लद्दाख को राज्य बनाने की मांग भाजपा को नामंजूर, कार्यकारिणी की बैठक में हुआ फैसला

प्रदेश पदाधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वे लोगों को मंडल स्तर पर समझाएं कि लद्दाख को राज्य बनाना उचित नहीं है। बहुत सोच समझ करे इस विकास की राह पर अग्रसर करने के लिए केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है।

Vikas AbrolWed, 24 Nov 2021 10:27 AM (IST)
प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक की अध्यक्षता कर रहे भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व लद्दाख भाजपा के प्रभारी तरुण चुग।

जम्मू, राज्य ब्यूरो। लद्दाख को राज्य बनाने की मांग प्रदेश भाजपा को मंजूर नहीं है। लद्दाख भाजपा की लेह, कारगिल जिला इकाईयां राज्य बनाने की मांग को लेकर राजनीति कर रहे राजनीतिक, सामाजिक व मजहबी संगठनों की असलियत बताकर उन्हें लोगों में एक्सपोज करेंगी।

पार्टी सूत्रों के अनुसार, यह रणनीति लेह में लद्दाख भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में बनी। इस दौरान प्रदेश पदाधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वे लोगों को मंडल स्तर पर समझाएं कि लद्दाख को राज्य बनाना उचित नहीं है। बहुत सोच समझ करे इस विकास की राह पर अग्रसर करने के लिए केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है। ऐसे में इस मुद्दे पर राजनीति करने वाले न तो लद्दाख के और न ही क्षेत्र के निवासियों के ही हितेषी हैं। ऐसे में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक की अध्यक्षता कर रहे भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व लद्दाख भाजपा के प्रभारी तरुण चुग ने पार्टी कार्यकर्ताओं को लद्दाख में भाजपा को सशक्त बनाने के लिए लोगों के बीच जाकर काम करने के लिए कहा।

चुग ने कहा कि मोदी सरकार लद्दाख के तेज विकास के प्रति समर्पित है। ऐसे में कार्यकर्ताओं की जिम्मेवारी बनती है कि लोगों को केंद्र प्रायोजित योजनाओं को लाभ दिलाकर उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत बनाएं।लद्दाख भाजपा कार्यकारिणी की बैठक में तरुण चुग मंगलवार के साथ साथ लद्दाख्, जम्मू कश्मीर भाजपा के संगठन महामंत्री अशोक कौल, लद्दाख के सांसद जामयांग सेरिंग नाम्याल के साथ लेह, कारगिल भाजपा के सभी पदाधिकारी मौजूद थे। तरुण चुग ने प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक का मंगलवार को दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया था। इस दौरान लद्दाख एपेक्स बाडी व कारगिल डेमोक्रेटिक अलायंस के छह दिसंबर को राज्य बनाने की मांग पर लद्दाख बंद को विकास विरोधी करार दिया गया। पार्टी नेताओं ने इस लोगों को गुमराह करने की राजनीति का हिस्सा करार देते हुए कहा कि लद्दाख के लोग केंद्र शासित प्रदेश से खुश हैं। भाजपा विरोधी दल उन्हें मूर्ख नही बना सकते हैं।

बैठक में राज्य बनाने इस मांग को अस्वीकार कर इसका विराध करने का फैसला किया गया। चार घंटे की यह कार्यकारिणी दोपहर तीन बजे तक चली। इस दौरान बैठक में कार्यकर्ताओं को ऐसे इलाकों में अधिक जोर लगाने के लिए कहा गया यहां पर भाजपा का आधार कम है। इन इलाकों में भाजपा कार्यकर्ता विकास को तेजी देकर लोगों का विश्वास जीतेंगे।

बैठक में पारित राजनीतिक प्रस्ताव में कोविड महामारी के दौरान जल कल्याण के हुए कार्यों , 370 हटने के बाद विकास में तेजी, भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन, केंद्र प्रायोजित योजनाओं की कामयाबी, सेवा ही संगठन मुहिम, कृषि केंद्रित योजनाएं, विकास में तेजी जैसे मुद्दों को लेकर लोगों के बीच जाने की रणनीति बनी।इस दौरान विचार व्यक्त करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद लद्दाख में तेजी से हो रहा विकास लोगों द्वारा नकार दिए गए नेताओं को रास नही आ रहा है। इस दौरान लद्दाख में विकास व शांति का नया दौर शुरू होने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह के प्रयासों की सराहना की।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.