Jammu Kashmir: बिश्नाह में लगी आग से 40 कनाल गेहूं की फसल जलकर राख

नंबरदार सतपाल ने कहा कि किसानों को अभी तक धान की बर्बाद हुई फसल का मुआवजा नही मिला है

किसान अपनी फसल पकने पर देशभर में बैसाखी पर्व मना रहे थे तभी क्षेत्र के गांव खोजीपुर के खेतों में बिजली के तारों से निकली चिंगारी से किसानों की 40 कनाल जमीन में लगी गेहूँ की फसल जलकर राख हो गई।

Vikas AbrolTue, 13 Apr 2021 05:26 PM (IST)

बिश्नाह, संवाद सहयोगी । किसान अपनी फसल पकने पर देशभर में बैसाखी पर्व मना रहे थे तभी क्षेत्र के गांव खोजीपुर के खेतों में बिजली के तारों से निकली चिंगारी से किसानों की 40 कनाल जमीन में लगी गेहूँ की फसल जलकर राख हो गई। ग्रामीणों ने आग लगने की घटना की जानकारी दमकल विभाग को दी व आग बुझाने में जुट गए। जब तक दमकल विभाग की गाड़ी पहुंचती तब तक किसानों ने जी तोड़ मेहनत कर आग पर काबू पाया रही सही कसर दमकल की टीम ने मौके पर पहुंच पूरी कर दी । नही तो साथ लगती सैकड़ों एकड़ फसल भी जल कर राख हो जाती। जिन किसानों की फसल जली उनमें संसार चंद, रूप लाल, अजय कुमार, राजकुमार, नीटू कुमार, रमेश लाल सहित अन्य किसान शामिल हैं।

वहीं किसानों के साथ आग बुझाने में जुटे सरपंच राजेश शर्मा ने कहा कि किसान मंगलवार को बैसाखी पर्व मन रहे हैं कि हमारी फसल पक कर तैयार हो गई है अब कोई खतरा नही पर बिज़ली विभाग की लापरवाही के चलते बिजली की तारों से निकली चिंगारी से 40 कनाल फसल अग्नि भेंट चढ़ गई जिससे किसान टूट गए हैं। प्रशासन को मौका देखकर इन किसानों को मुआवजा देना चाहिए। वहीं नंबरदार सतपाल ने कहा कि किसानों को अभी तक धान की बर्बाद हुई फसल का मुआवजा नही मिला है और ऊपर से गेहूं की फसल भी जल कर रख हो गई है। किसान पहले ही टूट चुका था अब कर्जदार भी हो गया है। घटना की जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी बिश्नाह ताहिर यूसुफ मौके पर पहुंचे और आग लगने के कारणों की जांच शुरू कर दी। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.