मतदान था आठ बजे, पहुंच गए एक घंटा पहले

धुंध के बीच उत्साह से लबरेज ध्यान चंद इस बार भी मतदान के लिए सोमवार सुबह सात बजे ही पोलिंग बूथ पर पहुंच गए। लेकिन वहां सूचना पट्ट पर मतदान का समय सुबह आठ से सायं बजे देख तो निराश हो गए। आठ बजे तक वहीं इंतजार किया। सबसे पहले मतदान किया और धुंध के साथ साथ निराशा भी छट गई। हालांकि चुनाव आयोग ने इसके बारे में प्रचार किया था, लेकिन ध्यान चंद की तरह कई लोग जागरूकता के अभाव में एक घंटा पहले सुबह सात बजे ही मतदान केंद्र पहुंच गए।

पच्छाद विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के दौरान मानगढ़ व शमलाठी-मझगांव पोलिग बूथ पर इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) बहुत धीरे काम रही थी, जबकि दोनों बूथ पर वीवीपैट को तकनीकी खराबी के चलते बदला गया। यहां 25 से 30 मिनट तक मतदान प्रभावित हुआ।

अतिरिक्त निर्वाचन विभाग की ओर से दी कई पर्ची के साथ अधिकतर मतदाता मतदान केंद्र पहुंचे। कई मतदाता वापस घर जाकर आई कार्ड लेकर आए, जबकि कुछ वोट करने ही नहीं आए। मतदाताओं ने कहा कि जब निर्वाचन विभाग ने उन्हें यह पर्ची दी है। जिसमें सारी जानकारी है, तो फिर इसे क्यों नहीं मान्य किया जा रहा है। सुबह आठ से नौ बजे तक केवल आठ प्रतिशत मतदान ही दर्ज हुआ था। जैसे-जैसे सूरज चढ़ता गया, वैसे-वैसे मतदान में तेजी आई। 2017 हुआ था 79.84 फीसद मतदान

विधानसभा चुनाव 2017 में जिला सिरमौर में 81.05 फीसद मतदान हुआ था। इसमें पच्छाद में 79.84 फीसद था। यहां 54,863 ने मताधिकार का प्रयोग किया। इनमें 28,827 पुरुष और 26,036 महिला मतदाता थे। यहां 68,715 मतदाता सूची में शामिल थे। दिव्यांगों के लिए विशेष बंदोबस्त

निर्वाचन विभाग की ओर से उपचुनाव में दिव्यांग मतदाताओं के लिए विशेष बंदोबस्त किए गए थे। जिन मतदान केंद्रों पर दिव्यांग मतदाता सूचीबद्ध थे वहां व्हीलचेयर का प्रबंध किया गया था। उन्हें व्हीलचेयर पर उठाकर मतदान केंद्र तक लाने व छोड़ने का भी बंदोबस्त था। मतदान केंद्र पर आंगनवाड़ी केंद्र बनाया गया, जिसमें मतदान करने आई महिलाओं के बच्चों को रखने की व्यवस्था थी। कुछ मतदान केंद्रों पर स्काउट एंड गाइड, एनसीसी व एनएसएस के सदस्यों ने पीने के पानी की व्यवस्था की। .......

पच्छाद विधानसभा क्षेत्र में भाजपा की विजय होगी। पच्छाद विधानसभा क्षेत्र भाजपा का था और भाजपा का ही रहेगा। डेढ़ वर्ष के कार्यकाल के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से पच्छाद के विकास के लिए करोड़ों की योजनाएं स्वीकृत करवाई है। क्षेत्र में 300 करोड़ के अधिक के विकास कार्य चल रहे हैं।

-सुरेश कश्यप, सांसद, शिमला।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.