Kashmir: बालीवुड कश्मीर का और कश्मीरी फिल्मों के दीवाने, कभी सिनेमा की टिकटों के लिए होती थी हाथापाई

अनुच्छेद-370 हटने के बाद घाटी की स्थिति में सुधार आने के साथ बालीवुड ने फिर यहां का रुख किया और यहां की फिजाओं में फिर से रोल कैमरा और एक्शन की आवाज गूंजने लगी। उम्मीद है अब नई फिल्म नीति बनने के बाद यहां बंद पड़े सिनेमाहाल भी दोबारा खुलेंगे।

Rahul SharmaFri, 06 Aug 2021 09:55 AM (IST)
यह पालिसी तब ही सफल होगी जब यह सही लोगों के हाथों में दी जाएगी। (FILE PHOTO)

श्रीनगर, रजिया नूर : कश्मीर की कली, सिलसिला, बेमिसाल, बेताब, जब-जब फूल खिले, जब तक है जान और इसी तरह बालीवुड की कई सुपर हिट फिल्मों की बात करें तो इनकी सफलता का एक बड़ा कारण मजबूत स्टोरी के साथ इन फिल्मों को घाटी के अद्भुत नजारों के बीच फिल्माना भी है।

कश्मीर के बेमिसाल हुस्न ने हमेशा बालीवुड को अपनी तरफ खींचा है और यही कारण है कि दशकों से घाटी बालीवुड से जुड़े लोगों की पहली पसंद रही है। यहां के पहाड़, चिनार के लंबे-लंबे पेड़, बर्फ से ढकी चोटियां, डल झील समेत अन्य लोकेशन पर बालीवुड शुरू से फिदा रहा है। यही नहीं, घाटी के लोग भी हिंदी सिनेमा के दीवाने हैं। यही कारण है कि फिल्म की शूटिंग के लिए जब भी बालीवुड से कोई टीम कश्मीर में अपना सेट लगाती तो वहां फिल्म के दीवानों का सैलाब उमड़ पड़ता था।

आतंकवाद के दौर में भी जारी रहा नाता : वर्ष 1989 में घाटी में फूटे आतंकवाद के दौर ने बालीवुड को घाटी से दूर कर दिया। इस बीच भी फिल्म प्रेमियों ने बालीवुड के साथ नाता बनाए रखा और सिनेमाघर बंद रहने के बावजूद वीसीआर, वीसीडी व केबल पर फिल्मों का आनंद उठाते रहे। हालांकि इस दौरान भी बीच-बीच में फिल्मों की शूटिंग जारी रही।

फिल्म व्यवसाय पूरी तरह गतिशील होने की उम्मीद : अनुच्छेद 370 हटने के बाद घाटी की स्थिति में सुधार आने के साथ ही बालीवुड ने फिर यहां का रुख किया और यहां की फिजाओं में फिर से रोल, कैमरा और एक्शन की आवाज गूंजने लगी। अब जम्मू कश्मीर के लिए फिल्म नीति जारी होने के बाद उम्मीद की जा रही है कि प्रदेश में फिल्म व्यवसाय पूरी तरह गतिशील होगा। साथ ही बालीवुड में अपना भविष्य बनाने के इच्छुक लोगों को एक मंच मिलेगा। वीरवार को सार्वजनिक की गई इस फिल्म नीति का लोगों विशेषकर अभिनय से जुड़े लोगों ने स्वागत किया है। अलबत्ता उनका कहना है कि यह नीति तभी प्रभावशाली होगी, जब इसे प्रमोट करने के लिए सही लोगों को चुना जाएगा।

उम्मीद है अब सिनेमाहाल फिर खुलेंगे : फिल्म प्रेमी और लाल चौक के पास पेलेरियम सिनेमा के सामने सीडी की दुकान करने वाले मियाज अहमद ने कहा कि कभी यहां सिनेमाघरों में टिकट के लिए लोगों के बीच हाथापाई तक की नौबत आ जाती थी। अब सिनेमाघर बंद हैं। इसी तरह फिल्म प्रेमी अब्दुल अजीज जान ने कहा कि याद है मुझे जब यहां के नीलम सिनेमा में फिल्म मुगल-ए-आजम की टिकट के लिए मारपीट हुई थी। दोनों ने कहा कि उम्मीद है अब नई फिल्म नीति बनने के बाद यहां बंद पड़े सिनेमाहाल भी दोबारा खुलेंगे।

पेशेवर लोगों का पैनल बनाकर फिल्म नीति प्रमोट करने की जिम्मेदारी सौंपे : बालीवुड की फिल्म हैदर, लैला मजनू, बैंड बाजा बारात, हरुद, बोस्ट कार्ड आदि में अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके स्थानीय अभिनेता अख्तर हुसैनी ने कहा, हम इस फिल्म नीति का स्वागत करते हैं। अच्छी शुरुआत है। इससे कश्मीर और बालीवुड के बीच रिश्ता और मजबूत होगा। साथ ही यहां अभिनय, फिल्म निर्माण, निर्देशन, कोरियोग्राफी आदि में रुचि रखने वाले लोगों के साथ अन्य बेरोजगार लोगों को भी फायदा मिलेगा, लेकिन यह पालिसी तब ही सफल होगी जब यह सही लोगों के हाथों में दी जाएगी। अख्तर ने कहा, यहां टैलेंट की कोई कमी नहीं। सही मंच न मिलने के कारण घाटी के युवा अपना टैलेंट नहीं दिखा पा रहे हैं। मुझे भी अगर सही मंच मिला होता, तो मैं भी इस इंडस्ट्री में बहुत आगे तक पहुंच गया होता। मैंने दूरदर्शन के लिए बहुत काम किया, लेकिन किसी ने मेरा हौसला नहीं बढ़ाया। हां, बालीवुड इंडस्ट्री से जुड़े कुछ लोगों ने मुझे रास्ता दिखाया और मुझे बालीवुड की कुछ फिल्मों में अपने अभिनय को दर्शाने का मौका मिला। अख्तर ने कहा, मेरा एक ही सुझाव है कि यहां पेशेवर लोगों का एक पैनल बना उन्हेंं फिल्म नीति को प्रमोट करने की जिम्मेदेरी सौंपी जाए।

स्थानीय कलाकारों, फिल्म निर्माताओं व निर्देशकों को मिले मौका : फिल्म बजरंगी भाई जान, फेनटम, केसरी, जोली एलएलबी-2, केदामथ जैसी फिल्मों में अपने अभिनय की धाक जमाने वाले स्थानीय प्रसिद्ध बालीवुड अभनिनेता सरवर ने फिल्म नीति का स्वागत करते हुए कहा कि इससे प्रदेश में फिल्म व्यवसाय को बढ़ावा मिलेगा। सरवर ने कहा, मेरा सुझाव है कि शुरुआत में स्थानीय कलाकारों, फिल्म निर्माताओं व निर्देशकों को इसमें शामिल किया जाए। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.