स्विट्जरलैंड की कंपनी को भेजा 44.280 मीट्रिक टन सेब जूस

स्विट्जरलैंड की जीवौदान इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के साथ 112.320 मीट्रिक ट

JagranThu, 26 Aug 2021 08:01 PM (IST)
स्विट्जरलैंड की कंपनी को भेजा 44.280 मीट्रिक टन सेब जूस

राज्य ब्यूरो, शिमला : स्विट्जरलैंड की जीवौदान इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के साथ 112.320 मीट्रिक टन सेब जूस बिक्री के लिए अनुबंध किया गया है। अभी तक इस कंपनी को 44.280 मीट्रिक टन जूस भेजा जा चुका है। बागवानी उत्पाद विपणन एवं प्रसंस्करण निगम (एचपीएमसी) ने 100 फीसद प्राकृतिक सेब जूस का एक लीटर टैट्रा पैक बाजार में उतारा है।

एचपीएमसी ने अपने उत्पादों की बिक्री के लिए हरियाणा एग्रो इंडस्ट्रीज कारपोरेशन एवं वीटा के साथ एक समझौता किया है, जिसके तहत हरियाणा एग्रो इंडस्ट्रीज कारपोरेशन एक वर्ष के भीतर हरियाणा में दो हजार हर हित खुदरा स्टोर खोलगा, जिससे एचपीएमसी के उत्पादों की बिक्री में वृद्धि होगी। ये जानकारी बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने एचपीएमसी निदेशक मंडल की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि जिला मंडी के जड़ोल व शिमला के टिक्कर में एचपीएमसी की ओर से पेट्रोल पंप (किसान सेवा केंद्र) भी स्थापित किए जाएंगे। कृषि मंत्रालय के आर्थिक सहयोग से जिला किन्नौर को सेब विकास के लिए कलस्टर के रूप में विकसित किया जाएगा। इस कार्य पर 50 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसके तहत मृदा परीक्षण, पत्ता विश्लेषण, प्लांट हेल्थ क्लीनिक सुविधाएं स्थापित की जाएंगी।

उन्होंने कहा कि उत्पादन के तौर-तरीके जैसे उच्च घनत्व पौधारोपण, एकीकृत रोग कीट प्रबंधन जैसे कार्य किए जांएगे और फसल उत्पादन, पैकिग हाउस, प्रोसेसिंग इकाइयां स्थापित की जाएंगी। जिला मंडी के जड़ोल व जिला सोलन के जाबली में एचपीएमसी के उत्पादों की बिक्री के लिए विक्रय केंद्र बनाए जा रहे हैं। विश्व बैंक वित्त पोषित बागवानी परियोजना के अंर्तगत 266 करोड़ की लागत से 15 विकास कार्य किए जा रहे हैं। शिमला के पराला में निर्माणाधीन फल विधायन संयंत्र में मिनरल वाटर की बाटलिग के अतिरिक्त कागज, चिप्स, पशुचारा आदि तैयार करने के प्रयास किए जा रहे हैं। बैठक में निगम के उपाध्यक्ष राम सिंह, सचिव बागवानी अमिताभ अवस्थी, विशेष सचिव (वित्त) राकेश कंवर, प्रबंध निदेशक राजेश्वर गोयल आदि मौजूद रहे।

------

एचपीएमसी के उत्पाद राशन डिपो पर

अब एचपीएमसी के उत्पाद बिक्री के लिए हिमाचल प्रदेश राज्य एवं खाद्य आपूर्ति निगम की उचित मूल्यों की दुकानों पर भी उपलब्ध होंगे, जिसके लिए सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। सेब के लिए वर्ष 2021 में मंडी मध्यस्थता योजना के अंर्तगत निगम की ओर से 169 में से 160 क्रय केंद्र शुरू कर दिए हैं, जिनके माध्यम से अब तक 7787 मीट्रिक टन सेब की खरीद की गई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.