Ramban Accident : हादसे के चार दिन बाद आरपीएफ के एसआइ राकेश की पत्नी का शव बरामद

चिनाब दरिया में समाए आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर उसकी पत्नी और दो बच्चों में से एक उसकी पत्नी का शव बरामद हो गया। शव घटनास्थल से करीब 50 किलोमीटर दूर ऊधमपुर जिले के पंचैरी अंतर्गत पड़ने वाले दमनोत में दरिया से बरामद हुआ है।

Lokesh Chandra MishraFri, 30 Jul 2021 02:23 PM (IST)
शव घटनास्थल से करीब 50 किलोमीटर दूर ऊधमपुर जिले के पंचैरी अंतर्गत पड़ने वाले दमनोत में दरिया से बरामद हुआ

ऊधमपुर, अमित माही : चार दिन पहले सोमवार दोपहर को कार सहित चिनाब दरिया में समाए आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर, उसकी पत्नी और दो बच्चों में से एक उसकी पत्नी का शव बरामद हो गया। शव घटनास्थल से करीब 50 किलोमीटर दूर ऊधमपुर जिले के पंचैरी अंतर्गत पड़ने वाले दमनोत में दरिया से बरामद हुआ है। शव वीरवार रात को ही मिल गया था। लेकिन उसकी पहचान शुक्रवार की सुबह हुई। उसके बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए रियासी जिला अस्पताल भेज दिया गया है।

बता दें बीते सोमवार को एक कार रामबन जिले के मेहाड़ इलाके में चिनाब दरिया में गिर कर लापता हो गई थी। कार में आरपीएफ इंस्पेक्टर राकेश कुमार भगत, उनकी पत्नी आशा, बेटे संचित और मेहुल सवार थे। हादसे के बाद से ही लापता कार और परिवार की तलाश की जा रही थी। लापता लोगों की तलाश के लिए एनडीआरएफ की टीम डीप डाईवर्स के साथ रामबन पहुंची। वीरवार को उन्होंने चिनाब में उतर कर लापता लोगों की तलाश करने का प्रयास किया, मगर तेज बवाह के कारण वह चंद फीट से आगे नहीं जा पाए।

इसी बीच वीरवार रात को ऊधमपुर जिला के पंचैरी इलाके में रियासी के साथ लगते दमनोत इलाके में लोगों ने एक महिला का शव रात को देखा तो पुलिस को सूचित किया। उसके बाद पंचैरी और दमनोत क्राइम पोस्ट के जवानों ने स्थानीय लोगों की मदद से महिला के शव को दरिया से बाहर निकाल लिया। दमनोत से तकरीबन आठ घंटे की पैदल दूरी पर स्थित इलाके में बरामद शव को रात के समय बारिश के बीच लाना संभव नहीं था। उसके चलते रात को शव को वहीं पर रखा गया। इसके बाद सुबह उसे रियासी जिला अस्पताल के शवगृह में शिनाख्त और पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

पंचैरी या ऊधमपुर पहुंचाने के लिए एक दिन लग जाता इसलिए शव को रियासी भेजा

एसएचओ पंचैरी विकास डोगरा ने बताया कि दमनोत के रियासी जिला की सीमा से सटे अढोक क्षेत्र में चिनाब से बीती रात एक महिला का शव बरामद हुआ है। यह रामबन जिला में कार चिनाब में गिरने से परिवार सहित लापता हुए राकेश कुमार की पत्नी आशा का प्रतीत हो रहा है। पंचैरी या ऊधमपुर पहुंचाने के लिए एक दिन लग जाता, इसलिए शव को चार घंटे की पैदल दूरी पर स्थित रियासी जिला अस्पताल में भिजवा दिया है। राकेश के परिजनों को सूचित कर दिया वह लोग वहां पर पहुंच रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.