Kashmir: कोरोना कर्फ्यू को लागू करवाने के चक्कर में मर्यादा भूला नौकरशाह, महिलाओं को छड़ी से खदेड़ने का वीडियो हुआ वायरल

मंडलायुक्त कश्मीर पीके पोले ने कहा कि इस मामलें का संज्ञान लिया गया है।

उत्तरी कश्मीर के बारामूला में बुधवार को कोरोना कर्फ्यू को लागू कराने के उत्साह में एक नौकरशाह अपनी मर्यादा भूल गए । उन्होंने हाथ जोड़ रही एक नहीं दो-तीन महिलाओं को छड़ी से खदेड़ा। इसी पूरी घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

Vikas AbrolWed, 12 May 2021 06:55 PM (IST)

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। उत्तरी कश्मीर के बारामूला में बुधवार को कोरोना कर्फ्यू को लागू कराने के उत्साह में एक नौकरशाह अपनी मर्यादा भूल गए । उन्होंने हाथ जोड़ रही एक नहीं, दो-तीन महिलाओं को छड़ी से खदेड़ा। इसी पूरी घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। भारतीय स्टेट बैंक की बारामुला शाखा के कर्मी तो अपने प्रबंधक के साथ हुए दु‌र्व्यवहार से आहत हो हड़ताल पर जाने की धमकी दे रहे हैं। मंडलायुक्त कश्मीर पीके पोले ने कहा कि इस मामलें का संज्ञान लिया गया है। जांच के आधार पर संबंधित अधिकारी के खिलाफ कठोेर कार्रवाई की जाएगी। इस बीच, आज पूृरी वादी में कोरोना कर्फ्यू को प्रशासन ने सख्ती से लागू किया और आवश्यक सेेवाओं के अलावा किसी अन्य को कोई राहत नहीं दी गई।

पूरे प्रदेश में 17 मई तक काेरोना कर्फ्यू को लागू किया गया है। प्रशासन ने जरुरी साजाे सामान की खरीद के लिए लोगाें को सुबह चार घंटे की ढील दे रखी है। मंगलवार को वादी में ईद की खरीददारी के जोश में लोग लॉकडाउन की पाबंदियां भूल गए थे। कई जगह सड़कों पर घंटों ट्रैफिक जाम रहा। पुलिस को कई इलाकों में निर्धारित समय से पहले ही जबरन दुकानों को बंद कराना पड़ा। इस बीच, टेस्टिंग के दौरान कश्मीर में आठ प्रतिष्ठित बेकरियां के कारीगर व कर्मी कोरोना पॉजिटिव भी पाए गए।

प्रशासन ने आज सुबह से ही पूरी वादी में कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से लागू किया। पूरी वादी में आज सामान्य जनजीवन पूरी तरह ठप रहा। सभी दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे। सड़कों पर वाहनों की आवाजाही भी लगभग बंद रही। श्रीनगर के लालचौक समेत वादी के सभी प्रमुख इलाके और बाजार दिनभर सूने रहे। अगर कई लोग घरों से बाहर निकले तो पुलिस व संबधित प्रशासनिक अधिकारियों ने उन्हें उनके घरों में खदेड़ दिया।

इसी दौरान बारामुला में कोरोना कर्फ्यू को लागू कराने के लिए वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी खुद मैदान में उतर आए। बारामुला के अतिरिक्त जिला उपायुक्त मोहम्मद अहसान भी इन अधिकारियों में शामिल थे। हाथों में छड़ी लिए वह लोगों को वापस हांकते हुए नजर आए। उन्होंने दो तीन महिलाओं को छड़ी से कथित तौर पर पीट भी दिया। यह महिलाएं उनसे हाथ जोड़कर विनती करती रह गई। इस पूरी घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस पर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मोहम्मद अहसान के आचरण की कड़ी निंदा की है। उन्होंने इसे गुंडागर्दी करार दिया है।

एडीसी बारामुला के दु‌र्व्यवहार  से कई बैंक अधिकारी भी प्रताड़ित हुए हैं। भारतीय स्टेट बैंक में प्रबंधक शादी लाल ने कहा कि यह सरासर गुंडागर्दी है। मेरे वाहन पर केंद्रीय वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किया गया स्टिकर लगा हुआ था, जिस पर मुझे कोरोना कर्फ्यू में अपने कार्यालय आने जाने की अनुमति की पुष्टि होती है। इसके बावजूद एडीसी ने मेरे साथ मारपीट की है।

एडवोकेट वसीम ने कहा कि यह निंदनीय है। एक प्रशासक का ऐसा व्यवहार अनुचित आैर कानून के खिलाफ है। अगर किसी ने कानून तोड़ा है ताे उसके खिलाफ मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाए, उसे सार्वजनिक तौर पर पीटा नहीं जा सकता । किसी महिला के साथ इस तरह का व्यवहार पूरी तरह से अनुचित है।

मंडलायुक्त कश्मीर पीके पोले से जब इस संदर्भ में संपर्क किया गया तो उन्होंन कहा कि हम मामले की जांच कर रहे हैं। पहले यह तय किया जाएगा कि आखिर किन परिस्थितियों में यह घटना हुई है और उसके बाद हम कानून के तहत उचित कार्रवाई करेंगे। अलबत्ता, मोहम्मद अहसान से जब इस घटना के संदर्भ में सपंर्क करने का प्रयास किया गया तो वह उपलब्ध नहीं हो पाए। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.