Jammu Kashmir: JKRTC के बेड़े में शामिल हुई 226 नई बसें, ई-टिकटिंग की सेवा जल्द शुरू होगी

जम्मू कश्मीर सड़क परिवहन निगम (जेकेआरटीसी) की सभी संपत्तियों का राष्ट्रीय मुद्रीकरण नीति के मुताबिक मुद्रीकरण तंत्र तैयार किया जाएगा। इसके अलावा सभी लोकल बस सेवा के लिए ई-टिकटिंग की सेवा शुरु और उसे मोबाइल एप्लीकेशन से जाेड़ने का काम भी होगा।

Vikas AbrolThu, 29 Jul 2021 03:26 PM (IST)
एमडी जेकेआरटीसी ने निगम की प्रगति और उपलब्धियों पर विस्तृत प्रस्तुति दी।

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। जम्मू कश्मीर सड़क परिवहन निगम (जेकेआरटीसी) की सभी संपत्तियों का राष्ट्रीय मुद्रीकरण नीति के मुताबिक मुद्रीकरण तंत्र तैयार किया जाएगा। इसके अलावा सभी लोकल बस सेवा के लिए ई-टिकटिंग की सेवा शुरु और उसे मोबाइल एप्लीकेशन से जाेड़ने का काम भी होगा। चालकों और कंडक्टरों के कार्य प्रदर्शन के आंकलन की व्यवस्था भी तैयार की जाएगी। यह सभी निर्णय बुधवार को उपराज्यपाल मनाेज सिन्हा के सलाहकार राजीव राय भटनागर की अध्यक्षता मे हुई जेकेआरटीसी के निदेशक मंडल की 83वीं बैठक में लिए गए हैं।

संबधित अधिकारियों ने बताया कि जेकेआरटीसी के निदेशक मंडल की यहां नागरिक सचिवालय में हुई बैठक में मुख्य सचिव अरुण कुमार मेहता भी मौजूद थे। बैठक में आयुक्त सचिव परिवहन विभाग हृदेश कुमार, प्रबंध निदेशक जेकेआरटीसी अंग्रेज सिंह राणा, महानिदेशक बजट मोहम्मद याकूब इट्टु समेत अन्य संबधित प्रशासनिक अधिकारियों ने भाग लिया।

उपराज्यपाल के सलाहकार राजीव राय भटनागर ने बैठक को संबोधित करते हुए निगम में नवाचार और नई तकनीकों को लाने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने निगम को आम लोगो के फायदेमंद बनाने के साथ साथ इसे एक लाभ कमाने वाला वित्तीय रुप से समर्थ सार्वजनिक उपक्रम बनाने पर भी जोर दिया। उन्होंने अधिकारियों से निगम की सफलता के लिए एक उचित रोडमैप तैयार करने का आह्वान किया और प्रबंधन से एक ऐसा मॉडल अपनाने को कहा, जो राजस्व पैदा करने के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर में एक प्रभावी परिवहन प्रणाली स्थापित करने के मामले में संभव हो। उन्होंने निगम में कार्यरत ड्राइवरों और कंडक्टरों के प्रदर्शन मूल्यांकन के लिए एक तंत्र तैयार करने का भी निर्देश दिया। उन्होंने निगम के अधिकारियों को कुशल और किफायती परिवहन प्रणाली के लिए अन्य राज्यों के परिवहन नेटवर्क मॉडल काे अपनाने और नए बेड़े के उपयोग और प्रभावी संचालन पर भी जोर दिया।

मुख्य सचिव अरुण कुमार मेेहता ने निगम को पूरी तरह लाभजनक बनाने के लिए वित्तीय अनुशाासन को सुनिश्चित बनाने के अलावा इसके राजस्व में बढ़ौत्तरी के विभिन्न उपाय लागू करन पर भी जोर दिया।उन्होंने बसों के आवागमन के संबंध में सभी बस स्टेशनों पर समय सारिणी प्रदर्शित करने के लिए कहा ताकि जनता को बस यात्रियों को उनके समय को लेकर किसी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने बस अड्डो के प्रबंधन में शहरी निकायों की सेवाओं के इस्तेमाल पर जोर देते हुए इन स्थानों पर सार्वजनिक सुविधाएं भी सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने निगम की कार्यशालाओं के कामकाज की निगरानी पर जोर देते हुए ,राजस्व उत्पन्न करने के लिए निगम की सभी संपत्तियों के समुचित सदुपयोग का निर्देेश दिया।

मुख्य सचिव ने निगम में नवोन्मेष लाने की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए प्रबंधन को बेहतर सार्वजनिक सेवा वितरण के लिए निगम में नवीनतम तकनीकी हस्तक्षेप करने और मार्ग योजनाओं और समय सारिणी की जानकारी के साथ टिकट बुकिंग के लिए एक मोबाइल एप्लिकेशन विकसित करने का निर्देश दिया ताकि लोग आसानी से टिकट बुक कर सकें और आरटीसी की सेवाओं की ओर आकर्षित हो सकें।बैठक के दौरान, बोर्ड ने राष्ट्रीय मुद्रीकरण नीति के अनुसार निगम की संपत्ति के मुद्रीकरण के लिए एक तंत्र तैयार करने का निर्णय लिया।

बैठक के दौरान एमडी जेकेआरटीसी ने निगम की प्रगति और उपलब्धियों पर विस्तृत प्रस्तुति दी। उन्होंने बोर्ड को सूचित किया कि निगम ने वर्ष 2020-21 के दौरान 75.03 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया है जिसमें परिचालन राजस्व के रूप में 64.95 करोड़ रु. और गैर-परिचालन राजस्व के रूप में 10.08 करोड़ रूपये शामिल हैं। उन्होंने बताया कि निगम द्वारा 503 नए वाहन खरीदे गए हैं, जिसमें 277 ट्रक, 185 बसें और 41 एसी बसें शामिल हैं। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.