सात साल में नहीं बनी 25 किमी सड़क, ठेकेदार की गिरफ्तारी के आदेश

सात साल में नहीं बनी 25 किमी सड़क, ठेकेदार की गिरफ्तारी के आदेश

गुलाबगढ़ से मचैल माता मंदिर तक 25 किलोमीटर सड़क का निर्माण कार्य सात साल से लटकाने वाले ठेकेदार पर प्रशासन का डंडा चल गया। उपायुक्त अशोक शर्मा ने संबंधित ठेकेदार की गिरफ्तारी के आदेश जारी कर दिए।

Publish Date:Thu, 21 Jan 2021 04:02 AM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, किश्तवाड़ : गुलाबगढ़ से मचैल माता मंदिर तक 25 किलोमीटर सड़क का निर्माण कार्य सात साल से लटकाने वाले ठेकेदार पर प्रशासन का डंडा चल गया। उपायुक्त अशोक शर्मा ने संबंधित ठेकेदार की गिरफ्तारी के आदेश जारी कर दिए। दरअसल, बुधवार को किश्तवाड़ से करीब 65 किमी. दृर गुलाबगढ़ पाडर में साप्ताहिक ब्लाक दिवस पर डीसी के दरबार में ग्रामीणों ने समस्याओं की बौछार कर दी।

मुख्य समस्याएं ये थीं : मचैल सड़क, कबन पंचायत में लटके विद्युतीकरण का कार्य, मचैल में पीएचसी की स्थापना, डंगेंल और हमौरी में पुल निर्माण, लाई में ट्रांसफार्मर, हंसवांर जल जलाशय का निर्माण, अफानी में बैंक शाखा का कार्य, करथई एचईपी के लिए अधिग्रहित भूमि के मुआवजे की दर में संशोधन, अठोली में पानी संकट, कुंडेंल, पोहाली पुल की मरम्मत, कबन में स्वास्थ्य केंद्र का काम तेजी से करने, गढ़ कुकरदान रोड का निर्माण शामिल। डीसी अशोक शर्मा ने कहा कि गुलाबगढ़ से मचैल माता मंदिर तक जाती सड़क का कार्य आधा भी नहीं हुआ है। जो हुआ है वह भी गुणवत्ता पूर्ण नहीं है। बार-बार निर्देश जारी करने के बावजूद ठेकेदार के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी। उन्होंने संबंधित ठेकेदार की गिरफ्तारी के निर्देश जारी कर दिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि जो ठेकेदार और एजेंसियां गुणवत्तापूर्ण कार्य नहीं कर रहीं या विकास कार्यों की गति में बाधा डाल रही हैं, के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

12 से अधिक गांव पड़ते हैं..

गुलाबगढ़ से मचैल के बीच 12 से अधिक गांव पड़ते हैं। यहां करीब 20 हजार से अधिक आबादी है। यहां के लोग कई वर्षो से सड़क की मांग कर रहे हैं। वार्षिक मचैल यात्रा के दौरान भी श्रद्धालुओं को कच्चे मार्ग से होकर मंदिर पहुंचना पड़ता है। यात्रा में लाखों श्रद्धालु दर्शन को आते हैं।

छूटे लोगों के नाम : वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार आयुष्मान भारत सेहत योजना में छूटे लोगों के नाम के मुद्दे पर डीसी ने कड़ा संज्ञान लिया। उन्होंने संबंधित तहसीलदार को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। डीसी ने पूर्ण और अंतिम सूची प्रदान करने के लिए कहा ताकि कोई भी योजना से छूटे। ब्लाक डेवलपमेंट काउंसिल के अध्यक्ष अर्पण राणा ने कहा कि जिले में कई विकास कार्य वर्षो से लटके हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.