दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

घोषणाओं से काम नहीं चलेगा, सुविधाएं भी मुहैया करवाएं

घोषणाओं से काम नहीं चलेगा, सुविधाएं भी मुहैया करवाएं

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कोरोना से निप

JagranFri, 30 Apr 2021 07:37 PM (IST)

जागरण संवाददाता, शिमला : कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कोरोना से निपटने की लचर रणनीति का आरोप लगाकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि घोषणाओं से काम नहीं चलेगा, जिन 5000 बेड की व्यवस्था करने की बात कह रहे हैं, बताएं उनमें से कितने आक्सीजन युक्त हैं। कितने डाक्टर नियुक्त किए गए हैं, कौन उनका इंचार्ज है, उनके संपर्क नंबर क्या हैं। यह सारी जानकारी सार्वजनिक की जाए।

सुक्खू ने कहा कि कोरोना मरीजों के उचित उपचार के लिए कितना पैरा मेडिकल स्टाफ नए बेड के साथ लगाया गया है। उसकी जानकारी भी सार्वजनिक की जाए। प्रदेश के कोविड अस्पतालों में सबसे अधिक कमी पैरा मेडिकल स्टाफ की ही है। इस कमी को दूर करने के लिए नई भर्ती की जाए। भर्ती चाहे अस्थायी तौर पर क्यों न हो, लेकिन करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री यह भी बताएं कि प्रदेश के मेडिकल कॉलेज में आरटी-पीसीआर रिपोर्ट चार-चार दिन बाद क्यों आ रही है। क्या कोविड टेस्ट करने के लिए भी पर्याप्त स्टाफ उपलब्ध नहीं है। सुक्खू ने कहा कि सरकार की कथनी व करनी में काफी अंतर है। कागजों में लिए जा रहे निर्णय धरातल पर देरी से उतारे जा रहे हैं। बिगड़ते हालात पर काबू पाने में सरकार अब तक विफल रही है। कोविड अस्पतालों में मरीजों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है।

----------

सरकार व प्रशासन में तालमेल की कमी : राठौर

जागरण संवाददाता, शिमला : कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि सरकार का प्रशासन पर कोई भी नियंत्रण नहीं है। कोरोना महामारी के इस दौर में भी सरकार व प्रशासन के बीच कोई तालमेल नजर नहीं आ रहा। उन्होंने आरोप लगाया कि संक्रमित लोगों को अपने इलाज के लिए भटकना पड़ रहा है। अस्पतालों में कहीं बेड नहीं हैं तो कही आक्सीजन की व्यवस्था नहीं है।

यहां जारी बयान में राठौर ने बद्दी में शव को अंतिम संस्कार के लिए कूड़ा उठाने वाले ट्रैक्टर में ले जाने और पांगी में कोरोना संक्रमित मजदूरों को सुलभ शौचालय में रखने पर हैरानी प्रकट करते हुए कहा है कि यह सरकार और प्रशासन की संवेदनहीनता को साफ दर्शाता है। प्रदेश में आपदा या महामारी में हुई किसी की भी मृत्यु होने पर कम से कम अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी का खर्च सरकार को उठाना चाहिए। राठौर ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर चिंता प्रकट करते हुए लोगों से आह्वान किया है कि वे कोरोना से अपनी सुरक्षा के लिए नियमों का पूरा पालन करें। इस समय अनावश्यक इधर-उधर जाने से बचना चाहिए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.