके अलावा इन हमलों में मारे जा रहे लोग या तो गैर कश्मीरी हैं या फिर गैर मुस्लिम। कुछ मुस्लिमों को भी निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि परिसीमन आयोग के पास अपनी रिपोर्ट सौंपने के लिए मार्च 2022 तक का समय है। परिसीमन आयोग की रिपोर्ट के आधार पर जम्मू कश्मीर में विधानसभा की सीटें 83 से बढ़कर 90 हो जाएंगी। यह कार्रवाई होने के बाद जम्मू कश्मीर में विधानसभा हो जाएंगे।