कोरोना नियमों का पालन न करने वाले पर्यटकों से सख्ती से निपटें

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि

JagranFri, 09 Jul 2021 10:14 PM (IST)
कोरोना नियमों का पालन न करने वाले पर्यटकों से सख्ती से निपटें

जागरण टीम, शिमला/मंडी : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि यदि कोई पर्यटक कोरोना नियमों की अवेहलना करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्ती से निपटा जाए। पर्यटन स्थलों पर कोरोना से बचाव के नियमों का कड़ाई से पालन करवाया जाए। खासकर शिमला, कुल्लू, लाहुल-स्पीति और मंडी जिलों को सतर्क होने की जरूरत है, जहां ज्यादा सैलानी पहुंच रहे हैं।

यह आदेश उन्होंने शुक्रवार को शिमला में उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से वर्चुअल बैठक के जरिये कोरोना महामारी की समीक्षा बैठक में दिए। लाहुल स्पीति के उपायुक्त शिमला पहुंचकर बैठक में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस महामारी के प्रसार को फैलने से रोकने के लिए पर्यटकों से सख्ती से नियमों का पालन सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि निर्बाध आवाजाही की अनुमति देने से बड़ी संख्या में पर्यटक प्रदेश में आ रहे हैं। हालांकि प्रदेश पर्यटकों का स्वागत करता है, लेकिन सरकार यह भी सुनिश्चित कर रही है कि कोई भी पर्यटक कोविड-19 के तहत जारी मानक संचालन प्रक्रियाओं का उल्लंघन ने करे। उन्होंने जिला प्रशासन को नियमों का पालन न करने वाले पर्यटकों पर नजर रखने और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के भी निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि मुख्य पर्यटन स्थल जैसे शिमला, मनाली, धर्मशाला आदि बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित कर रहे हैं। उन्होंने होटल व्यवयासियों, ट्रैवल एजेंटों और होम स्टे के मालिकों ेसे कहा कि वह भी पर्यटकों कोरोना की रोकथाम में सहयोग करने के लिए प्रेरित करें। जिन पर्यटकों के पास मास्क नहीं हैं उन्हें मास्क प्रदान करने के कार्य में गैर सरकारी संगठनों को सम्मिलित किया जाएगा। पुलिस को ऐसे स्थल चिह्नित करने चाहिए, जहां पर्यटकों की आमद अधिक है। ऐसे स्थलों में विशेष पुलिस तैनात की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि राज्य में निर्मित होने वाले मातृ शिशु अस्पतालों का कार्य निर्धारित समय में पूरा कर लिया जाएगा। कोविड-19 की कांटेक्ट ट्रेसिग पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। राज्य में आठ पीएसए ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किए गए हैं और 28 अतिरिक्त पीएसए संयंत्र शीघ्री स्थापित कर दिए जाएंगे।

कोविड की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए परीक्षण क्षमता में वृद्धि के अलावा अस्पताल में दाखिल होने पर मरीजों की देखभाल सुविधा में सुधार किए जाने चाहिए। आइसीयू सुविधाओं को मजबूत बनाने के अतिरिक्त उपकरणों की खरीद सुनिश्चित की जा रही है। लाहुल स्पीति, मंडी व कांगड़ा के डीसी शिमला में थे मौजूद

उपायुक्तों ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि पर्यटकों और आम जनता को कोरोना से बचाव के लिए जागरूक करने के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। इस दौरान अतिरिक्त मुख्य सचिव जेसी शर्मा, जिला मंडी, कांगड़ा व लाहुल स्पीति के उपायुक्त शिमला में उपस्थित थे। अन्य जिलों के उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों ने संबंधित जिलों से वर्चुअल माध्यम से बैठक में भाग लिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.