39 करोड़ रुपये का पानी पी गए शहरवासी, नहीं कर रहे भुगतान

शहर में कई लोग ऐसे हैं जो वर्षो से पानी के बिल का भुगतान नहीं कर रहे हैं। करीब 39 करोड़ रुपये का बकाया लोगों के पास फंस गया है।

JagranFri, 03 Dec 2021 04:52 PM (IST)
39 करोड़ रुपये का पानी पी गए शहरवासी, नहीं कर रहे भुगतान

जागरण संवाददाता, शिमला : शहर में कई लोग ऐसे हैं जो वर्षो से पानी के बिल का भुगतान नहीं कर रहे हैं। ऐसे में शिमला जल प्रबंधन निगम लिमिटेड का लोगों के पास पानी के बिल का 39 करोड़ रुपये का बकाया लेने के लिए हो गया है। लोग पानी तो पी रहे हैं, लेकिन इसके बिल का भुगतान नहीं कर रहे हैं। शुक्रवार को शिमला जल प्रबंधन कंपनी के महाप्रबंधक आरके वर्मा ने पत्रकारों से बातचीत में दो टूक कहा कि लोगों ने जितने पानी का इस्तेमाल किया है उसका भुगतान करना ही पड़ेगा। 54 कनेक्शन धारकों के पास पांच लाख रुपये से ज्यादा का बिल बकाया है।

शहर को पानी की सप्लाई कर रही जल प्रबंधन कंपनी ने दावा किया है कि जो भी बिल ज्यादा बताए जा रहे हैं वे एरियर के साथ हैं। इसमें कई साल से पानी के बिल का भुगतान नहीं किया है। पानी के बिल में लोगों को आ रही समस्याओं को दूर करने के लिए कनिष्ठ अभियंताओं की अगुआई में विशेष टीमें गठित की हैं। टीमें फील्ड में जाकर लोगों की समस्याओं को सुनेंगी। एक ही दिन में मौके पर ही बिलों से जुड़ी लोगों की समस्याओं का निपटारा भी किया जाएगा। कंपनी के पास गलत रीडिग से लेकर पानी के भारी-भरकम बिल जेनरेट करने को लेकर शिकायतें पहुचती हैं। इससे लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

नगर निगम की मासिक बैठक में पानी के लाखों रुपये के बिल देने के मामले पर पार्षदों ने हंगामा किया था। इसके बाद कंपनी ने विशेष टीमों के गठन का फैसला लिया है। महाप्रबंधक आरके वर्मा ने कहा कि बालूगंज में जिस उपभोक्ता को लाखों रुपये का बिल दिया है उसने कई साल से पानी के लंबित एरियर का भुगतान नहीं किया है। इससे एरियर राशि भी बिल में जोड़ी गई है। उपभोक्ता जितना पानी का प्रयोग करेंगे उतना ही बिल लोगों को देना पड़ेगा। जल प्रबंधन कंपनी 90 फीसद बिल सही जेनरेट कर रही है और यदि कहीं पर कोई बिल गलत जेनरेट होता है तो लोग इसे दुरुस्त करवा सकते हैं। इस दौरान जल प्रबंधन कंपनी के बोर्ड आफ डायरेक्टर में आजाद निदेशक दिग्विजय सिंह भी मौजूद रहे। किस वर्ग के हैं शहर में पानी के उपभोक्ता

शहर में 11 हजार उपभोक्ता ऐसे हैं जिनका मासिक पानी का बिल 200 रुपये ही आता है। वहीं छह हजार उपभोक्ता ऐसे हैं, जिनका पानी का बिल 400 से 500 रुपये आता है। इनके अलावा अन्य उपभोक्ता भी हैं। शहर में 35650 पेयजल उपभोक्ता हैं। इनमें से 29 हजार पेयजल उपभोक्ताओं को पानी के बिल जारी कर दिए हैं। छह हजार के करीब ऐसे पेयजल उपभोक्ता हैं जिनका रिकार्ड ही नहीं मिल पा रहा है। बकाया राशि,कितने कनेक्शन

50 हजार से ज्यादा,269

5 लाख से ज्यादा,54

2 से 5 लाख के बीच,215

50 हजार से दो लाख,1829

10 से 50 हजार के बीच,5100

10 हजार तक,17 हजार

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.