Jammu: ऑल जम्मू कश्मीर जाट सभा का घराना गांव का दौरा, बोले- प्रभावित किसानों से नाइंसाफी नहीं होने देंगे

ऑल जम्मू कश्मीर जाट सभा के सदस्यों ने इस दौरान गांववासियों से बातचीत की व उनकी समस्याओं को जानने का प्रयास किया और उन्हें यकीन दिलाया कि जाट सभा उनके साथ है और उनके साथ किसी भी सूरत मैं कोई नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी।

Vikas AbrolSat, 04 Dec 2021 06:15 PM (IST)
जाट सभा के सदस्यों ने इस दौरान गांववासियों से बातचीत की व उनकी समस्याओं को जानने का प्रयास किया।

आरएसपुरा, संवाद सहयोगी। ऑल जम्मू कश्मीर जाट सभा का एक शिष्टमंडल शनिवार को सीमांत गांव घराना पहुंचा। सभा राज्य अध्यक्ष सरदार मंजीत सिंह ने सभा के अन्य सदस्यों के साथ सीमावर्ती गांव घराना का दौरा कर लोगों से मुलाकात की। उन्होंने सभा की तरफ से गांव के किसानों को विश्वास दिलाया कि उनके साथ किसी तरह की नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी और जरूरत पड़ने पर जम्मू कश्मीर जाट सभा उनके समर्थन में आंदोलन करने से भी पीछे नहीं हटेगी। उनके साथ पूर्व मंत्री सुखनंदन चौधरी, पूर्व एमएलसी विक्रम रंधावा, जिला विकास परिषद सदस्य सुचेतगढ़ तरनजीत सिंह टोनी सहित अन्य लोग भी मौजूद रहे।

ऑल जम्मू कश्मीर जाट सभा के सदस्यों ने इस दौरान गांववासियों से बातचीत की व उनकी समस्याओं को जानने का प्रयास किया और उन्हें यकीन दिलाया कि जाट सभा उनके साथ है और उनके साथ किसी भी सूरत मैं कोई नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी। राज्य प्रधान सरदार मंजीत सिंह ने कहा कि गांव घराना वेटलैंड के विस्तार में जिन किसानों की खेती योग्य भूमि इस विस्तार में आ रही है उन किसानों को भूमि के बदले भूमि दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि गांव वेटलैंड बनाने के खिलाफ नहीं है लेकिन अगर किसानों को दबाने का प्रयास किया तो उनकी सभा किसानों के समर्थन में सड़कों पर उतरने से भी पीछे नहीं हटेगी।

सरदार मंजीत सिंह ने कहा कि सरकार को चाहिए कि पहले जिन किसानों की भूमि वैटलैंड विस्तार कार्य में आ रही है। उन किसानों को पहले भूमि दी जानी चाहिए ताकि यह किसान खेती करके अपने परिवार का पालन पोषण कर सकें। उन्होंने कहा कि सरकार को जबरन किसानों की जमीनों पर कब्जा करने का कोई हक नहीं है। पूर्वमंत्री सुखनंदन चौधरी सहित पूर्व एमएलसी विक्रम रंधावा ने कहा कि अगर सरकार गलत करती है तो उसके खिलाफ ऑल जम्मू कश्मीर जाट सभा लोगों को इंसाफ दिलाने के लिए उनके साथ खड़ी रहेगी।

डीडीसी सदस्य तरनजीत सिंह ने कहा कि सरकार की तानाशाही को किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांव के किसान वैटलैंड बनने के खिलाफ नहीं है लेकिन सरकार को चाहिए कि जिन किसानों की भूमि सरकार द्वारा ली जा रही है। उन किसानों को भूमि के बदले भूमि दी जानी चाहिए। इस संबंध में मंडलायुक्त जम्मू से भी मुलाकात की है और उनकी तरफ से भी आश्वासन दिया गया है कि किसानों के साथ किसी तरह की नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी। इस मौके पर अशोक चौधरी, नंबरदार बिशन दास, मोहनलाल चौधरी, देवराज, सुषमा चौधरी सहित अन्य गांववासी भी मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.