हिमाचल में पहली मई तक बंद रहेंगे शिक्षण संस्थान

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर। जागरण आर्काइव

हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सभी शिक्षण संस्थान अब पहली मई तक बंद रहेंगे। शिमला में सोमवार को कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में यह निर्णय लिया।

Vijay BhushanMon, 19 Apr 2021 09:26 PM (IST)

राज्य ब्यूरो, शिमला : हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सभी शिक्षण संस्थान अब पहली मई तक बंद रहेंगे। शिमला में सोमवार को कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में यह निर्णय लिया। इस दौरान स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ को भी अवकाश रहेगा। सभी विभागों के फील्ड के क्रियाशील स्टाफ के स्थानांतरण पर भी पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।

जयराम ठाकुर ने कहा कि उन्होंने हाल ही में तीन जिलों का दौरा कर कोविड-19 की स्थिति का जायजा लिया है। 22 अप्रैल को मंत्रिमंडल की बैठक में कुछ और महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे, ताकि संक्रमण को रोका जा सके। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अस्पतालों में बिस्तरों की क्षमता बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने ऑक्सीजन और मेडिकल स्टाफ की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित बनाने के लिए भी प्रभावी कदम उठाने के लिए कहा। नेरचौक मेडिकल कॉलेज, आइजीएमसी शिमला, जोनल अस्पताल धर्मशाला, टांडा मेडिकल कॉलेज, सुंदरनगर अस्पताल सहित कई अस्पतालों में बिस्तरों व ऑक्सीजन आपूॢत की क्षमता बढ़ाई जाएगी। जनसंख्या के अनुपात में प्रदेश टीकाकरण अभियान में देश में सातवें स्थान पर है।

बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सैजल, मुख्य सचिव अनिल खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान एवं जेसी शर्मा, स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक डा. निपुण जिंदल और आइजीएमसी शिमला के चिकित्सा अधीक्षक डा. जनक राज भी उपस्थित थे।

लोक सेवा आयोग ने स्थगित की परीक्षाएं

राज्य लोक सेवा आयोग ने इस महीने के अंत में होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है। इन परीक्षाओं की अगली तारीख जल्द घोषित की जाएगी। लोक सेवा आयोग के सचिव आशुतोष गर्ग ने बताया कि प्रदेश न्यायिक सेवा के तहत व्यक्तित्व परीक्षा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के तहत तहसील कल्याण अधिकारी व राज्य पथ परिवहन निगम में क्षेत्रीय तकनीकी प्रबंधक के पद के लिए 27 से 29 अप्रैल तक परीक्षाएं होनी थीं। इन सब परीक्षाओं को अगले आदेश तक टाल दिया गया है। आयोग ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह फैसला लिया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.